• Hindi News
  • National
  • बिजली चोरी रोकने के लिए राजस्व अधिकारी निभाएंगे सक्रिय भूमिका

बिजली चोरी रोकने के लिए राजस्व अधिकारी निभाएंगे सक्रिय भूमिका

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बिजलीछीजत में कमी लाने और बिजली चोरी करने के लिए डिस्कॉम अधिकारियों के साथ जिले के राजस्व अधिकारी सक्रिय भूमिका निभाएंगे। इसको लेकर बुधवार को जिला परिषद सभागार में हुई राजस्व अधिकारियों की बैठक में कलेक्टर कुमारपाल गौतम ने निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर गौतम ने कहा कि राज्य सरकार की बिजली छीजत में कमी लाना तथा एटीसी क्षय न्यूनतम करने का निर्णय लिया है। इसमें उपखंड अधिकारी समेत जिले के सभी राजस्व अधिकारी पूरा सहयोग करेंगे। उन्होंने बताया कि उपखंडवार फीडर वाइज बिजली छीजत के आंकड़े प्रस्तुत करने तथा सभी उपखंड अधिकारियों को साप्ताहिक समीक्षा बैठक के जरिए इसकी मॉनिटरिंग करने और इस कार्य में जनप्रतिनिधियों का सक्रिय सहयोग लेने के निर्देश दिए। बैठक में एडीएम बीके चांदोलिया ने एजेंडावार राजस्व अधिकारियों के कार्यों की समीक्षा करते हुए प्रगति की जानकारी दी। बैठक में जिलास्तरीय अधिकारी, उपखण्ड अधिकारी एवं तहसीलदार मौजूद थे।

फीडरवाइज बिजली चोरी की पेश करें रिपोर्ट

बैठकमें कलेक्टर गौतम ने डिस्कॉम अधिकारियों को जिले में फीडर वाइज बिजली चोरी की रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए। साथ ही बिजली चोरी के लिए की गई कार्रवाई की साप्ताहिक प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने उपखंड अधिकारी ब्लाॅक मुख्यालयों पर अधिकारियों के ठहराव को सुनिश्चित करे तथा अपने मुख्यालय पर नहीं रहने वाले पाली, बिजली, चिकित्सा जैसे जनसुविधाओं वाले विभागों के अधिकारियों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए।

अवैध खनन पर भी हो कार्रवाई

राजस्वअधिकारियों की बैठक में कलेक्टर गौतम ने खनिज अभियंताओं को अवैध खनन की रोकथाम के लिए क्षेत्र में भ्रमण कर केस बनाने के निर्देश दिए। साथ ही अवैध खननकर्ता के विरुद्ध पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करवाने की भी बात कही। उन्होंने कहा कि वन क्षेत्र में अवैध खनन को चिह्नित कर वहां पर वन अधिनियम में कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए।

पाली | जिलापरिषद में अधिकारियों की बैठक लेते कलेक्टर कुमारपाल गौतम। फोटो|भास्कर

बैठक

खबरें और भी हैं...