पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सरपंच साथी रातभर युवक को बेरहमी से पीटते रहे थे, दम टूटा तो हाथ पांव फूले

सरपंच साथी रातभर युवक को बेरहमी से पीटते रहे थे, दम टूटा तो हाथ-पांव फूले

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
खारड़ीगांव में कोट किराणा गांव के सत्यनारायणसिंह उर्फ बलवीर रावत की नृशंस हत्या के मुख्य आरोपी जाडन सरपंच महिपालसिंह खारड़ी उसके मौसेरा भाई रवींद्रसिंह को सोजतरोड़ पुलिस ने सोमवार को कोर्ट में पेश कर चार दिन के रिमांड पर लिया है। रिमांड के दौरान दोनों आरोपियों ने 12 जनवरी की रात को युवक से जिस बेरहमी से मारपीट करने का जो घटनाक्रम कबूल किया है। उसे सुन कर ही आम आदमी की भी रूह कांप जाए। मना करने के बाद भी गांव की युवती से मिलने आने से आरोपी इस कदर आग बबूला थे कि वे रातभर बारी-बारी से उसके साथ पशुओं की तरह पिटाई करते रहे। आरोपी सरपंच शराब के नशे में इस कदर डूबा हुआ था कि वह खुद भी युवक को पिटता रहा और वहां मौजूद उसके साथियों द्वारा पिटाई पर वह मुस्कुराता रहता था। मगर जब अलसुबह युवक ने दम तोड़ दिया तो इन सभी आरोपियों के हाथ-पांव फूल गए। इसके बाद सरपंच अपने मौसेरे भाई के साथ स्कार्पियो लेकर फरार हो गए, जबकि बाकी के आरोपी भी अपने-अपने ठिकाने पर भाग गए थे।

सोजतरोड एसएचओ भूटाराम विश्नोई ने बताया कि इस हत्याकांड में शामिल 10 आरोपियों को पुलिस ने पूर्व में गिरफ्तार कर कोर्ट के आदेश पर जेल में पहुंचा दिया है, जिन्होंने भी 12 जनवरी की रात से लेकर 13 जनवरी की रात को युवक की हत्या शव को ठिकाने लगाने का पूरा घटनाक्रम पुलिस के सामने बताया था। रविवार रात को हत्याकांड में फरार चल रहे आरोपी जाडन सरपंच महिपालसिंह उसके मौसेरे भाई रवींद्रसिंह निवासी चौहटन, बाड़मेर को गिरफ्तार किया गया, जिन्हें 9 फरवरी तक रिमांड पर लिया गया है। इन दोनों आरोपियों से भी पूछताछ 12 जनवरी की रात को बलवीर उर्फ सत्यनारायण सिंह एक युवती से मिलने के लिए बाइक लेकर खारड़ी गांव में आया था। शेष|पेज12



उससमय मदनलाल घांची के मकान के बाहर अवैध रुप से पानी का कनेक्शन कर रहे मदनलाल घांची, कैलाश सरगरा, भूंडाराम मेघवाल, सोहनलाल मेघवाल, प्रकाश मेघवाल, दिलीपसिंह उर्फ तारू, रवींद्रसिंह, जबरपुरी, गिरधारी नगेंद्र नाम के 17 वर्षीय किशोर ने बाइक समेत युवक बलवीर उर्फ सत्यनारायण को पकड़ लिया। इन्हीं लोगों ने फोन कर सरपंच को युवक के गांव में आने उसे पकड़ने की बात कही, जिसके बाद सरपंच उसका मौसेरा भाई रवींद्रसिंह स्कार्पियो लेकर वहां आए, जो अन्य आरोपियों के साथ युवक को गाड़ी में डाल कर अपने फार्म हाऊस (बापी) में ले गए। जहां आरोपियों ने शराब के नशे में बलवीर के कपड़े फाड़ कर नग्न किया। नीम के पेड़ की गीली टहनियों के साथ लातों, मुक्कों से उससे मारपीट की। बेहोशी की हालत में फिर से गाड़ी में डालकर उसे सिनला निवासी जसवंतसिहं के फार्म हाउस पर ले गए। वहां भी आरोपियों का मन नहीं पसीजा और सभी ने बलवीर के नग्न बदन पर चमड़े के बेल्ट, प्लास्टिक के पाइप, सूत की रस्सी को भिगोकर लकड़ी के डंडे से भी अंधाधुंध मारपीट की। आरोपियों ने बोतल में यूरीन (मूत्र) डाल कर घायल बलवीर को पिलाया। और तो और आरोपियों ने बलवीर के प्राइवेट पार्ट में हरी लाल मिर्ची का पाउडर बैंगन डालकर अमानवीय कृत्य किया। इससे अलसुबह बलवीर की अत्यधिक मारपीट से मौत हो गई, जिसके बाद दिनभर आरोपी शव को स्कार्पियो में डाल कर घूमते रहे। 13 जनवरी को आरोपियों ने शव को काली घाटी में ले जाकर ठिकाने लगा दिया।

वकालात की पढ़ाई कर रहा है आरोपी रविंद्र

हत्याकांड में शामिल आरोपी रवींद्रसिंह बाड़मेर जिले के चौहटन का रहने वाला है, जो उदयपुर में एलएलबी (वकालात) की पढ़ाई कर रहा है। एलएलबी सैकंड सेमेस्टर का स्टूडेंट रवींद्रसिंह खारड़ी गांव में अपने मौसेरे भाई जाडन सरपंच महिपालसिंह के साथ ही रहता है। हत्याकांड का खुलासा होने के बाद आरोपी रवींद्रसिंह भी सरपंच के साथ वहां से भाग गया। पुलिस द्वारा परिजनों रिश्तेदारों पर लगातार दबाव बनाने के बाद रविवार रात को दोनों आरोपियों ने सदर थाने में पहुंच सरेंडर कर दिया।

खबरें और भी हैं...