• Hindi News
  • National
  • रात 8.30 बजे निकलेगा चांद, पहाड़ों के कारण 30 मिनट देरी से दिखेगा सुमेरपुर में

रात 8.30 बजे निकलेगा चांद, पहाड़ों के कारण 30 मिनट देरी से दिखेगा सुमेरपुर में

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पति की दीर्घायु की कामना को लेकर सुहागिनें आज रखेगी निर्जल व्रत, पूर्व संध्या पर बाजारों में रही रौनक

भास्करन्यूज | सुमेरपुर

सुहागनमहिलाएं अपने पति की लंबी उमर के लिए रविवार को करवा चौथ का व्रत रखेगी। करवा चौथ का व्रत रखने वाली महिलाओं को इस बार चंद्र पूजा के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। इस बार चंद्रोदय रात करीब 8.30 बजे हो सकता है। पिछले वर्ष रात 8.59 बजे की तुलना में करीब आधा घंटे कम है। शरद पूर्णिमा के तीन दिन बाद रविवार को करवा चौथ पर महिलाएं व्रत रखेंगी। पंडित महेश शर्मा के अनुसार इस बार पूर्णिमा के तीन दिन बाद करवा चौथ होने की वजह से चंद्रोदय रात 8.30 हो जाएगा, क्योंकि पूर्णिमा के दिन के बाद हर दिन चंद्र उदय 45 मिनट बाद होता है। ऐसे में अगर गुरुवार को चंद्रमा शाम लगभग 6.14 बजे उदय हुआ तो रविवार को 8.30 बजे उदित होगा।

सिरोही| पतिप|ी के बीच अटूट बंधन और प्रेम के प्रतीक करवा चौथ पर्व को लेकर शनिवार को महिलाओं ने खरीदारी की। यह व्रत रविवार को है। सवेरे से महिलाएं निर्जला रहकर यह व्रत रखेंगी और फिर रात को चांद दिखाई देने पर ही व्रत खोलेंगी। हालांकि सिरोही में चांद रात करीब 8.35 बजे उदय होगा, लेकिन चारों ओर ऊंची पहाडिय़ां होने के कारण यह देरी से दिखाई देगा। दरअसल, सिरोही में चांद बाहरीघाटा और टांकरियां की पहाडिय़ों के कारण पीछे ढक जाता है और रात करीब नौ बजे के बाद ही दिखाई देता है। 8.35 बजे उदय के बाद यह शहर में करीब नौ बजकर 20 मिनिट पर दिखाई देगा। इसके दर्शन के बाद ही सुहागिनें व्रत खोलेंगी।

वहीं इस बार बाजार में व्रत के दौरान पूजा अर्चना के लिए करवों के साथ पूजा की थाली छलनी भी आकर्षक सजावट के साथ बिक रही है। करवा चौथ की पूर्व संध्या पर गिफ्ट आइटम के अलावा ज्वैलरी, साड़ी आदि दुकानों पर महिलाओं की भीड़ रही। वैसे फ्रेंडशिप डे, वेलेंटाइन डे जैसे विदेशी पर्वों पर बड़ी संख्या में युवक-युवतियां बाजार में गिफ्ट आइटम की खरीदी करते हैं।

लेकिन पिछले कुछ सालों से सिरोही में भी विवाहित महिला-पुरुषों में एक-दूसरे को गिफ्ट आइटम देने का चलन बढ़ता जा रहा है। इसमें आर्टिफिशियल ज्वैलरी, हैंड पर्स, बैग, राधाकृष्ण की मूर्ति, स्टे चू, चूड़ी, कंगन, डीओ, रिंग और अन्य कास्मेटिक सामग्री आदि शामिल हैं। वहीं आकर्षक साडिय़ों, पूजा पाठ के बर्तन जैसे मिट्टी, पीतल और अन्य धातुओं से बने करवा आदि की भी खूब बिक्री हो रही है।

नवविवाहिताओं में खासा उत्साह : नवविवाहिताओंमें शादी के बाद ससुराल में पहली बार पड़ने वाले इस व्रत को लेकर खासा उत्साह है। करवा चौथ को लेकर सुहागिनों ने एक से बढकर एक रंग-बिरंगे करवों की बड़े पैमाने पर खरीदारी की। वहीं सुहागिनों ने चुडियों एवं श्रृंगार की वस्तुओं की भी जमकर खरीदारी की।

सिरोही. करवा चौथ की सामग्री खरीदती महिलाएं। फोटो| भास्कर

खबरें और भी हैं...