बुरे भावों को ग्रहण मत करो : मुनि सुधा सागर

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
उदयपुर | मुनिसुधा सगार ने कहा कि लोगों के चाल-चलन से ही उसका भविष्य पता चल जाता है। मुनिश्री गुरूवार को सेक्टर-5 स्थित शांतिनाथ दिगंबर जैन चेत्यालय मन्दिर के प्रवचन सभा में बोल रहे थे। मुनिश्री ने कहा कि बुरे भावों को ग्रहण मत करो, अच्छी भावना ग्रहण करने की जरूरत नहीं फिर। क्योंकि इसका संचार खुद ही हो जाता है। सह प्रचार मंत्री राकेश जैन ने बताया कि मंगलाचरण, आचार्य विद्यासागर के चित्र का अनावरण, दीप प्रज्ज्वलन, शास्त्र दान और गुरु का पाद प्रक्षालन हुआ। मुनिश्री ने शाम 5 बजे नेमी नाथ मन्दिर को विहार किया। प्रचार मंत्री शांति कुमार कासलीवाल ने बताया कि मुनिश्री श्रावकों को सुबह प्रतिदिन 5.30 बजे से दो घंटे तीन दिन तक अभिषेक विधि और गंधोदक का महत्व बताएंगे।

खबरें और भी हैं...