--Advertisement--

जब दिनेश कार्तिक को रखा गया 'टॉर्चर रूम' में, नहाने के लिए थीं टूटी बाल्टी, सोने के लिए छोटा सा बिस्तर

नायर ने दिनेश कार्तिक का गेम बदलने के लिए उन्होंने ऐसी चीजें की जिसकी आप कल्पना नहीं कर सकते।

Danik Bhaskar | Mar 20, 2018, 03:24 PM IST
दिनेश कार्तिक। दिनेश कार्तिक।

निदाहास ट्रॉफी के फाइनल मैच में बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाफ यादगार पारी खेलने वाले भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक सुर्खियों में बने हुए हैं। आखिरी गेंद पर छक्का जड़ते हुए इंडियन क्रिकेट टीम को निदास ट्रॉफी में जीत दिलाने वाले कार्तिक को लेकर पूर्व क्रिकेटर और उनके दोस्त अभिषेक नायर ने बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने बताया है कि दिनेश कार्तिक का गेम बदलने के लिए उन्होंने ऐसी चीजें की जिसकी आप कल्पना नहीं कर सकते। टॉर्चर रूम में रहे दिनेश...

- दिनेश को फॉर्म में लाने के लिए उनके दोस्त ने उन्हें ‘टॉर्चर रूम’ में रखा। नायर ने बताया कि साल 2016 में आईपीएल शुरू होने से पहले घर में इस टॉर्चर रूम का बनाया गया था जिसे ‘हाउस ऑफ पेन’ नाम दिया गया था। उस वक्त कार्तिक का परफॉर्मेंस काफी निराशाजनक हो गया था, खराब प्रदर्शन से निराश इस बल्लेबाज ने खुद नायर से मदद मांगी थी, जिसके बाद नायर ने उनकी मदद करने का ये बेहद ही अनोखा रास्ता अपनाया।

ऐसा था ये टॉर्चर रूम
- यह कमरा बेहद सकरा था, शुरू होने के साथ ही खत्म हो जाता था। बाथरूम में शावर कभी काम करता तो कभी खराब हो जाता, बाल्टी और मग भी टूटे हुए दिए गए। इतना ही नहीं कार्तिक खुद इस कमरे की साफ सफाई के लिए जिम्मेदार थे। नायर ने इस कमरे के बारे में बात करते हुए कहा, ‘कार्तिक के लिए यह जेल की तरह था। उसे आरामदायक जिंदगी जीने की आदत थी। चेन्नई में वह बंगले में रहता था, लेकिन जब वह मेरे पास आया तब मैं उसे ऐसे जोन में लेकर जाना चाहता था, जिससे वह अनजान था।

दिन भर ऐसे पसीना बहाते थे कार्तिक
नायर ने आगे बताया कि वे कार्ति को दो बार ट्रेनिंग देते थे। दिन में जमकर जिम करते और फिर बैटिंग प्रैक्टिस करते। इसके बाद शुरू होता मेडिटेशन सेशन। कड़े अभ्यास का नतीजा रहा कि कार्तिक ने उस सीजन में गुजरात लायन्स के लिए अच्छा प्रदर्शन किया।’

फिर नेट प्रैक्टिस के लिए हायर किए 15 बॉलर
- 2016 में कड़ी प्रैक्टिस से कार्तिक का परफॉर्मेंस सुधरा तो वे दोबारा नायर के टॉर्चर हाउस लौटे। पर यहां नायर के पास कार्तिक के लिए कुछ नया था। नायर ने को लगता था कि कार्ति को हर तरह की बॉलिंग वेरिएशन खेलने के लिए और मेहनत करनी होगी। इसके लिए उन्होंने कार्तिक से 15 बॉलर्स किराए पर लेने की बात कही। इनके साथ वे पहले मुंबई से बेंगलुरु और चेन्नई पहुंचे। 15 बॉलर्स की अलग-अलग बॉलिंग को खेलकर कार्तिक की बैटिंग और मजूबत हुई। जबतक ये बॉलर्स कार्तिक के साथ रहे, उन्होंने इन सभी की फ्लाइट टिकट से लेकर रहने खाने तक का खर्चा उठाया।

नायर ने ना केवल कार्तिक का गेम बदला, बल्कि उन्होंने ऐसा ही कुछ साल 2011 में बल्लेबाज रोहित शर्मा के लिए किया था। नायर ने ना केवल कार्तिक का गेम बदला, बल्कि उन्होंने ऐसा ही कुछ साल 2011 में बल्लेबाज रोहित शर्मा के लिए किया था।
कार्तिक चाहते थे कि नायर वही प्लान जो शर्मा के लिए तैयार किया गया था, उन पर भी लागू करें, लेकिन उनके लिए नायर के पास अलग प्लान था। कार्तिक चाहते थे कि नायर वही प्लान जो शर्मा के लिए तैयार किया गया था, उन पर भी लागू करें, लेकिन उनके लिए नायर के पास अलग प्लान था।