पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • नीतीश के करीबी बाहुबली मनोरंजन सिंह 2010 में चौथी बार विधायक बने थे।

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

1978 में मोस्ट वांटेड था JDU का ये बाहुबली MLA, मुंबई तक थी इसकी धमक

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इलेक्शन डेस्क. सारण जिले की एकमा विधानसभा सीट से JDU के उम्मीदवार और मौजूदा विधायक का नाम भी बिहार के बाहुबलियों में शामिल है। 1978 से लेकर अगले कई सालों तक ये पुलिस की मोस्ट वांटेड लिस्ट में शामिल रहे हैं। इनका नाम है- मनोरंजन सिंह उर्फ धूमल। ये वो बाहुबली विधायक हैं जिनकी इजाजत के बिना सारण में परिंदा भी पर नहीं मार सकता। वैसे तो इनके खिलाफ बिहार, यूपी, झारखंड, दिल्ली और मुंबई में लूट, हत्या व अपहरण के 174 केस दर्ज हैं, लेकिन पिछले विधानसभा चुनाव में दायर अपने एफिडेविट में इन्होंने सिर्फ 6 गंभीर और 18 हल्के क्रिमिनल केस की ही जानकारी दी थी। गंभीर अपराधों में धूमल सिंह के खिलाफ 4 केस हत्या के ही हैं। इसके अलावा इनके खिलाफ हत्या के प्रयास का भी एक मामला दर्ज है।
नीतीश के करीबी हैं मनोरंजन, 2000 में ज्वाइन की थी पॉलिटिक्स
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी मनोरंजन सिंह ने 2010 के विधानसभा चुनाव में RJD के कामेश्वर कुमार सिंह को 29201 वोटों के अंतर से हराया था। तब ये चौथी बार विधायक बने थे। 2014 के आम चुनाव में भी धूमल ने अपनी किस्मत आजमाई थी और महाराजगंज लोकसभा सीट से JDU के टिकट पर लड़े थे, पर इन्हें हार का सामना करना पड़ा था। इन्होंने वर्ष 2000 में बतौर निर्दलीय बनियापुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक की पारी शुरू की थी। नए परिसीमन के बाद 2010 के विधानसभा चुनाव में धूमल ने अपना क्षेत्र बदल एकमा से चुनाव लड़ा था। इससे पहले बनियापुर से इन्होंने फरवरी 2005 का चुनाव LJP और नवंबर 2005 का चुनाव JDU के टिकट पर जीता था।
हमेशा लकी रहा है पत्नी का नॉमिनेशन

मनाेरंजन सिंह की पत्नी सीता देवी ने 2010 में उनके खिलाफ निर्दलीय के तौर पर नॉमिनेशन दाखिल किया था, पर वो हार गई थीं। असल बात ये है कि सीता देवी को चुनाव जीतने से कोई मतलब नहीं था। चूंकि धूमल उन्हें अपने लिए लकी मानते हैं, लिहाजा उनके कहने पर ही सीता देवी ने पर्चा भरा था। हालांकि वोट उन्होंने अपने पति के लिए मांगा था। इससे पहले 2005 के विधानसभा चुनाव में जब धूमल जेल में थे, उस वक्त भी सीता देवी ने उनके चुनाव में अहम भूमिका निभाई थी और पति के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ा था। उस बार भी धूमल चुनाव जीतने में सफल रहे थे।
सरकारी जमीन पर कब्जे का भी लग चुका है आरोप

मनोरंजन सिंह पर अक्टूबर 2014 में 37 एकड़ सरकारी जमीन पर कब्जा करने का आरोप भी लग चुका है। इनके खिलाफ बिहार हाउसिंग फेडरेशन की ओर से राजीव नगर थाने में इस बारे में मुकदमा दर्ज कराया गया था। इस मामले में JDU विधायक प्रदीप महतो और 40 अन्य लोगों को भी आरोपी बनाया गया था। मनोरंजन जब बनियापुर के विधायक थे तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इनके पैतृक घर पहुंचकर इनके साथ लंच किया था। नीतीश के इस कदम की काफी आलोचना हुई थी।
आगे की स्लाइड्स में देखिए...नीतीश कुमार के साथ मनोरंजन सिंह को, साथ ही बाकी के फोटोज...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें