• Hindi News
  • National
  • शराब का विरोध किया तो महिला को बताया डायन; थानेदार पहुंचे महिला के घर भोजन करके कहा यह डायन है तो प

शराब का विरोध किया तो महिला को बताया डायन; थानेदार पहुंचे महिला के घर भोजन करके कहा- यह डायन है तो पहले मैं मरूंगा

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
यहकहानी है शराब और जुए जैसी बुराइयों के खिलाफ अकेले दम लड़ने वाली 55 साल की आदिवासी महिला सालगो बेसरा की। मामला झारखंड के चाइबासा जिले का है। सालगे गुड़ाबांदा थाना क्षेत्र के वर्षाडीह टोला की रहने वाली हैं। लंबे समय से उन्होंने शराब और जुए के खिलाफ जंग छेड़ रखी है। गांव के दबंगों को ये बात क्यों रास आती। साजिश रची और सालगो को डायन बताना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे गांव के ज्यादातर लोग उन्हें डायन कहने लगे। इतना ही नहीं गांव छोड़ने का फरमान भी जारी कर दिया। सालगो फिर भी डटी रहीं।

हद तो तब हो गई जब दबंगों ने सालगो के पति गोरा बेसरा को भी अपनी तरफ कर लिया। जब पति भी गांव वालोंं की भाषा बोलने लगा, तो महिला टूट गई। दो माह से डायन का आरोप झेल रही सालगो शनिवार को थाने पहुंच गई। थाना प्रभारी ने कहा, अभी एफआईआर नहीं करूंगा। पहले गांव चलता हूं। थाना प्रभारी कुलदीप कुमार केस दर्ज करने की खानापूर्ति के बदले सालगो को लेकर उनके घर पहुंचे।

गांव वालों को बुलाया और उनके सामने सालगो के घर में बना खाना खाया और पानी पिया। फिर गांव के लोगाें को कहा कि ‘अगर यह महिला डायन है, तो सबसे पहले मैं मरूंगा।’

साथ ही लोगों को समझाया कि किसी को डायन मानना महज अंधविश्वास है। इसके साथ ही कुलदीप ने गांव के लोगों को चेतावनी देते हुए कहा कि ‘अगर सालगो को प्रताड़ित किया तो किसी को छाेड़ूंगा नहीं।’ उल्लेखनीय है कि झारखंड मेंं आदिवासी महिलाओंं को डायन कहकर उन्हें प्रताड़ित करने के मामले लगातार आते रहते हैं। ज्यादातर मामलों में तो ऐसी महिलाओं की हत्या तक कर दी जाती है। अभी 16 सितंबर को गुड़ाबांदा थाना क्षेत्र में ही भालकी के रमाटांडी टोला में एक युवक ने चार लोगों के साथ मिलकर चाची और चचेरी बहन को डायन बताकर हत्या कर दी थी।

सालगो के घर पर उन्हीं के साथ खाट पर बैठे थाना प्रभारी।

लोग कहते सालगो के कारण गांव में बाघ-भालू रहे

गांववाले कहते कि सालगो के कारण गांव में बाघ-भालू रहे हैं। वह बाघ और भालू बनकर लोगाें को सता रही है। बच्चे बीमार पड़ रहे हैं। मानसून के दौरान दर्जनों बच्चे बीमार पड़े तो लोग और पीछे पड़ गए।

खबरें और भी हैं...