• Hindi News
  • National
  • जिन्हें दी बाइक सवारों को हेलमेट पहनाने की जिम्मेदारी, वे ही जुट गए जबरन चौथ वसूली में

जिन्हें दी बाइक सवारों को हेलमेट पहनाने की जिम्मेदारी, वे ही जुट गए जबरन चौथ वसूली में

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
6 माह में सड़क पर 232 मौतें

भास्कर ने एसपी दीपक भार्गव से शेयर किया वीडियो, आरोपी हैड कांस्टेबल ट्रैफिक सिपाही निलंबित, 6 को दूसरी जगह भेजा

भास्कर संवाददाता | पाली

गैंगस्टरआनंदपाल का एनकाउंटर करने पर राज्य के गृहमंत्री पुलिस की पीठ थपथपा रहे हैं। वे पुलिस का इकबाल बुलंद कर आमलोगों से भी अपराधियों के खिलाफ खड़े होने की अपील कर रहे हैं। मगर पाली जिले में कुछ पुलिसकर्मी ऐसे भी हैं, जिन्हें हेलमेट के लिए समझाइश कार्रवाई कर लोगों की जान बचाने की जिम्मेदारी दी गई और वे वसूली में जुट गए। एसपी ने जिले में रोड सेफ्टी अभियान शुरू कर हाईवे से लेकर संपर्क सड़कों तक पुलिस दल खड़े किए हैं। इनको जिम्मेदारी दी है कि बिना हेलमेट बाइक चालकों से समझाइश करे। मठ टोल प्लाजा पर पुलिस लाइन से हैडकांस्टेबल भगवानसिंह के साथ सात कांस्टेबल को 1 जुलाई से तैनात किया गया है। इनके साथ ट्रैफिक पुलिस शेष|पेज16

कांस्टेबलनरेश सेन को भी लगाया गया। सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में साफ दिख रहा है कि भगवानसिंह नरेश सेन के साथ अन्य पुलिसकर्मी बिना हेलमेट बाइक लेकर आने-जाने वाले चालकों को रुकवा रहे हैं। हेलमेट नहीं पहनने पर हैडकांस्टेबल बाइक चालकों को काफी खरी-खोटी सुनाते हैं। इसके बाद हैडकांस्टेबल दो बाइक चालक को उनके पीछे खड़े ट्रैफिक कांस्टेबल नरेश के पास भेज कर रुपए देने का इशारा करते हैं। दोनों बाइक चालक रुपए देकर वहां से रवाना हो जाते हैं।

भष्ट्राचारकी ऐसी लत... एएसआई में पदोन्नति रुकी, कई बार लाइन हाजिर फिर भी वसूली

-पांच साल पहले औद्योगिक थाने में हैडकांस्टेबल रहते हुए आरोपी भगवानसिंह को थाने में मालखाने का चार्ज दिया गया। आरोप है कि उसने एक व्यक्ति की ओर से थाने के मालखाने में जमा कराई बंदूक को बेच दी। शिकायत पर उसे निलंबित किया। इस मामले की जांच अब भी पेंडिंग है।

- पांच साल पहले लाइन में रहते हुए उसे मोबाइल फ्लाइंग दल में रात्रि गश्त में लगाया गया। रात के समय ट्रैक्टर अन्य वाहन चालकों से अवैध वसूली की शिकायत पर उसे फिर लाइन में भेजा गया।

- चार साल पहले कोतवाली में अस्थाई तौर पर नियुक्ति मिली। लकड़ी से भरे ट्रैक्टर चालकों से अवैध वसूली के आरोप लगे। फिर लाइन हाजिर।

- डेढ़ साल पहले सुमेरपुर थाने भेजा यहां एक पीडि़त व्यक्ति की शिकायत पर कार्रवाई करने के बजाय उसकी पिटाई अवैध वसूली की शिकायत आई तो वापस लाइन पहुंचा।

..........................

निलंबन के साथ ही दोनों के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए

^जिलेमें बीते छह माह में 232 लोगों की मौत हुई, जिनमें से 70 फीसदी से ज्यादा वो बाइक चालक थे, जिन्होंने हेलमेट नहीं पहना था। इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए रोड सेफ्टी अभियान शुरू किया मठ टोल प्लाजा पर चालकों से अवैध वसूली का जो मामला सामने आया वह अत्यंत गंभीर घोर आपराधिक कृत्य है। आरोपी हैडकांस्टेबल कांस्टेबल को निलंबित कर दिया। विभागीय जांच के भी आदेश दिए हैं। -दीपकभार्गव, एसपी

इसलिए भेजा था हाईवे पर- इससाल 6 माह में सड़क हादसों में मरे 232 लोग, 170 थे बिना हेलमेट बाइक सवार

इससाल जून माह तक पाली जिले में सड़क हादसों में 232 लोगों की जान गई। इनमें से 170 लोग बाइक चालक थे। उन्होंने यदि हेलमेट पहना होता तो संभवत: उनकी जान बच जाती। इन हादसों में कमी लाने के लिए एसपी दीपक भार्गव ने हाईवे पर पुलिस की विशेष टीम गठित की थी।

लेकिन...सरे आम करने लगे वसूली, रुपए लेकर छोड़ा, नहीं देने वालों पर कार्रवाई

पाली-सोजतमार्ग पर मठ टोल प्लाजा पर पुलिस लाइन में बैठे हैडकांस्टेबल के साथ सात अन्य पुलिसकर्मियों को तैनात किया, उन्होंने ही सरेआम वसूली शुरू कर दी। जिन्होंने रुपए दिए उन्हें छोड़ा और बाकी से बदसलूकी के साथ की कार्रवाई।

जनता ने वीडियो बना सोशल मीडिया पर वायरल किया

दोनोंपुलिसकर्मी निलंबित, बाकी को भी हटाया

सोशलमीडिया पर बाइक चालकों से अवैध वसूली का मामला सामने आने के बाद एसपी ने आरोपी हैडकांस्टेबल भगवानसिंह ट्रैफिक कांस्टेबल नरेश कुमार सेन को निलंबित कर दिया। उनके साथ मठ टोल प्लाजा पर तैनात बाकी के छह कांस्टेबल को भी वहां से हटा दिया।

पाली. मठ स्थित टोल प्लाजा पर वसूली करता ट्रैफिक पुलिसकर्मी, दूसरा बाइक सवार अपना नंबर आने के इंतजार में। फोटो|भास्कर

खबरें और भी हैं...