• Hindi News
  • रंगारंग कार्यक्रम के साथ पुलिस टूर्नामेंट का आगाज, आज सजेगी सुरों की शाम

रंगारंग कार्यक्रम के साथ पुलिस टूर्नामेंट का आगाज, आज सजेगी सुरों की शाम

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पाली। पुलिस लाइन मैदान में रविवार सुबह 39वीं रेंज स्तरीय पुलिस स्पोर्ट्स मीट का समारोहपूर्वक उद‌्घाटन किया गया। समारोह में स्कूली बच्चों की ओर से रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किए। स्कूली बच्चों ने गरजती तोप और दनादन फायरिंग के शोर में जब कारगिल विजय युद्ध की नाट्य प्रस्तुति दी तो तो वहां मौजूद लोगों ने तालियों से बच्चों का उत्साहवर्धन किया। स्कूली बच्चों ने तिरंगा आकार में खड़े होकर मार्शल आर्ट का प्रदर्शन किया, जबकि पुलिस के जवानों ने कदमताल करते हुए तिरंगा थामे मार्चपास्ट किया।
स्कूली बच्चों की ओर से एक से बढ़कर एक उम्दा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुतियों ने समारोह को यादगार बना दिया। जोधपुर रेंज के पुलिस बैंड के जवानों ने सुमधुर धुन के साथ लय और ताल में मार्चपास्ट को भी लोगों ने सराहा। पुलिस लाइन ग्राउंड में रविवार सुबह 39वीं रेंज स्तरीय प्रतियोगिता जोधपुर रेंज के आईजी सुनील दत्त ने ध्वजारोहण एवं मशाल जलाकर उद‌्घाटन किया।
समारोह में विधायक ज्ञानचंद पारख, चेयरमैन महेंद्र बोहरा, एडीएम ब्रजेश कुमार चंदेलिया उप सभापति मूलसिंह भाटी भी अतिथि के रूप में मौजूद रहे। एसपी अनिल टांक ने प्रतियोगिता का प्रतिवेदन पेश किया। इस प्रतियोगिता में फुटबाल, वालीबॉल, बास्केटबॉल, हैंडबॉल, जेवलियन थ्रो, कबड्डी समेत कई गेम्स आयोजित हो रहे हैं।

दिन में खेल, शाम को होंगे यह कार्यक्रम

-सोमवार शाम साढ़े सात बजे पुलिस लाइन में सिंगर मनोज निम्बार्क, रश्मि चौहान अन्य कलाकार सुरों की शाम सजाएंगे। नृत्यांगना दीपिका राव, पुष्पा गहलोत पुखराज गहलोत आकर्षक नृत्य पेश करेंगे। इसके अलावा हास्य कलाकार जगदीश प्रजापति भी श्रोताओं को गुदगुदाएंगे। स्कूली बच्चों द्वारा भी कल्चर प्रोग्राम की प्रस्तुति दी जाएगी।

भाग-दौड़ की जिंदगी में खेल महत्वपूर्ण : आईजी

इस मौके पर जोधपुर रेंज के आईजी सुनील दत्त ने पुलिस टीमों के खिलाडिय़ों को खेल को खेल की भावना से खेलने की सीख दी। उन्होंने कहा कि खेल में जीत हार नहीं, बल्कि भाग लेना सबसे महत्वपूर्ण है। इसके लिए खिलाडिय़ों को पूरे जोश के साथ अपना शत प्रतिशत योगदान देना चाहिए।
उन्होंने कहा कि वर्तमान में भाग-दौड़ वाली जिंदगी में खासतौर से पुलिस के जवानों को नौकरी करने के साथ खेल खेलने की भी जरूरत है। इससे शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है, जबकि दिमाग भी स्वस्थ रहता है। आईजी ने इस मौके पर उत्तम सेवा करने के लिए पुलिसकर्मियों को सेवा चिन्ह अलंकरण भी दिए।