थानाधिकारी से मारपीट मामले में सरपंच सहित चार को तीन साल की कैद

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

श्रीमाधोपुर.


एसीजेएम कोर्ट श्रीमाधोपुर ने 2007 में अजीतगढ़ के तत्कालीन थानाधिकारी के साथ मारपीट व राजकार्य में बाधा के मामले में मंडूस्या सरपंच जगदीश गुर्जर सहित चार आरोपियों को तीन तीन साल की कठोर कैद की सजा सुनाई है। आरोपियों पर चार चार हजार का जुर्माना भी लगाया गया है।


जानकारी के मुताबिक पांच मार्च 2007 को तत्कालीन अजीतगढ़ थाना प्रभारी जितेन्द्र कुमार गंगवानी मंडूस्या गांव में आरोपी जगदीश गुर्जर के घर उसके खिलाफ दर्ज अन्य मामले की जांच के लिए गए थे। उस समय थाने का अन्य जाप्ता भी साथ था। थानाप्रभारी ने उससे पूछताछ करनी चाही तो उसने वहीं के बनवारीलाल पुत्र नाथूराम गुर्जर, सुरेश व सांवर मल पुत्रगण धूणा राम गुर्जर व अन्य को मौके पर बुला लिया।आरोपियों ने थानाप्रभारी व पुलिस जाप्ते के साथ मारपीट की और सरकारी वाहन को नुकसान पहुंचाया। थानाप्रभारी गंगवानी ने इस घटना के संबंध में मारपीट व राजकार्य में बाधा का मुकदमा दर्ज करवाया था। पुलिस ने इस मामले में उक्त चारों आरोपियों के खिलाफ चालान पेश किया था। जिस पर एसीजेएम द्वितीय पवन कुमार ने आरोपियों को सजा सुनाई है। आरोपी जगदीश गुर्जर उस समय ग्राम पंचायत का सरपंच नहीं था।