पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • पाली| इंद्राकॉॅलोनी स्थित शिव मंदिर में चल रहे चातुर्मास सत्संग

पाली| इंद्राकॉॅलोनी स्थित शिव मंदिर में चल रहे चातुर्मास सत्संग

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पाली| इंद्राकॉॅलोनी स्थित शिव मंदिर में चल रहे चातुर्मास सत्संग में साध्वी सुखिया दीदी ने कहा कि धर्म के चार अंग मुख्य है। सत्य, तप, पवित्रता और दया इन चारों का योग फल ही धर्म है। इन चारों अंगों पर जब धर्म आधारित था तब सतयुग था। तीन अंगों पर आधारित था तब त्रेता युग आया। दो अंगों पर आधारित हुआ तो तब द्वापर युग आया। एक ही अंग पर धर्म आधारित रहा तब कलयुग आया। सत्य ही परमात्मा है। सत्य और परमात्मा भिन्न नहीं है। जहां सत्य है वहां परमात्मा है।



जो असत्य बोलता है उसके पुण्यों को क्षय होता है। सत्य के सहारे नर नारायण के पास जा सकते हैं।

सत्य, तप, पवित्रता और दया इन चारों का योग फल ही धर्म है : साध्वी दीदी

खबरें और भी हैं...