--Advertisement--

इस गैंगस्टर के गांव में लगे हैं ऐसे बैनर-पोस्टर, नेताओं की एंट्री पर है रोक

आनंदपाल एनकाउंटर मामले के 17 दिन भी बाद भी अंतिम संस्कार पर फैसला नहीं

Dainik Bhaskar

Jul 11, 2017, 02:22 AM IST
गैंगस्टर आनंदपाल (फाइल फोटो) और उसके गांव में लगे बैनर पोस्टर्स। गैंगस्टर आनंदपाल (फाइल फोटो) और उसके गांव में लगे बैनर पोस्टर्स।
सीकर. राजस्थान के मोस्ट वांटेड इनामी गैंगस्टर आनंदपाल के एनकाउंटर के 17 दिन भी बाद भी अंतिम संस्कार नहीं हुअा है। उसकी डेड बॉडी अब भी डीप फ्रीजर में अंत्येष्टी का इंतजार कर रही है। इस बीच उसके गांव डीडवाना समेत कई गांवों में बीजेपी के नेताओं की एंट्री पर रोक के होर्डिग्स लगाए जाने का मामला सामने आया है। अाज एडमिनिस्ट्रेशन ने डिस्ट्रिक्ट में धारा 144 लगाए जाने के बाद कल रात 12 बजे तक इंटरनेट बंद कर दिया है। जानें क्यों लगे हैं ये होर्डिग्स और क्या लिखा है होर्डिग्स पर...
- गैंगस्टर आनंदपाल के एनकाउंटर के 17 दिन भी बाद भी अंतिम संस्कार पर फैसला नहीं हो पाया है। अब 12 जुलाई को दोपहर 12:15 बजे राजपूत और रावणा राजपूत समाज के साथ ही दूसरे समाजों की सभा होगी। इसमें प्रदेशभर से 1 लाख लोगों के पहुंचने का दावा किया जा रहा है। इसी दिन आनंदपाल की अंत्येष्टि को लेकर फैसला होने की उम्मीद है।
- लोसल एरिया में गांवों के नवयुवक मंडलों की आेर से तीन पंचायतों के सात गांवों में भाजपा कार्यकर्ताओं के प्रवेश पर रोक लगाई गई है। इस बारे में ग्रामीणों ने होर्डिंग और बैनर भी लगाए हैं। इन बैनर में लिखा है कि भाजपा का बायकॉट करो। होर्डिंग गांव के बस स्टेंड और मेन राेड्स पर लगाए गए हैं।
सरकार सीबीआई जांच करवाने से क्यों डर रही
नवयुवक मंडल खानड़ी के अध्यक्ष विश्वजीतसिंह और सेना के रिटायर्ड कैप्टन लक्ष्मणसिंह शेखावत ने बताया कि आनंदपाल का एनकाउंटर सही है तो सरकार सीबीआई जांच करवाने से क्यों डर रही है। हम सीबीआई जांच नहीं होने तक 7 गांवों में भाजपा के एक भी नेता और कार्यकर्ता को घुसने नहीं देंगे। आने वाले असेंबली इलेक्शन समेत दूसरे चुनावों में बीजेपी का बायकॉट करेंगे। वहीं सांगलिया पंचायत में सर्वसमाज नवयुवक मंडल ने भी ऐसे ही होर्डिंग लगाए हैं।
जिले में कल रात 12 बजे तक बंद रहेगा इंटरनेट
- सीकर प्रशासन ने जिले में मोबाइल इंटरनेट सर्विस दो दिन के लिए बंद करवा दी है। आनंदपाल एनकाउंटर और अंतिम संस्कार को लेकर 12 जुलाई को सभा और रैली की जा रही है। अफवाहों को रोकने के लिए 10 जुलाई रात 8 बजे से 12 जुलाई रात 12 बजे तक सीकर डिस्ट्रिक्ट के सभी थाना एरिया में इंटरनेट सर्विस बंद रहेगी।
- राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग के सपोर्ट में 12 जुलाई का लाडनूं में बाजार बंद का कॉल किया है।
धारा 144 लगा दी गई
- वहीं, एडमिनिट्रेशन भी मुस्तैद है। इस दौरान किसी घटना से बचने के लिए डिस्ट्रिक्ट में धारा 144 लगा दी गई है। इसके तहत लोगों के इकट्ठा होने, हथियार लेकर चलने, रैली-जुलूस में किसी भी समाज के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करने, पोस्टर, बैनर या पेंफ्लेट्स लगाने पर रोक रहेगी।
- रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउड स्पीकर पर भी रोक रहेगी। 10 से ज्यादा गाड़ियों का काफिला साथ लेकर चलने पर भी रोक रहेगी। सोमवार शाम 5 बजे से इंटरनेट सेवा पर भी रोक लगा दी गई है।
- यह पाबंदी 12 जुलाई को रात 12 बजे तक जारी रहेगी। प्रदेश के डीजीपी मनोज भट्ट ने पुलिस अफसरों को रैली पर पूरी नजर रखने के आॅर्डर दिए हैं।
इन गांवों में लगाए 50 होर्डिंग
भीमा, सांगलिया और भिराणा पंचायत के सात गांव खानड़ी, चिड़ासरा, प्रतापपुरा, भीमा, भिराणा, राजपुरा, सांगलिया इस विरोध में शामिल हैं। नवयुवकों ने इन गांवों में 50 होर्डिंग बनवाकर लगवाए हैं। नवयुवक मंडल के शक्तिसिंह, विक्रमसिंह, अर्जुन सिंह, आनंद, करणसिंह, प्रतापपुरा गांव के गजेंद्र, राजपुरा के उपेंद्र ने बताया कि हमारा एक-एक वोट बीजेपी को जाता है, लेकिन अब मांग नहीं माने जाने तक बीजेपी को एक भी वोट नहीं देंगे। दावा है कि इन गांवों के सर्व समाज के लोग भी उनके साथ हैं।
आगे की स्लाइड्स में देखें, इस खबर से जुड़ीं फोटोज...
आनंदपाल के एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग पर अड़ी उसकी बेटी और फैमिली। आनंदपाल के एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग पर अड़ी उसकी बेटी और फैमिली।
मोस्ट वांटेड गैंगस्टर आनंदपाल का जीवित और एनकाउंटर के बाद की तस्वीर। मोस्ट वांटेड गैंगस्टर आनंदपाल का जीवित और एनकाउंटर के बाद की तस्वीर।
एनकाउंटर में मौत के 17 दिन बाद इस डीप फ्रीजर में है आनंदपाल की डेड बॉडी। एनकाउंटर में मौत के 17 दिन बाद इस डीप फ्रीजर में है आनंदपाल की डेड बॉडी।
कई गांवों में बीजेपी के नेताओं की एंट्री पर रोक के होर्डिग्स लगाए गए हैं। कई गांवों में बीजेपी के नेताओं की एंट्री पर रोक के होर्डिग्स लगाए गए हैं।
किसी वक्त आनंदपाल आतंक और खौफ का दूसरा नाम माना जाता था। किसी वक्त आनंदपाल आतंक और खौफ का दूसरा नाम माना जाता था।
आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद बरामद रायफल चैक करती एफएसएल की टीम। आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद बरामद रायफल चैक करती एफएसएल की टीम।
इसी घर में छुपा हुआ था अानंदपाल, जहां एनकाउंटर में हुआ उसका खात्मा। इसी घर में छुपा हुआ था अानंदपाल, जहां एनकाउंटर में हुआ उसका खात्मा।
आनंदपाल की लाश मोर्चरी में ले जाते पुलिसकर्मी। आनंदपाल की लाश मोर्चरी में ले जाते पुलिसकर्मी।
पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुका आनंदपाल का खात्मा एनकाउंटर में किया गया। पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुका आनंदपाल का खात्मा एनकाउंटर में किया गया।
no entry in anandpal village
आनंदपाल की छोटी बेटी योगिता। आनंदपाल की छोटी बेटी योगिता।
X
गैंगस्टर आनंदपाल (फाइल फोटो) और उसके गांव में लगे बैनर पोस्टर्स।गैंगस्टर आनंदपाल (फाइल फोटो) और उसके गांव में लगे बैनर पोस्टर्स।
आनंदपाल के एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग पर अड़ी उसकी बेटी और फैमिली।आनंदपाल के एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग पर अड़ी उसकी बेटी और फैमिली।
मोस्ट वांटेड गैंगस्टर आनंदपाल का जीवित और एनकाउंटर के बाद की तस्वीर।मोस्ट वांटेड गैंगस्टर आनंदपाल का जीवित और एनकाउंटर के बाद की तस्वीर।
एनकाउंटर में मौत के 17 दिन बाद इस डीप फ्रीजर में है आनंदपाल की डेड बॉडी।एनकाउंटर में मौत के 17 दिन बाद इस डीप फ्रीजर में है आनंदपाल की डेड बॉडी।
कई गांवों में बीजेपी के नेताओं की एंट्री पर रोक के होर्डिग्स लगाए गए हैं।कई गांवों में बीजेपी के नेताओं की एंट्री पर रोक के होर्डिग्स लगाए गए हैं।
किसी वक्त आनंदपाल आतंक और खौफ का दूसरा नाम माना जाता था।किसी वक्त आनंदपाल आतंक और खौफ का दूसरा नाम माना जाता था।
आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद बरामद रायफल चैक करती एफएसएल की टीम।आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद बरामद रायफल चैक करती एफएसएल की टीम।
इसी घर में छुपा हुआ था अानंदपाल, जहां एनकाउंटर में हुआ उसका खात्मा।इसी घर में छुपा हुआ था अानंदपाल, जहां एनकाउंटर में हुआ उसका खात्मा।
आनंदपाल की लाश मोर्चरी में ले जाते पुलिसकर्मी।आनंदपाल की लाश मोर्चरी में ले जाते पुलिसकर्मी।
पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुका आनंदपाल का खात्मा एनकाउंटर में किया गया।पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुका आनंदपाल का खात्मा एनकाउंटर में किया गया।
no entry in anandpal village
आनंदपाल की छोटी बेटी योगिता।आनंदपाल की छोटी बेटी योगिता।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..