पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • 544 प्रधानाचार्यों को बनाया पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी

544 प्रधानाचार्यों को बनाया पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रारंभिकशिक्षाकी नींव सुधारने के लिए राज्य सरकार ने ग्राम पंचायतों के आदर्श विद्यालय के प्रधानाचार्य को पदेन पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी प्रभारी बनाया है। आदेश जारी कर उदयपुर जिले की 544 पंचायतों के आदर्श विद्यालय के प्रधानाचार्य को कार्यभार सौंपा है। आदेशानुसार प्रारंभिक और माध्यमिक शिक्षा के विद्यालय में निरीक्षण के लिए प्रत्येक पंचायत पर 3 पंचायत सहायक लगाए जाएंगे। प्रत्येक पंचायत पर 3 पंचायत सहायकों को नियुक्त करने का काम प्रधानाचार्य का होगा। जिले में 1632 पंचायत सहायकों की नियुक्ति करनी होगी। जिनका काम विद्यालयों का निरीक्षण करने के साथ शिक्षकों की कमी वाले स्कूलों में पढ़ाना भी होगा। इसके तहत कई को रोजगार भी मिलेगा। जानकारी के अनुसार राज्य सरकार ने इनका मानदेय 6 हजार निर्धारित किया है। शिक्षा विभाग 17 फरवरी को सहायकों का चयन होगा। इसके लिए 16 फरवरी तक आवेदन कर सकते हैं। खास बात यह है कि ब्लाॅक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी के कार्यों को लेकर कोई आदेश जारी नहीं किया है।

^प्रधानाचार्य को कार्यभार सौंप दिया गया है। अब उन्हें पंचायत सहायक नियुक्त करने होंगे। शिवजीगौड़, जिला शिक्षा अधिकारी, माध्यमिक (प्रथम)

इसलिए आदेश किए जारी

शिक्षाअधिकारियों का कहना है कि एक ब्लाॅक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी के पास लगभग 200 उच्च प्राथमिक और प्राथमिक विद्यालय का कार्यभार रहता है। जिले में 17 ब्लॉक में लगभग 3400 प्रारंभिक शिक्षा के स्कूल हैं। बीईईई कार्यालय में पदों की कमी और एक साथ इतने स्कूलों को देखने में समस्याएं आती हैं। इस कारण पंचायत स्तर पर प्रधानाचार्य को पदभार दिया गया है। माध्यमिक शिक्षा के जिले में 651 स्कूल हैं, यह भी इनके अंडर में ही रहेंगे। जिले में 544 पंचायतों में से 36 पंचायतों में आदर्श विद्यालय में प्रधानाचार्यों के पद खाली हैं। इसके लिए नजदीकी पंचायत के प्रधानाचार्य को चार्ज दिया गया है।

खबरें और भी हैं...