• Hindi News
  • National
  • जिला मुख्यालय की दशा को दर्शाती दो तस्वीरें

जिला मुख्यालय की दशा को दर्शाती दो तस्वीरें

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
यूंतो पीएम मोदी के स्वच्छ भारत मिशन को सफल बनाने के लिए शासन से लेकर प्रशासन तक आए-दिन कई दावे कर रहा है, लेकिन बस स्टैंड पर जमा बारिश का पानी को देखकर ये दावे जमींनी हकीकत में कुछ और ही बयां कर रहे है। अब तो यह पानी कीचड़ का रुप लेता जा रहा है। अब तो हालात से तरह बिगड गए कि यह गंदा पानी सडांध मारने लगा है। ऐसे में यात्रियों का यहां से आना-जाना दुश्वार हो रहा है। बसें भी अपने स्थान पर खडी नहीं हो पा रही है। इससे यात्रियों को परेशानी हो रही है। ताज्जुब की बात तो यह है कि यहां सारी सरकारी मशीनरी फेल सी नजर आती है। सप्ताह भर से अधिक इस संडाध मार रहे पानी को भरे हो गए, लेकिन राजनेता से लेकर सरकारी तंत्र इस पर आंख मंूद कर बैठा हुआ है। ऐसे में पीएम मोदी के स्वच्छ भारत मिशन की सार्थकता बेमानी सी लगती है। ऐसा नहीं है कि इस समस्या से विधानसभा से लेकर संसद की चौखट नापने वाले अनजान है,लेकिन बहरहाल अभी तक इसके निस्तारण के लिए कोई आगे नहीं आया है। शहर के विकास के लिए जिम्मेदार नगर परिषद प्रशासन भी इसमें मूकदर्शक बना हुआ है। हालांकि बसस्टैंड के विकास के लिए विधायक अजीतसिंह मेहता ने 20 लाख रुपए गत साल दिए थे। उससे कुछ क्षेत्र में सीसी हो पाया है। हाउसिंग बोर्ड कालोनी मे करीब एक माह पहले पानी पाईप लाईन डालने के लिए खोदी गई सडक को पाईप लाईन डालने के बावजूद दुरस्त नही करने से लोगों को आवाजाही मे परेशानी का सामना करना पड रहा है। इस मामले मे कालोनी के वाशिंदो ने कई बार सम्बधित अधिकारियो को अवगत करवा दिया गया मगर समस्या का समाधान नही हो रहा है।

खबरें और भी हैं...