क्रिकेट रोचक

--Advertisement--

जब धोनी से हुई तुलना, तो इस क्रिकेटर ने कहा, 'वो टॉपर हैं, मैं तो स्टूडेंट ही हूं'

दिनेश कार्तिक ने सितंबर 2004 में इंग्लैंड में हुई चैम्पियन्स ट्रॉफी के दौरान इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था।

Dainik Bhaskar

Mar 21, 2018, 04:06 PM IST
दिनेश कार्तिक का कहना है कि 'जब धोनी की बात आती है तो बता दूं कि मैं तो अभी उस यूनिवर्सिटी में पढ़ ही रहा हूं, जहां के वे टॉपर हैं। वे ऐसे प्लेयर हैं जिनको मैं हमेशा देखता आया हूं। उनके साथ मेरी तुलना बिल्कुल गलत होगी।' दिनेश कार्तिक का कहना है कि 'जब धोनी की बात आती है तो बता दूं कि मैं तो अभी उस यूनिवर्सिटी में पढ़ ही रहा हूं, जहां के वे टॉपर हैं। वे ऐसे प्लेयर हैं जिनको मैं हमेशा देखता आया हूं। उनके साथ मेरी तुलना बिल्कुल गलत होगी।'

स्पोर्ट्स डेस्क. श्रीलंका में हुई निदाहास ट्रॉफी के फाइनल में इंडियन विकेटकीपर-बैट्समैन दिनेश कार्तिक ने मैच की लास्ट बॉल पर सिक्स लगाते हुए टीम इंडिया को चैम्पियन बनाया था। इसके बाद से ही रातोंरात स्टार बने इस क्रिकेटर की तुलना टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी से हो रही है। कार्तिक को भी धोनी की तरह बेस्ट फिनिशर कहा जाने लगा है। लेकिन इस बारे में कार्तिक का सोचना अलग है। उनका कहना है कि वे तो टॉपर हैं, और मैं तो अभी सिर्फ यूनिवर्सिटी स्टूडेंट ही हूं। धोनी से तुलना को बताया गलत...

- चेन्नई में मीडिया पर्सन्स से बातचीत के दौरान जब कार्तिक से धोनी और उनके बीच तुलना के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा, 'जब धोनी की बात आती है तो बता दूं कि मैं तो अभी उस यूनिवर्सिटी में पढ़ ही रहा हूं, जहां के वे टॉपर हैं। वे ऐसे प्लेयर हैं जिनको मैं हमेशा देखता आया हूं। उनके साथ मेरी तुलना बिल्कुल गलत होगी।'

- भले ही दिनेश कार्तिक, धोनी को यूनिवर्सिटी टॉपर और खुद को स्टूडेंट बता रहे हों। लेकिन डेब्यू के मामले में कार्तिक उनसे सीनियर हैं।

4 महीने के गेप से किया था डेब्यू

- 32 साल के हो चुके कार्तिक ने सितंबर 2004 में इंग्लैंड में हुई चैम्पियन्स ट्रॉफी के दौरान इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था। जबकि धोनी ने इसके तीन महीने बाद दिसंबर में बांग्लादेश के खिलाफ हुई बाइलेटरल सीरीज में पहला इंटरनेशनल मैच खेला था।
- डेब्यू के बाद अगले 14 सालों में धोनी तो भारत के रेगुलर विकेटकीपर और काफी सक्सेसफुल क्रिकेटर भी बन गए। वहीं कार्तिक टीम में अंदर-बाहर होते रहे और जगह फिक्स नहीं कर सके।
- कार्तिक के मुताबिक, 'उनका (धोनी) करियर पूरी तरह से अलग रहा और मेरा करियर पूरी तरह से अलग रहा। वे बेहतरीन इंसान हैं, वे ऐसे हैं जो रिजर्व रहता है और शर्मीला है। आज वे ऐसे व्यक्ति हैं जो युवाओं की मदद के लिए खुलकर बोलते हैं। मेरा मानना है कि इस तरह की तुलना पूरी तरह से गलत है। जैसा मैंने कहा, उन्हें हम यूनिवर्सिटी टॉपर कह सकते हैं, जबकि मैं तो यहां पढ़ ही रहा हूं। मैं जिस स्थिति में हूं उससे खुश हूं।'

विजय शंकर का किया बचाव

- दिनेश कार्तिक ने फाइनल मैच में धीमी बैटिंग करने वाले विजय शंकर का बचाव भी किया। शंकर फाइनल में मुस्तफिजुर रहमान की बॉल को समझने में नाकाम रहे थे और 18वें ओवर में सिर्फ 1 रन ही बना सके थे।
- कार्तिक ने कहा, 'विजय शंकर के पास प्रतिभा है, उसने बॉलर के तौर पर शानदार परफॉर्म किया है। जो प्लेयर बैटिंग ऑलराउंडर हो उसने दबाव में भी अच्छा खेल दिखाया है। मुझे उसका फ्यूचर काफी शानदार नजर आ रहा है। उसका रवैया अच्छा है और वो स्पेशल टैलेंट है, जो कि उसे लंबे, लंबे वक्त तक खेलने में हेल्प करेगा।'

आगे की स्लाइड्स में देखें, निदाहास ट्रॉफी में दिनेश कार्तिक की जबरदस्त इनिंग के फोटोज...

निदाहास ट्रृॉफी के फाइनल में दिनेश कार्तिक ने विस्फोटक बैटिंग करते हुए 8 बॉल पर 29 रन बनाए थे। निदाहास ट्रृॉफी के फाइनल में दिनेश कार्तिक ने विस्फोटक बैटिंग करते हुए 8 बॉल पर 29 रन बनाए थे।
कार्तिक ने मैच की लास्ट बॉल पर सिक्स लगाते हुए टीम इंडिया को 4 विकेट से फाइनल जिताते हुए चैम्पियन बना दिया था। कार्तिक ने मैच की लास्ट बॉल पर सिक्स लगाते हुए टीम इंडिया को 4 विकेट से फाइनल जिताते हुए चैम्पियन बना दिया था।
निदाहास ट्रृॉफी के साथ इंडियन प्लेयर्स। निदाहास ट्रृॉफी के साथ इंडियन प्लेयर्स।
धोनी और दिनेश कार्तिक (फाइल फोटो)। धोनी और दिनेश कार्तिक (फाइल फोटो)।
X
दिनेश कार्तिक का कहना है कि 'जब धोनी की बात आती है तो बता दूं कि मैं तो अभी उस यूनिवर्सिटी में पढ़ ही रहा हूं, जहां के वे टॉपर हैं। वे ऐसे प्लेयर हैं जिनको मैं हमेशा देखता आया हूं। उनके साथ मेरी तुलना बिल्कुल गलत होगी।'दिनेश कार्तिक का कहना है कि 'जब धोनी की बात आती है तो बता दूं कि मैं तो अभी उस यूनिवर्सिटी में पढ़ ही रहा हूं, जहां के वे टॉपर हैं। वे ऐसे प्लेयर हैं जिनको मैं हमेशा देखता आया हूं। उनके साथ मेरी तुलना बिल्कुल गलत होगी।'
निदाहास ट्रृॉफी के फाइनल में दिनेश कार्तिक ने विस्फोटक बैटिंग करते हुए 8 बॉल पर 29 रन बनाए थे।निदाहास ट्रृॉफी के फाइनल में दिनेश कार्तिक ने विस्फोटक बैटिंग करते हुए 8 बॉल पर 29 रन बनाए थे।
कार्तिक ने मैच की लास्ट बॉल पर सिक्स लगाते हुए टीम इंडिया को 4 विकेट से फाइनल जिताते हुए चैम्पियन बना दिया था।कार्तिक ने मैच की लास्ट बॉल पर सिक्स लगाते हुए टीम इंडिया को 4 विकेट से फाइनल जिताते हुए चैम्पियन बना दिया था।
निदाहास ट्रृॉफी के साथ इंडियन प्लेयर्स।निदाहास ट्रृॉफी के साथ इंडियन प्लेयर्स।
धोनी और दिनेश कार्तिक (फाइल फोटो)।धोनी और दिनेश कार्तिक (फाइल फोटो)।
Click to listen..