पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • It Was Hockey Wizard, But Not The Last Time Nshib

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

था वो हॉकी का जादूगर,लेकिन अंतिम समय में हॉस्पिटल में बैड तक नशीब नहीं हुआ!

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

उदयपुर.मिस्टर ध्यानचंद्र. जिस तरह से क्रिकेट में रन बनते हैं,आप वैसे ही हॉकी में गोल करते हो। 1935 में यह बात क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले आस्ट्रेलिया के महान बल्लेबाज डॉन ब्रेडमैन ने हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद्र से कही थी।

रूडोल्फ हिटलर भी मेजर के स्टिकवर्क का कायल था क्योंकि ध्यानचंद्र के नेतृत्व में भारतीय टीम ने 1936 में जर्मन टीम को उसी के मैदान में 15 गोलों से मात दी थी। मेजर ध्यानचंद्र, उनकी बेहतरीन हॉकी और उनके जीवन से जुड़े कई दिलचस्प घटनाओं का जिक्र किया गया है शोधार्थी और हॉकी प्रशिक्षक कुलदीप सिंह के शोधपत्र में।

बीती दस जुलाई को सुखाड़िया विश्वविद्यालय ने झाला को पीएचडी अवार्ड की। उन्होंने यह शोध असिस्टेंट प्रोफेसर डा.विशन सिंह राठौड़ की देखरेख में किया है। शोध में इस बात का भी जिक्र है कि भारत को लगातार 3 ओलंपिक में हॉकी का स्वर्ण पदक दिलाने वाले मेजर ध्यानचंद को अपने अंतिम समय में इलाज के दौरान दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में बैड तक नहीं मिला।

झाला के शोध में मेजर के साथ उनके भाई कैप्टन रूप सिंह, पुत्र अशोक कुमार (वल्र्ड कप फाइनल में गोल्डन गोल कर जीत दिलाने वाले), राजकुमार सिंह व देवेंद्र सिंह, भतीजे भगतसिंह और नातिन नेहा सिंह के बारे में भी जानकारियां हैं जो हॉकी के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी थे।

ऐसे पूरा हुआ शोध :

झाला ने यह शोध केंद्रीय विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर राठौड़ के नेतृत्व में दिसंबर 2009 में शुरू किया था और जनवरी 2012 में विश्वविद्यालय में सबमिट किया। झाला ने शोध की शुरुआत 2010 में नई दिल्ली में हुई वल्र्ड कप हॉकी से की। वहां मेजर के बेटे अशोक कुमार और कई खिलाड़ियों से मिलकर मेजर से जुड़े कई दस्तावेज एकत्रित किए। फिर मेजर के पैतृक निवास झांसी से भी तथ्य जुटाए।

जहां से खेलना शुरू किया, वहीं हुआ अंतिम संस्कार :

प्रयाग (इलाहाबाद) में जन्मे मेजर ध्यानचंद ने झांसी के हीरो ग्राउंड पर हॉकी खेलना शुरू किया था। निधन के बाद उनका अंतिम संस्कार भी इसी मैदान पर हुआ। शोध में कई अनछुए पहलु भी सामने आए हैं। एक जगह क्रिकेट के भगवान डॉन ब्रेडमैन के बयान (1935) का उल्लेख है, जिसमें उन्होंने कहा था कि क्रिकेट में जिस तरह रन बनते हैं, उसी तरह से आप (मेजर ध्यानचंद) गोल करते हैं।



आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

और पढ़ें