पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • भाजपा की सरकार निर्णय लेते समय डरती नहीं : शाह

भाजपा की सरकार निर्णय लेते समय डरती नहीं : शाह

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
तीनदिवसीय दौरे पर जयपुर पहुंचे भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भाजपा कार्यालय में पहुंचने के बाद लाइब्रेरी और लाइब्रेरी का उद्घाटन किया। इसके बाद मंत्रीमंडल, विधायक, पार्टी पदाधिकारी, आयोग अध्यक्ष, प्रकल्प विभाग प्रमुखों की बैठक ली। शाम को बिडला सभागार में प्रबुद्धजन सम्मेलन को संबोधित किया। सम्मेलन में शाह ने भाजपा और दूसरी पार्टियों के आंतरिक लोकतंत्र, सिद्धांत और उन पार्टियों की सरकारों के कामकाज पर विस्तार से चर्चा की। शाह ने कहा कि भाजपा की एक ऐसी पार्टी है जिसमें आंतरिक लोकतंत्र कायम है। उन्होंने कहा कि यह किसी को पता नहीं है कि मेरे बाद पार्टी का अध्यक्ष कौन होगा। लेकिन यह सबको पता है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बाद इस पार्टी का अध्यक्ष कौन होगा। कांग्रेस के साथ साथ बसपा, सपा, आरजेडी जैसी पार्टियों में तय है कि बाप के बाद बेटा या बेटी अध्यक्ष बनेगी। शाह ने कांग्रेस को आडे हाथों लेते हुए कहा कि यहां घरानों की पोलिटिक्स होती है। अपने बेटे-बेटी को मुख्यमंत्री बनाने के पैंतरे चलती है चाहे वह योग्य हो या नहीं हो। दिल्ली दरबार में जो नतमस्तक रहते हैं, उनको मिलने का अपॉइंटमेंट नहीं मिलता। ऐसे लोगों को अगर सीएम बनाते हो तो राजस्थान का विकास नहीं हो सकता।

इस दौरान शाह ने केंद्र की योजनाओं पर भी प्रकाश डाला। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि जब हमने दिसंबर 2013 में सत्ता संभाली थी तब 2 लाख करोड़ का कर्जा था। इसमें से 80 हजार करोड़ का कर्जा तो केवल बिजली कंपनी पर था। राजस्थान बीमारू राज्य की श्रेणी में आता था। लेकिन हमने मेहनत करके नए राजस्थान का निर्माण किया और प्रदेश के बीमारू राज्य की श्रेणी से बाहर लेकर आए। कार्यक्रम में प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी, सांसद ओम माथुर, सांसद भूपेंद्र यादव, प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, सह संगठन महामंत्री वी. सतीश, केंद्रीय मंत्री, राज्य सरकार के मंत्री सहित बडी संख्या में पार्टी के पदाधिकारी और प्रदेशभर से आए प्रबुद्ध जन मौजूद थे।

तीन दिन के दौरे पर जयपुर आए शाह, कांग्रेस के साथ बसपा, सपा और आरजेडी पर साधा निशाना साधा

खबरें और भी हैं...