पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Kota Thermal Reefs Have Ever Been Worried The City

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

3 साल में 25 करोड़ का निवेश, 5 हजार नौकरियां

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोटा. कुछ समय पहले तक सरदर्द बन चुकी सुपर थर्मल पावर से निकलने वाली राख अब करोड़ों का बिजनेस बन चुकी है। सैकड़ों लोगों को इससे रोजगार मिल रहा है। एक रिसर्च के बाद मिली तकनीक से अब इस राख से ब्लॉक्स, ईंटें और टाइल्स बन रही हैं। तीन साल में इस राख (फ्लाई एश) से प्रोडक्ट बनाने की 50 यूनिट लग चुकी हैं और 25 करोड़ का निवेश हो चुका है। शुरुआत में थर्मल पावर ने निकलने वाली राख का उपयोग ईंटें बनाने में हुआ था, लेकिन बेहतर तकनीक के सामने आने के बाद इससे ब्लॉक्स व टाइल्स भी बनना शुरू हो गए। जल्द ही कोटा में बिरला समूह भी एक प्लांट लगाने की तैयारी में हैं। इसमें भी फ्लाई एश का उपयोग किया जाएगा। इसके लिए रीको से जमीन का आवंटन हो चुका है। तीन साल में तीन गुनी बढ़ी यूनिट फ्लाई एश एसोसिएशन कोटा के सचिव सौरभ गोयल का कहना है कि वर्ष 1999-2000 के आसपास फ्लाई एश से ईंटें बनाने का काम शुरू हो हुआ था। उस समय फ्लाई एश की ईंटों की मांग कम थी। धीरे-धीरे जब मांग बढ़ने लगी तो तीन साल में उस क्षेत्र में एक-एक उद्यमी ने 2-2, 2-3 यूनिटें लगा ली। फ्लाई एश से बनने वाली ईंटें साधारण मिट्टी से बनने वाली ईंटों से ज्यादा मजबूत होती हैं। वर्तमान में जो टाइल्स बनाते हैं, वह साथ में ब्लॉक्स भी बना रहे हैं। इनकी भी बाजार में अच्छी मांग है। अकेले फ्लाई एश उद्योग से ही प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से पांच हजार लोगों को काम मिल रहा है। उद्यमी राजेन्द्र सिंह ने बताया कि फ्लाई एश से बनने वाली ईंटों की मजबूती जांचने के बाद ही उसे बाजार में बिक्री के लिए भेजा जाता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

और पढ़ें