पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • बीसलपुर की बाईं नहर में आज शाम छोडेंगे नीर

बीसलपुर की बाईं नहर में आज शाम छोडेंगे नीर

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
टोडारायसिंह| शुक्रवारको बीसलपुर बांध से उपखण्ड क्षेत्र में रही बाईं मुख्य नहर में शाम 5 बजे बाद प्रशासनिक अधिकारियों की उपस्थिति में बीसलपुर परियोजना के इंजीनियर बांध के हेडरेगुलेटर से पानी छोडेंगे। जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में हुई जल समिति की बैठक में किसानों की मांग पर 6 नवंबर को बांध से सिंचाई का पानी छोड़ने का समय तय हुआ था। उसी की पालना में बीसलपुर परियोजना के इंजीनियर शाम 5 बजे पूजा अर्चना कर बाईं मुख्य नहर में पानी छोडेंगे। शुरू में 10 क्यूसेक की मात्रा से शुरू कर प्रति घंटा बढा़ते हुए 60 क्यूसेक तक पानी छोड़ा जाएगा। बाद में किसानों की मांग के अनुरूप पानी की मात्रा धीरे धीरे बढा़ई जाएगी। उपखण्ड के कमांड एरिये में बाईं मुख्य नहर की कुल दूरी बीसलपुर बांध से 18.65 मिलोमीटर है। बाईं मुख्य नहर से जारही तीन वितरिकाओं की दूरी 19 किलोमीटर है। बांसेड़ा से टोरडी कैनाल की दूरी 9 किलोमीटर है। यह सारा सिस्टम मिलाकर कुल 200 मिलोमीटर की परिधि में बिछी नहरों से सिंचाई होगी। बाईं मुख्य नहर से 38 गांवों की लगभग 12 हजार 407 हेक्टेयर जमीन में सिंचाई के लिए पानी छोडा जाएगा। पिछले साल की अपेक्षा इस साल एक सप्ताह पहले पानी छोडा जारहा है।

^बाईं मुख्य नहर की कुछ जगहों पर सफाई कार्य अपूर्ण है। ऐसे मंे दिन रात जेसीबी मशीनों के माध्यम से सफाई कार्य तिव्र गति से करवाया जारहा है। इसी वजह से बाईं मुख्य नहर में सुबह की जगह शाम को पानी छोडने का निर्णय लिया गया है। सफाई कार्य करवा कर ही पानी छोडा जाएगा ताकि किसानों को सिंचाई में किसी तरह का व्यवधान हो सके। आर.सी.कटारा,एक्सईएन,बीसलपुर परियोजना

सांसदजौनपुरिया विधिवत पूजा-अर्चना कर खोलेंगे नहर

राजमहल| बीसलपुरबांध से शुक्रवार सुबह नहरों में सिंचाई के लिए पानी छोड़ा जाएगा। सुबह 7:30 बजे क्षेत्रीय सांसद सुखबीर जौनपुरिया विधिवत पूजा अर्चना कर नहर में पानी छोड़ेंगे। इस दौरान विधायक राजेंद्र गुर्जर सहित कई जनप्रतिनिधि भी मौजूद रहेंगे। बीसलपुर बांध के अधीक्षण अभियंता सतपाल मीणा ने बताया कि दाईं मुख्य नहर की कुल पानी छोड़ने की क्षमता 735 क्यूसेक तथा बाईं मुख्य नहर की 110 क्यूसेक है। शुरूआत में दाईं मुख्य नहर से 200 क्यूसेक पानी छोड़ा जाएगा जो धीरे-धीेरे बढाया जाएगा। बांयी मुख्य नहर में शुरूआत 40 क्यूसेक से होगी। जिसे भी घीरे घीरे बढाकर पूरी क्ष