पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मौका मिलते ही रायुडू ने लगाया 'चौका', विराट का जोखिम उठाना आया काम

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
फोटो : उमेश यादव की एक गेंद को खेलने के चक्कर में धमिका प्रसाद गिरते-गिरते बचे।
खेल डेस्क. अंबाती रायुडू (नाबाद 121 रन) और शिखर धवन (79) की पारियों से टीम इंडिया ने श्रीलंका के खिलाफ दूसरा वनडे जीत लिया। बैटिंग में ऊपरी क्रम में उतारे जाने का फायदा रायुडू ने शतक जड़कर उठाया। कटक में खेले गए मैच में रायुडू को पांचवें क्रम पर उतारा गया था, लेकिन अहमदाबाद में विराट ने उन्हें तीसरे क्रम पर उतारने का जोखिम उठाया। रायुडू ने भी निराश नहीं किया और करियर का पहला शतक लगाकर 5 नवंबर को 26वां बर्थडे मनाने वाले विराट को विजयी तोहफा दिया।

यहां से पलटा मैच, रायुडू बने जीत के हीरो

श्रीलंका ने 8 विकेट पर 274 रन बनाए, जवाब में भारतीय टीम की शुरुआत अपेक्षाकृत बेहतर नहीं रही। रहाणे (8) के मात्र 18 रनों के स्कोर पर आउट होने से पहला झटका लगा। सभी को उम्मीद थी कि पिछले मैच की तरह इस बार भी रैना तीसरे क्रम पर आएंगे, लेकिन विराट ने रायुडू को मौका दिया। मात्र 20 वनडे का अनुभव रखने वाले रायुडू ने आते ही आक्रमण की कमान संभाल ली। उन्होंने शिखर धवन और विराट के साथ बड़ी साझेदारी करते हुए टीम को 6 विकेट से जीत दिला दी।

दूसरे विकेट के लिए 122 रनों की साझेदारी

> रायुडू ने शिखर धवन के साथ दूसरे विकेट के लिए 20.1 ओवर में 122 रनों की साझेदारी की। इसमें धवन के 69 और रायुडू के 51 रन शामिल थे।
> धवन के आउट होने के बाद विराट के साथ मैन ऑफ द मैच रायुडू ने 16.1 ओवर में 116 रन जोड़े। इसमें रायुडू के 66 रन थे, जबकि 49 रन विराट ने बनाए।

विराट की बेस्ट कप्तानी, 14 में 11वीं जीत

विराट कोहली 1 रन से भले ही अर्धशतक चूक गए हों, लेकिन उन्होंने रायुडू को ऊपरी क्रम पर भेजकर समझबूझ का अच्छा परिचय दिया। कप्तान के तौर पर विराट का यह 14वां मैच रहा। इसमें से 11 में विराट की टीम ने जीत दर्ज की है। विराट ने 44 गेंदों पर दो चौके और दो छक्के जड़ते हुए 49 रन बनाए।

गेंदबाजी अब भी कमजोर

श्रीलंका की तरफ से प्रसन्ना ने सर्वाधिक तीन विकेट झटके, वहीं भारत की ओर से तीन गेंदबाजों (उमेश यादव, आर. अश्विन और अक्षर पटेल) ने दो-दो विकेट चटकाए। रवींद्र जडेजा ने एक विकेट लिए। इशांत शर्मा 10 ओवर में 59 रन देकर एक भी विकेट नहीं ले सके, जबकि उमेश यादव ने 54 और जडेजा ने 64 रन बनाए। वर्ल्ड कप और ऑस्ट्रेलिया टूर को देखते हुए यह कतई बेहतर प्रदर्शन नहीं कहा जा सकता है।
इसलिए गेंदबाजी है कमजोर
भारत को इस सीरीज के बाद ऑस्ट्रेलिया जाना है, जहां की पिचें तेज गेंदबाजों के लिए बेहतर मानी जाती हैं। टीम इंडिया की ओर से मैच में पांच गेंदबाजों से बॉलिंग कराई गई। तीन स्पिनर और दो तेज गेंदबाज। इशांत शर्मा खाता नहीं खोल सके और उमेश अच्छी शुरुआत के बाद पिट गए। भारत ने 18 अतिरिक्त रन दिए, जबकि श्रीलंका की ओर से मात्र 3 अतिरिक्त रन भारत के खाते में जुड़े।
एंजेला की कप्तानी पारी
मेहमान टीम श्रीलंका ने कप्तान एंजेलो मैथ्यूज की नाबाद 92 रन की बेशकीमती पारी से आठ विकेट पर 274 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया, लेकिन यह भारत की सशक्त बल्लेबाजी के सामने पर्याप्त नहीं था। मैथ्यूज ने धमिका प्रसाद (नाबाद 30) के साथ 9वें विकेट के लिए मात्र 6.4 ओवर में 54 रन की अविजित साझेदारी कर श्रीलंका को आठ विकेट पर 220 रन से उबारकर 274 तक पहुंचा दिया। कुशल परेरा (शून्य) को उमेश यादव ने पगबाधा आउट कर दिया। तिलकरत्ने दिलशान (35) और कुमार संगकारा (61) ने दूसरे विकेट के लिए 51 रन की साझेदारी की। दिलशान ने 30 गेदों में सात चौके लगाए। दिलशान को लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल ने बोल्ड किया।
आगे क्लिक कर देखें, तस्वीरों में इंडिया और श्रीलंका मैच का रोमांच...