पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

‘डर्टी पॉलिटिक्स के बारे में आम जनता सोचे’

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर. पॉलिटिक्स मतलब डर्टी और डर्टी मतलब पॉलिटिक्स। देश की राजनीति गंदी होती जा रही है, संसद में सवाल उठते हैं लेकिन होता क्या है? गुंडाराज और पॉलिटिक्स बरसों से हाथ से हाथ मिलाकर चल रहे हैं। अजमेर पुलिस लाइन में शूटिंग के दौरान फिल्म में इंस्पेक्टर का किरदार कर रहे बिजनौर (उत्तरप्रदेश) में अभिनेता सुशांत सिंह ने ‘भास्कर’ से विशेष बातचीत में यह बात कही। उन्होंने कहा कि इस फिल्म में पुलिस को अच्छे रूप में प्रदर्शित किया गया है। इसमें तीन ईमानदार इंस्पेक्टर मिलकर हत्या का पर्दाफाश करते हैं। देश की राजनीति गंदी होने को लेकर किए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मेरे मानने, ना मानने से क्या होगा? यह तो आम जनता के सोचने की बात है। मसालेदार फिल्मों की अधिकता के सवाल पर उन्होंने कहा कि फिल्में मनोरंजन के लिए होती हैं ना कि संदेश देने के लिए लेकिन उसमें संदेश होता है तो अच्छी बात है। कलेक्ट्रेट में फिल्माया सीन शनिवार को सुबह अजमेर के कलेक्ट्रेट व पुलिस लाइन में सीन फिल्माया गया। इसमें अभिनेता गोविंद नामदेव (फिल्म में नाम करण सिंह) एसपी हैं और उन्हें लाइन हाजिर किया जाता है। वे लाइन जा रहे हैं और लाइन से दो ईमानदार पुलिस इंस्पेक्टर सुशांत व अतुल कुलकर्णी लाइन से बहाल होने के लिए निकल रहे हैं। दोनों एसपी करण को देखते हुए इस अंदाज में मुस्कराते हैं कि अब देखना पता चलेगा कि लाइन हाजिर का मतलब क्या होता है? इससे पहले एसपी करण सिंह गुंडों की मिलीभगत के चलते दोनों ईमानदार पुलिस इंस्पेक्टरों को लाइन भिजवा देते हैं लेकिन इन दोनों इंस्पेक्टरों को ईमानदार सीबीआई अफसर अनुपम खेर की मदद से वापस पुलिस थाने में तैनात किया जाता है। हमारी पुलिस भी फिल्म में फिल्म की शूटिंग देखने के लिए भीड़ उमड़ गई जिन्हें पुलिस ने समझाइश कर रोका। भीड़ के कारण कुछ शॉट भी दोबारा लिए गए। पुलिस ने भी तीन बार परेड कर शॉट दिया। गोविंद नामदेव का शूटिंग के दौरान ही नामदेव छीपा युवा सेवा संस्थान अजमेर की तरफ से माल्यार्पण कर भावभीना सम्मान किया। अध्यक्ष सत्यनारायण नईवाल, पवन कुमार, सरोज वर्मा, सौरभ छीपा और मंत्री सतीश तुनगरिया समेत अन्य लोग स्वागत करने वालों में शामिल थे। कलाकारों के साथ फोटो खिंचवाने के लिए पुलिसकर्मियों की भीड़ लगी रही। पुलिसकर्मी यह भी कहते नजर आए कि तीनों अभिनेता तो वाकई असली पुलिस इंस्पेक्टर लग रहे हैं। मुख्त्यार भाई बने हैं जैकी श्राफ: फिल्म में जैकी श्राफ का नाम मुख्त्यार भाई है जो राजनीतिज्ञों के लिए काम करता है। पुलिस कानून की पालना करती है तो मुख्त्यार भाई कानून तोड़ने की बातें करता है। लंबी मशक्कत के बाद मुख्त्यार को पुलिस अनोखी देवी के कत्ल के जुर्म में गिरफ्तार कर लेती है। मल्लिका हैं हीरोइन फिल्म में हीरो जैकी श्राफ, मल्लिका शेरावत, अनुपम खेर, ओम पुरी, आशुतोष राणा, अतुल कुलकर्णी, सुशांत, गोविंद नामदेव अजय नयन हैं। जबकि निर्देशक केसी बोकाडिया, सह निर्देशक सुनित कुमावत हैं। प्रोडक्शन महावीर प्रसाद झांकल का है। फिल्म में संगीत आदेश श्रीवास्तव ने दिया है और गीत समीर के हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

और पढ़ें