पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कनिष्ठ लिपिक सीधी भर्ती: ज्यादा अंक वालों को भी पछाड़ देंगे ‘अनुभवी’

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सीकर.जिला परिषद में हो रही कनिष्ठ लिपिक भर्ती में अंकों के गणित ने हजारों उम्मीदों पर पेंच लगा दिए हैं। अंकों का नियम कुछ ऐसा बनाया गया है कि 80 फीसदी मार्क्‍स के साथ 12वीं पास करने वाले अभ्यर्थी 40 फीसदी अंक पास वाले से पीछे रह जाएगा।
संविदा पर पंचायतराज में लगे कार्मिकों को अंकों के गणित का सीधा फायदा मिलेगा। जिसकी वजह से अधिकतर पद संविदा कर्मियों के हाथों में होंगे। जिले में 695 पदों के लिए कनिष्ठ लिपिक भर्ती हो रही। जबकि पंचायतराज में करीब 500 संविदा पर कार्यरत है। अंकों के फायदे को कुछ इस तरह समझिए।
यदि किसी अभ्यर्थी ने 80 फीसदी मार्क्‍स के साथ 12वीं पास की है। अब चूंकी सीधी भर्ती में अभ्यर्थी के 12वीं कक्षा के 70 फीसदी मार्क्‍स शामिल किए जाएंगे। ऐसे में इस अभ्यर्थी के अंक 56 होंगे। अब यदि संविदा पर लगे कार्मिक ने 12वीं कक्षा 40 फीसदी मार्क्‍स के साथ की है तो उसके 12वीं के अंक होंगे 28।
अब चूंकी तीन साल के अनुभव के आधार पर उसे 30 अंक अतिरिक्त मिलेंगे। लिहाजा, संविदा कर्मी के कुल अंक 58 हो जाएंगे। विशेषज्ञों के अनुसार, इन मार्क्‍स के आधार पर बनने वाली मेरिट में संविदा पर कार्यरत अभ्यर्थी आगे निकल जाएगा। जबकि 80 फीसदी अंकों के साथ 12वीं पास करने वाला अभ्यर्थी पीछे रह जाएगा।
इधर, इन संविदा कर्मियों की मुसीबत
पंचायतराज विभाग में बतौर कम्प्यूटर ऑपरेटर लगे संविदा कर्मियों के सामने भी पिछड़ने का डर सता रहा है। जानकारी के अनुसार, कम्प्यूटर ऑपरेटर पद पर सीनियर सैकंडरी के आधार की बजाए स्नातक व कम्प्यूटर डिग्री पर भर्ती हुए संविदा कर्मियों को नौकरी हाथ से जाती नजर आ रही है। क्योंकि ज्यादातर कम्प्यूटर ऑपरेटर पद पर लगे कार्मिकों के 12वीं में मार्क्‍स ज्यादा नहीं है।
अब अगर सीधी भर्ती में मेरिट ज्यादा जाती है तो नौकरी भी जा सकती है। भर्ती के लिए निर्धारित योग्यता 12वीं कक्षा उत्तीर्ण रखी गई है। 12वीं कक्षा में हासिल कुल फीसदी अंकों का 70 फीसदी निकालकर मेरिट का निर्धारण किया जाएगा।
यदि अभ्यर्थी ने संविदा पर तीन साल तक काम किया है तो 30 अंक अनुभव के और मिलेंगे। एक साल का अनुभव पर दस अंक मिलेंगे। इस वजह से संविदा कर्मियों को सीधा फायदा मिलेगा। हालांकि अनुभव आधारित अंक तभी मिलेंगे, जब अनुभव प्रमाण पत्र दस्तावेज के साथ लगाएंगे। अब संविदा कर्मी भी अनुभव प्रमाण पत्र बनाने की दौड़ में लगे हुए हैं।
एक से अधिक जिले में कर सकेंगे आवेदन : विभिन्न जिलों के लिए होने वाली भर्ती में अभ्यर्थी एक से अधिक जिलों के लिए आवेदन कर सकेंगे।
नहीं जुड़ेंगे डिग्रियों के नंबर :
कनिष्ठ लिपिकों की भर्ती में सीनियर सैकंडरी के अलावा उच्च शिक्षा की डिग्री के नंबर नहीं जोड़े जाएंगे।