पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रात 12 बजे उदियापोल पर चक्काजाम किया

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
उदयपुर. ग्यारह ट्रेड यूनियनों के आह्वान पर उनके स्थानीय संगठन 20 व 21 फरवरी को हड़ताल करेंगे। हड़ताली संगठनों ने माइकर चेक ट्रांजेक्शन यूनिट वाले निजी बैंकों में भी कामकाज ठप करने की घोषणा की है।
बिजली, रोडवेज सहित कई विभागों के अधिकारियों ने हड़ताल से निबटने की तैयारी में अधिकारियों व काम पर आने वाले कर्मचारियों से सहयोग का निर्णय लिया है। इसके अलावा हड़ताल पर कर्मचारियों को जाने से रोकने के लिए हिदायत भी दी जा रही है। ऑटो यूनियन के भी हड़ताल पर जाने की संभावनाएं हैं। ऐसे में स्कूल, कॉलेज व दफ्तरों में जाने वाले भी परेशान हो सकते हैं। रोडवेज में कार्यरत चारों कर्मचारी संगठनों ने मंगलवार रात्रि 12 बजे ही चक्काजाम कर दिया।
रोडवेज में एक दिन पहले शुरू हुआ विरोध : रोडवेज प्रबंधन ने हड़ताल पर शामिल कर्मचारियों पर काम नहीं तो वेतन नहीं की कार्रवाई करने व अस्थाई कर्मचारियों पर सेवाओं में व्यवधान की कार्रवाई का निर्णय लिया है। इसके खिलाफ मंगलवार को कर्मचारियों ने नारेबाजी की। इंटक के महेश उपाध्याय, हेमंद्र, लाभचंद खटीक, इनायत खां, एटक के अशोक सांखला, अनीस मोहम्मद, बीएमएस के बख्शीराम चौधरी, लोकेश दाधीच, सीटू के विजेंद्र चौधरी व नरेंद्र बेनीवाल के नेतृत्व में कर्मचारियों ने बस स्टैंड पर सांकेतिक हड़ताल कर अपना विरोध जताया।
आज रैली और सभा
बुधवार दोपहर को सभी कर्मचारी नगर परिषद प्रांगण में एकत्रित होंगे और अपने-अपने संगठनों के बैनर तले बापूबाजार, झीणी रेत, घंटाघर, अश्विनी बाजार होते हुए कलेक्ट्री तक रैली निकालेंगे। वहां विशाल सभा की जाएगी। गुरुवार को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा। यह जानकारी संयोजक पीएस खींची ने दी। इसकी तैयारी को लेकर मंगलवार शाम को एलआईसी भवन में सभी संगठनों के प्रमुख पदाधिकारियों की बैठक रखी गई। इसमें तैयारी पर चर्चा की गई।
कहां, क्या असर होगा
उद्योग : मादड़ी, गुड़ली सहित अन्य औद्योगिक क्षेत्रों के उद्योगों में कर्मचारी व मजदूर संगठन कार्यरत हैं। यहां व्यक्तिगत मिलकर और टेम्पो से प्रचारित कर हड़ताल का आह्वान किया गया। कई उद्यमियों को भी इसकी सूचना दी गई है। वहां कामकाज ठप होने की स्थिति है।
बिजली विभाग : करीब अस्सी प्रतिशत कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे। एईएन, एक्सईएन और जेईएन स्तर के अधिकारियों को अलर्ट किया गया। कंट्रोल रूम 24 घंटे मुस्तैद रहेगा और काम पर आने वाले कर्मचारियों से मदद लेकर फाल्ट सुधारे जाएंगे।
बैंक : शहर में दो माइकर चेक डिस्ट्रीब्यूशन यूनिट हैं। इसमें से एक हड़ताल में शामिल है तथा दूसरे में कामकाज ठप कराने की घोषणा की गई है। एचडीएफसी की दुर्गा नर्सरी शाखा को भी बंद कराया जाएगा। साथ ही प्राइवेट बैंकों को भी दबाव बनाकर बंद में शामिल किया जा सकता है।
बड़े उद्योग : हिंदुस्तान जिंक, आरएसएमएम सहित अन्य बड़े उद्योगों में कार्यरत कर्मचारियों के संगठनों ने भी हड़ताल पर जाने की चेतावनी उच्च स्तर पर दे दी है। इसका असर इन उद्योगों में तीन शिफ्ट में चलने वाले कामकाज पर पड़ेगा।
रोडवेज : यहां से संचालित होने वाली बसों के अलावा बाहर से आने वाली बसों को भी यहीं रोका जाएगा। ग्रामीण बस सेवा को भी इसमें शामिल किया गया है। इससे निजी बसों पर ही आवागमन संभव होगा।
ऑटो : ऑटो यूनियन ने अभी तक हड़ताल पर जाने की सूचना नहीं दी है। ठेला व्यवसायी एकता यूनियन ने भी एक दिवसीय समर्थन दिया है। वे अपना व्यापार बंद रखेंगे। ऑटो बंद होने की स्थिति में स्कूल, कॉलेजों को जाने वाले बच्चों पर भी असर पड़ सकता है।
डाक : डाक विभाग के कर्मचारियों के हड़ताल पर होने से दो दिन तक डाक वितरण व डाक विभाग से संबंधित कामकाज प्रभावित रहेगा। इसके अलावा एलआईसी की प्रीमियम सहित अन्य लेन देन भी ठप रहेगा।