पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जमीन घोटाले की जांच में खुले कई बड़े नाम

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
उदयपुर। भुवाणा में बेशकीमती जमीन के घोटाले की जांच के दायरे में आए बड़े व्यवसायियों के खिलाफ पुलिस ने पर्याप्त सबूत जुटा लिए हैं। इस मामले की दो बार जांच हो चुकी है और तीसरी बार अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जांच कर रहे हैं। इन जांचों में भूमि व्यवसायियों पर लगे आरोपों की प्रथम दृष्ट्या पुष्टि हो चुकी है। एक आरोपी को हिरासत में लेने के बाद अब बड़े व्यवसायियों को गिरफ्तार करने की तैयारी की जा रही है। गत वर्ष सितंबर में भुवाणा निवासी एक व्यक्ति की ओर से दर्ज एफआईआर में 24 जनों पर फर्जी दस्तावेज तैयार कर जमीन की 90 बी करने का आरोप लगाया था। पुलिस ने शुक्रवार को इस मामले से जुड़े आरोपी दिनकर मोगरा को गिरफ्तार कर लिया। न्यायालय ने दिनकर को दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है। जबकि पुलिस ने अन्य मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की है। ऐसे पहुंची एएसपी तक जांच वरदा डांगी की ओर से एफआईआर दर्ज होने के बाद मामले की जांच अंबामाता एएसआई भंवर सिंह ने की। इसमें शांतिलाल मेहता सहित कुछ अन्य लोगों के नाम सामने आए। इसके बाद आरोपियों की ओर से निष्पक्ष जांच की मांग की गई। फिर जांच घंटाघर के तत्कालीन थानाधिकारी हरेन्द्र सिंह के पास गई। इसमें भी मेहता सहित अन्य आरोपियों के नाम सामने आए। गिरफ्तारी के डर से मेहता ने हाइकोर्ट में एफआईआर निरस्त करने की याचिका लगाई। आदेश पर जांच अधिकारी हरेंद्र सिंह एफआईआर और जांच के दस्तावेज लेकर पेश हुए तो मामले में यूआईटी अधिकारियों के नाम देख हाईकोर्ट ने इसकी जांच एएसपी स्तर के अधिकारी से कराने के आदेश दे दिए। रात दो बजे तक पूछताछ एएसपी तेजराज सिंह के दफ्तर में शांतिलाल मेहता से गुरुवार दोपहर शुरू हुई पूछताछ रात करीब दो बजे तक चली। पुलिस ने शांति लाल को शुक्रवार को पूछताछ के लिए बुलाया। सूत्रों के अनुसार जमीन के एग्रीमेंट, बंटवारे आदि में शांतिलाल की मुख्य भूमिका रही थी। ऐसे में पुलिस पहले उसी से पूछताछ कर रही है। संभावना जताई जा रही है कि पुलिस जांच के दौरान इस मामले में कई बड़े नाम सामने आ सकते हैं। हर तरफ से आ रहा है दबाव पुलिस सूत्रों के अनुसार इस मामले को दबाने के लिए कई राजनेताओं का दबाव आ रहा है। इससे पुलिस के अनुसंधान प्रभावित होने की आशंका है। इस बारे में शुक्रवार शाम आईजी टीसी डामोर ने भी इसकी जानकारी ली। यूआईटी से दस्तावेज मांगे हैं अभी अनुसंधान चल रहा है। मामले से जुड़े दस्तावेज यूआईटी से मांगे गए हैं, जो अभी तक नहीं मिले हैं। मामले में एक आरोपी की गिरफ्तारी की गई है। पूरा मामला दस्तावेजों पर आधारित है। दस्तावेज और अनुसंधान में जो-जो आरोपी सामने आएंगे, उन पर कार्रवाई होगी। हरिप्रसाद शर्मा, पुलिस अधीक्षक

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

और पढ़ें