पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पाटन होगी नई पंचायत समिति, पुनर्गठन में 14 ग्राम पंचायतें मिली जिले को

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सीकर। पंचायतों के पुनर्गठन को लेकर जिले को बड़ा झटका लगा है। सिर्फ पाटन को पंचायत समिति बनाया गया है। अब सीकर जिले में कुल नौ पंचायत समिति हो जाएंगी। वहीं 14 ग्राम पंचायतों पर भी मुहर लग चुकी है। नए फैसले के बाद जिले में ग्राम पंचायतों की संख्या 343 हो जाएगी। भाजपा जिलाध्यक्ष झाबरसिंह खर्रा सरकार के फैसले से सहमत नहीं हैं। उन्होंने उन्होंने कहा कि पलसाना को पंचायत समिति बनाना चाहिए था। मैं इस बारे में सरकार से बात करूंगा।
जिले को पंचायतों के पुनर्गठन में 14 ग्राम पंचायतें तो मिली, लेकिन पंचायत समिति के मामले में निराशा हाथ लगी। सरकार ने पाटन को तो पंचायत समिति का दर्जा दे दिया, लेकिन सीकर ग्रामीण, नेछवा और पलसाना की दावेदारी खारिज कर दी। पाटन नई पंचायत समिति बनने से अब ग्रामीणों को जन्म-मृत्यु प्रमाण-पत्र बनवाने सहित विकास कार्यों के लिए दूर नहीं जाना होगा। गुरुवार को पंचायतीराज विभाग ने अधिसूचना का जारी कर दी।

विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक नीमकाथाना, लक्ष्मणगढ़ और फतेहपुर पंचायत समिति का पुनर्गठन किया है। जिले से सैकंड फेज में भेजे प्रस्तावों को खारिज कर दिया गया है। सूत्रों के अनुसार, पाटन को पंचायत समिति बनाने के लिए लंबे वक्त से मांग थी। जिसे मंत्रिमंडल की बैठक में मंजूरी दे दी गई। इसके अलावा लक्ष्मणगढ़ से ग्राम पंचायतों के प्रस्तावों को नियम-विरुद्ध बताते हुए खारिज कर दिया गया है। पिपराली में धर्मशाला, कुशलपुरा, भदाला की ढाणी, शिवसिंहपुरा, फतेहपुर में ठेढ़ी, दांतारामगढ़ में मदनी, खंडेला में मेहरों की ढाणी, नीमकाथाना में हीरा नगर, आगरी, जुगलपुरा, नापावाली, सकराय, कुरबड़ा और पाटन में मोहराना को ग्राम पंचायत बनाया गया है। विभागीय सूत्रों के अनुसार इनकी घोषणा शुक्रवार तक हो सकती है।

इनको किया खारिज
नेछवा को पंचायत समिति बनाने का प्रस्ताव था, जिसे मंजूरी नहीं मिली है। सूत्रों के अनुसार, जिले से प्रथम फेज में 45 ग्राम पंचायतों का प्रस्ताव था, लेकिन 14 को ही हरी झंडी मिली है। ज्यादातर ग्राम पंचायतों के प्रस्ताव नियम-विरुद्ध तैयार किए गए थे।
पंचायत चुनाव इसी आधार पर होंगे
फरवरी 2015 में होने वाले पंचायत चुनाव में कई ग्राम पंचायतों की तस्वीर बदल जाएगी। अब जिले में 343 सरपंच चुने जाएंगे।