• Hindi News
  • National
  • मारपीट की घटना के विरोध में चिकित्सकों और नर्सिंगकर्मियों ने किया कार्य बहिष्कार

मारपीट की घटना के विरोध में चिकित्सकों और नर्सिंगकर्मियों ने किया कार्य बहिष्कार

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सरकारीअस्पताल में गुरुवार रात को मेल नर्स विनोद कुमार के साथ हुई मारपीट के विरोध में शुक्रवार को चिकित्सकों नर्सिंगकर्मियों ने सुबह दो घंटे कार्य बहिष्कार कर विरोध-प्रदर्शन किया।

चिकित्सकों नर्सिंगकर्मियों ने नारेबाजी कर विरोध जताया मांगों को लेकर पीएमओ डॉ. एनके प्रधान को ज्ञापन दिया। चिकित्सकों के दो घंटे कार्य बहिष्कार के चलते अस्पताल पहुंचे रोगियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ एकीकृत जिलाध्यक्ष राजेश गौड़ के नेतृत्व में दिए गए ज्ञापन में अस्पताल में पुलिस चौकी की स्थापना, आपातकालीन स्थिति में साईरन, इंटरकॉम माईक, अस्पताल के सभी प्रवेश द्वारों को मजबूत बनाने, सुरक्षाकर्मी तैनात करने, भूतपूर्व सैनिकों को अस्पताल प्रशासन में सुरक्षाकर्मी लगाने, एक मरीज के साथ एक ही परिजन को टोकन व्यवस्था से प्रवेश देने, सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था को मजबूत करने, मुख्यमंत्री दवा केंद्रो में फार्मासिस्ट मेल नर्स की व्यवस्था करने, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी और लगवाने, गुरुवार को मारपीट के प्रकरण के सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने आदि मांगों का उल्लेख किया गया। नर्सिंग कर्मचारियों ने पीएमओ से एक सप्ताह में मांगें नहीं माने जाने पर आंदोलन की चेतावनी दी। इस दौरान राजस्थान नर्सेज यूनियन जिलाध्यक्ष बजरंगलाल वर्मा, संयोजक महेश ओझा, चिकित्सक संघ जिलाध्यक्ष डाॅ. महेश वर्मा, डाॅ. नरेंद्र राठौड़, डाॅ. दिलीप सोनी, डाॅ. पुरुषोतम करवा, डाॅ. हैदरअली, डाॅ. महेंद्र डूकिया, डाॅ. एसएल माहिच, डाॅ. राजेंद्र टंडन आिद मौज्ूद थे।

सुजानगढ़. कार्य बहिष्कार के दौरान प्रदर्शन करते चिकित्सक एवं नर्सिंगकर्मी

खबरें और भी हैं...