• Hindi News
  • National
  • वीरांगनाओं के परिजनों का सरकार करेगी सम्मान, समस्याएं भी होगी दूर

वीरांगनाओं के परिजनों का सरकार करेगी सम्मान, समस्याएं भी होगी दूर

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
वतनकी रखवाली में सरहद पर प्राण न्यौछावर करने वाले वीर सपूतों की शहादत का स्मरण करते हुए राज्य सरकार अब वीरांगनाओं के घर-घर पहुंचकर हाल चाल जानेगी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर पहली बार गठित राज्य सैनिक कल्याण सलाहकार समिति के अध्यक्ष प्रेमसिंह बाजौर ने इस दिशा में जिलेवार सैनिक सम्मान यात्रा निकालना भी शुरू कर दिया है। शहीदों के शौर्य पराक्रम को अक्षुण्य बनाने तथा वीरांगनाओं का घर पहुंचकर सम्मान करने के साथ ही उनकी समस्याओं की सुनवाई करने के लिए राज्य सरकार ने यह अनूठी प्रेरणादायी पहल की है। गौरतलब है कि सैनिक कल्याण सलाहकार समित के प्रस्ताव पर प्रदेश में करीब 15 करोड़ की लागत से 1100 शहीदों की प्रतिमाएं लगवाने तथा शहीद परिवार के एक-एक सदस्य को नौकरी देने का राज्य सरकार जल्दी ही निर्णय ले सकती है।

यदि ऐसा हुआ तो जिले में भी वीर सपूतों की प्रतिमाएं लगेंगी। उल्लेखनीय है कि गणतंत्र स्वतंत्रता दिवस पर प्रशासन द्वारा वीरांगनाओं को बुलाया तो जाता है, मगर उनकी परेशानियों को कोई नहीं सुनता है। कई वीरांगनाओं को सरकार से मिलने वाली सुविधाओं का पूरा लाभ नहीं मिल रहा है।

खबरें और भी हैं...