हवन के धुएं से भड़की मधुमक्खियाें का हमला, 20 घायल, दो गंभीर ब्यावर रैफर

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पाली. बिराठियां कलां गांव मे उस समय हड़कंप मच गया जब ग्राम के तालाब के किनारे पीपल पर बैठी हजारों मधुमक्खियां भड़क गई। पूरे गांव में अफरा तफरी मच गई। लोग इधर उधर भागने लगे। लोग घरों में दुबक गए। मधुमक्खियों के हमले से 20 जने घायल हो गए। दो को गंभीरावस्था में रैफर किया गया।
बुधवार को मेघवाल समाज की गंगाप्रसादी के लिए सैकडों लोग कस्बे के समीप ही बने तालाब की पाल पर तालाब पूजन कलश यात्रा के लिए एकत्रित हुए थे। तालाब मे पूजन के दौरान धुआं उठा और पीपल के पेड़ों पर लगे छत्ते पर बैठी मधुमक्खियां भड़क गई और लोगों पर हमला कर दिया। लोग इधर-उधर भागने लगे। देखते ही देखते ही पूरे गांव में भगदड़ मच गई। लोग अपने घरों में दुबक गए।
मधुमक्खियों के हमले में 20 जने घायल हो गए, जिन्हें 108 एंबुलेंस की मदद से बर के राजकीय अस्पताल मे भर्ती करवाया। चिकित्सक रामाअवतार साहु और एएनएम दिलीपसिंह की टीम ने घायलों का इलाज किया। इनमें से देवाराम मेघवाल निवासी धुलकोट तथा मनोहर निवासी हाजीवास की हालत गंभीर होने के कारण दोनों को ब्यावर के राजकीय अस्पताल में भर्ती करवाया।

मधु मक्खियोंके हमले में ये हुए घायल :गंगा प्रसादी के दौरान मधुमक्खियों के हमले में देवाराम मेघवाल, भगराम मेघवाल, पारसमल, पूजादेवी, आरतीदेवी, मनोहरलाल, हंसराज, दिनेश मेघवाल, राकेशराम, भेराराम भाट, विमलसिंह, विनोदराम, दुदाराम, सोहनलाल मेघवाल, शंकरलाल मेघवाल, लक्ष्मणराम नायक वर्षा सहित करीबन 20 जने घायल हो गए।
खबरें और भी हैं...