• Hindi News
  • National
  • मगरा के रावत राजपूत नाडोल के राव लाखन की संतान : कलालिया

मगरा के रावत राजपूत नाडोल के राव लाखन की संतान : कलालिया

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजस्थानरावत राजपूत महासभा की ऐेतिहासिक शोध एवं सामाजिक धरोहर समिति की प्रथम बैठक जस्साखेडा में संपन्न हुई। समिति के प्रदेशाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह कलालिया ऐेतिहासिक तथ्यों के आधार पर बताया कि मगरा के रावत राजपूत नाडोल के चौहान शासक रावत लाखन की संतान हैं।

संयोजक डॉ. विक्रमपालसिंह काछबली ने समिति का विस्तृत परिचय एवं उद्देश्य की जानकारी देते हुए मगरा के गौरवशाली इतिहास पर प्रकाश डाला। सचिव चन्दनसिंह छापली ने बताया कि यहां के रावत राजपूत हमेशा स्वतंत्र रहे। अंग्रेजी भाषा के लेखक दौलतसिंह पंवार ने कहा कि विहल चौहान को वीरता के लिए उदयपुर महाराणा ने रावत की उपाधि दी। बाद में अन्य क्षेत्रों से पंवार,सिसोदिया,भाटी,राठौड़,गहलोत मगरा में आए और चौहान से घुल मिल गए। इतिहासविद अरविंदसिंह जयपुर ने बताया की पृथ्वीराज चौहान के बड़े भाई लाखा नाडोल आए उन्हीं की संतान रावत राजपूत हैं। देवडा चौहान रावत चौहान को बड़ा भाई मानते हैं। बैठक में नारायणसिंह दपाली,लेखक चन्दनसिंह खोखावत, देवीसिंह कानावत, डॉ हरिसिंह, अरविंदसिंह, इतिहासकार गोविंदसिंह भागावड, हीरासिंह सोहंगढ, राजेशसिंह, डॉ प्रहलादसिंह नंदावट, उगमसिंह, मोतीसिंह फुलाद आदि उपस्थित थे।

सेंदड़ा. रावतराजपूत महासभा की बैठक में उपस्थित पदाधिकारी।

खबरें और भी हैं...