• Hindi News
  • National
  • नशामुक्ति के लिए युवाओं की जागरूकता पर दिया जोर

नशामुक्ति के लिए युवाओं की जागरूकता पर दिया जोर

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजकीयपीजी कॉलेज में राष्ट्रीय सेवा योजना के सात दिवसीय विशेष शिविर के तहत बुधवार को नशामुक्ति, लैंगिग संवेदना योग पर व्याख्यान हुए। योगाचार्य पूरण चितारा ने योग, पूजा छाबड़ा, ने नशामुक्ति और श्रद्धा सोरल ने लैंगिग संवेदना पर व्याख्यान दिए। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. उदयसिंह मीणा ने की।

योगाचार्य पूरण चितारा ने कहा कि योग की उपज भारत से हुई और अब पूरी दुनिया इसको अपना रही है। उन्होंने योग करने के विभिन्न तरीके बताए तथा शरीर की स्वस्थता के लिए विभिन्न आसानों को नियमित करने की विद्यार्थियों को सलाह दी। मुख्य वक्ता पूजा छाबड़ा ने नशा मुक्ति पर व्याख्यान देते हुए बताया कि गुरूशरण छाबड़ा ने जीवन पर्यंत नशामुक्ति के लिए संघर्ष किया। अनशन आंदोलन के माध्यम से राजस्थान में नशा मुक्ति आंदोलन चलाया और बलिदान दिया। उन्होंने कहा कि नशे से परिवार, समाज एवं राष्ट्र का पतन होता है। गर्ल्स कॉलेज की व्याख्याता श्रद्धा सोरल ने समूह चर्चा के माध्यम से समाज में व्याप्त लैंगिग असमानता पर चर्चा की। मंच संचालन गगन सोलंकी ने किया। इससे पूर्व स्वयंसेवकों ने वाणिज्य संकाय के पीछे श्रमदान किया। इस मौके कार्यक्रम अधिकारी डॉ. रीना श्रीवास्तव, डॉ. मीना जैन, डॉ. सुरेश कुमार, छात्रसंघ अध्यक्ष गोपाल माली, उपाध्यक्ष कैलाश कुमार आदि मौजूद रहे।

सिरोही. नशा मुक्ति विषय पर कॉलेज में व्याख्यान का आयोजन किया गया।

खबरें और भी हैं...