10 करोड़ में बनी ये गोशाला, हाईटेक मशीनों से होती गायों की सेवा / 10 करोड़ में बनी ये गोशाला, हाईटेक मशीनों से होती गायों की सेवा

25 बीघा में बनी इस गोशाला पर अब तक 10 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं। 80 लोग देखभाल करते है।

सुधीर पुरोहित

Aug 26, 2016, 12:01 AM IST
सिटिंग अरेजमेंट कंपाउंड में लगी काउ ब्रश मशीन का उपयोग करती गाय। सिटिंग अरेजमेंट कंपाउंड में लगी काउ ब्रश मशीन का उपयोग करती गाय।
नाथद्वारा(राजस्थान). जयपुर के पास हिंगोनिया गोशाला में भले ही गायों की मौतें हो रही हों पर नाथद्वारा के पास संत कृपा सनातन संस्थान द्वारा संचालित केंद्र गायों की सेवा व देखभाल के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित कर रहा है। इस केंद्र पर ऑटोमैटिक मशीनों से गायों की सेवा की जा रही है। 25 बीघा में बनी इस गोशाला पर अब तक 10 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं। 80 लोग देखभाल करते है। हाईटेक मशीनों से लैस...

- गोशाला के मैनेजर लक्ष्मीकांत शर्मा के अनुसार गायों को घास खिलाने, दूध निकालने, दूध नापने सहित ज्यादातर काम ऑटोमैटिक और हाईटेक मशीनों से किए जाते हैं।
- केंद्र 2001 में 100 गायों के साथ शुरू हुआ था। अब यहां कुल 1331 गाय हैं।
- यहां प्रतिदिन 650 लीटर दूध निकलता है जो बाजार में बेचा जाता है। गोशाला में बायो गैस प्लांट है।
- गायों को सूखे चारे के रूप में ज्वार की कुट्टी, गेहूं, मैथी, ग्वार, मसूर का खांखला और हरे चारे के रूप में ज्वार, बाजरा व रिजका दिया जाता है।
- गोशाला पर प्रतिमाह करीब 15 से 16 लाख रु. खर्च करता है और दूध व कंपोस्ट खाद के विक्रय से कुल 7 लाख रुपए की आय होती है।
ऑटोमैटिक मशीन से रखते है बीमारियों की निगरानी

- गोशाला में मौजूद सभी गायों के गले में ऑटोमैटिक मेडिकल बेल्ट लगा रखे हैं।
- इन बेल्ट्स पर लगे कार्ड में गायों का ब्लडप्रेशर, प्रेग्नेंट होने का समय व बीमारियां आदि का उल्लेख रहता है।
- यहां गायों के लिए ऑटोमैटिक काउ-ब्रश की भी व्यवस्था है।
- गोशाला में सफाई का विशेष ध्यान रखा जाता है। यह गो सेवा केंद्र मिराज ग्रुप की ओर से संचालित किया जा रहा है।
- मिराज ग्रुप के सीएमडी मदन पालीवाल के अनुसार गायों के पोषण और संरक्षण के लिए यहां पूरा ध्यान रखा जाता है।
- यहां गायों की देखरेख के लिए 80 लोगों की टीम रखी गई है। इसके अलावा एडवांस मशीनों का भी सहारा लिया जाता है।
ये राजनेता कर चुके है दौरा : पूर्व उपराष्ट्रपति भैरो सिंह शेखावत, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, भवानी सिंह राजावत, राजेंद्र सिंह राजपुरोहित, गोपालन मंत्री ओटा राम देवासी सहित कई प्रमुख लोग गोशाला की व्यवस्थाओं का जायजा ले चुके हैं।
आगे की स्लाइड्स में देखिए इस गौशाला की फोटोज।
ऑटोमैटिक मशीनों से दिया जाता है चारा। ऑटोमैटिक मशीनों से दिया जाता है चारा।
दूध निकालने के लिए भी खास व्यवस्था। दूध निकालने के लिए भी खास व्यवस्था।
गायों को सूखे चारे के रूप में ज्वार की कुट्टी, गेहूं, मैथी, ग्वार, मसूर का खांखला और हरे चारे के रूप में ज्वार, बाजरा व रिजका दिया जाता है। गायों को सूखे चारे के रूप में ज्वार की कुट्टी, गेहूं, मैथी, ग्वार, मसूर का खांखला और हरे चारे के रूप में ज्वार, बाजरा व रिजका दिया जाता है।
यहां कुल 1331 गाये हैं। यहां कुल 1331 गाये हैं।
यहां गायों की देखरेख के लिए 80 लोगों की टीम रखी गई है। यहां गायों की देखरेख के लिए 80 लोगों की टीम रखी गई है।
सफाई के लिए भी लगी हैं मशीने सफाई के लिए भी लगी हैं मशीने
गोशाला में बायो गैस प्लांट है। गोशाला में बायो गैस प्लांट है।
गोशाला में मौजूद सभी पशुओं के गले में स्वचालित मेडिकल बेल्ट लगा रखे हैं। गोशाला में मौजूद सभी पशुओं के गले में स्वचालित मेडिकल बेल्ट लगा रखे हैं।
X
सिटिंग अरेजमेंट कंपाउंड में लगी काउ ब्रश मशीन का उपयोग करती गाय।सिटिंग अरेजमेंट कंपाउंड में लगी काउ ब्रश मशीन का उपयोग करती गाय।
ऑटोमैटिक मशीनों से दिया जाता है चारा।ऑटोमैटिक मशीनों से दिया जाता है चारा।
दूध निकालने के लिए भी खास व्यवस्था।दूध निकालने के लिए भी खास व्यवस्था।
गायों को सूखे चारे के रूप में ज्वार की कुट्टी, गेहूं, मैथी, ग्वार, मसूर का खांखला और हरे चारे के रूप में ज्वार, बाजरा व रिजका दिया जाता है।गायों को सूखे चारे के रूप में ज्वार की कुट्टी, गेहूं, मैथी, ग्वार, मसूर का खांखला और हरे चारे के रूप में ज्वार, बाजरा व रिजका दिया जाता है।
यहां कुल 1331 गाये हैं।यहां कुल 1331 गाये हैं।
यहां गायों की देखरेख के लिए 80 लोगों की टीम रखी गई है।यहां गायों की देखरेख के लिए 80 लोगों की टीम रखी गई है।
सफाई के लिए भी लगी हैं मशीनेसफाई के लिए भी लगी हैं मशीने
गोशाला में बायो गैस प्लांट है।गोशाला में बायो गैस प्लांट है।
गोशाला में मौजूद सभी पशुओं के गले में स्वचालित मेडिकल बेल्ट लगा रखे हैं।गोशाला में मौजूद सभी पशुओं के गले में स्वचालित मेडिकल बेल्ट लगा रखे हैं।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना