पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बीमारी से तंग वृद्ध ट्रेन से कटा

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नीमकाथाना। रेलवे फाटक पर गुरुवार दोपहर को मालगाड़ी के आगे कूदकर अधेड़ ने आत्महत्या कर ली। मृतक की पहचान गांवड़ी के रहने वाले फकीरचंद अग्रवाल के रूप में हुई है। घटना के बाद मौके पर बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए। जीआरपी व शहर पुलिस ने मालगाड़ी के नीचे फंसे शव को निकाला। पुलिस को मृतक के पास से सुसाइड नोट मिला। उसमें उसने बीमारी से तंग आकर आत्महत्या करना बताया है।

सबइंस्पेक्टर दीपक यादव ने बताया कि मृतक फिलहाल अपने बेटे शेखर अग्रवाल के साथ औद्योगिक क्षेत्र के पास वीनस कॉलोनी में रहता था। डायबिटीज के कारण तीन-चार महीनों से वह काफी परेशान था। मृतक ने आत्महत्या करने से पहले दो सुसाइड नोट तैयार किए थे। एक को उसने अपने घर छोड़ा व दूसरा शर्ट की जेब में डालकर रेलवे ट्रैक की तरफ निकल गया। पुलिस ने शव का पीएम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया। घटना के कारण मालगाड़ी करीब डेढ़ घंटे तक रेलवे फाटक के पास आउटर सिग्नल के अंदर खड़ी रही। रेलवे फाटक बंद होने से दोनों ओर वाहनों की कतारें लग गई। ट्रैक के पास बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए। मालगाड़ी के नीचे से शव निकालने के बाद ज्योंही गाड़ी को आगे बढ़ाया तो चढ़ाई होने से पावर फेल हो गया। इसके चलते ट्रेन करीब 15 मिनट तक अटकी रही। रेलवे अधिकारियों के निर्देश पर मालगाड़ी को वापस भगेगा स्टेशन की तरफ पीछे ले जाया गया।

पैसेंजर ट्रेन भी हुई प्रभािवत
तीन घंटे तक बाधित रहे रेवाड़ी-फुलेरा ब्रॉडगेज रूट पर पैसेंजर ट्रेन भी प्रभावित हुई। स्टेशन मास्टर रामस्वरूप मीणा ने बताया कि नीमकाथाना स्टेशन पर दोपहर दो बजे आने वाली फुलेरा-रेवाड़ी पैसेंजर ट्रेन एक घंटा देरी से पहुंची। वहीं भगेगा में मालगाड़ी को खड़ा रखना पड़ा। पैसेंजर ट्रेन लेट होने से यात्रियों को भी परेशानी हुई। रेलवे फाटक पर 12.15 पर हुई घटना के बाद दूसरा इंजन लगाकर 2.52 पर मालगाड़ी को निकाला जा सका। लेकिन वाहनों की रेलमपेल के कारण फाटक को बीच में ही बंद करना पड़ा।