Hindi News »Sports »Cricket »Cricket Rochak» Oldest Test Series Of Cricket History And Its Story

इंग्लिश क्रिकेट को श्रद्धांजलि देने से शुरू हुई थी सीरीज, ऐसे मिला 'एशेज' नाम

एशेज ट्रॉफी लॉर्ड्स के एमसीसी म्यूजियम में रखी हुई है। सीरीज जीतने वाली टीमों को उस ट्रॉफी की रेप्लिका थमाई जाती है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 11, 2017, 10:49 AM IST

  • इंग्लिश क्रिकेट को श्रद्धांजलि देने से शुरू हुई थी सीरीज, ऐसे मिला 'एशेज' नाम, sports news in hindi, sports news
    +3और स्लाइड देखें
    इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच 23 नवंबर से एशेज टेस्ट सीरीज शुरू होने जा रही है।
    स्पोर्ट्स डेस्क. ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच होने वाली क्रिकेट की सबसे पुरानी और सबसे फेमस 'एशेज टेस्ट' सीरीज का 70वां सीजन 23 नंवबर से शुरू हो रहा है। लंबे समय बाद ऐसी कोई एशेज सीरीज होने वाली है, जिसमें साफ तौर पर किसी टीम को जीत का दावेदार नहीं माना जा रहा। इस सीरीज की पिछली विनर इंग्लैंड की टीम बेन स्टोक्स सहित कई प्रमुख खिलाड़ियों के बाहर होने से परेशान है। वहीं, मेजबान ऑस्ट्रेलियाई टीम का हालिया परफॉर्मेंस साधारण रही है। इसलिए कहा गया 'एशेज सीरीज'...
    - अगस्त 1882 में ऑस्ट्रेलिया ने पहली बार इंग्लैंड को इंग्लैंड की धरती पर हराया। इस पर लंदन से निकलने वाले अखबार स्पोर्टिंग टाइम्स के जर्नलिस्ट रेगिनाल्ड शिर्ले ब्रूक्स ने इंग्लिश क्रिकेट को श्रद्धांजलि दे डाली।
    - शिर्ले ब्रूक्स ने लिखा, ‘ओवल पर 29 अगस्त, 1882 को इंग्लिश क्रिकेट मर गया। अब इसे दफनाया जाएगा और अवशेष (एशेज) को ऑस्ट्रेलिया ले जाया जाएगा।’ तंज के तौर पर लिखी गई यह श्रद्धांजलि उस वक्त इंग्लैंड में काफी चर्चित हो गई थी।
    - दिसंबर 1882 में इंग्लैंड की टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई और तब इंग्लैंड के कप्तान इवो ब्लिघ ने कहा कि वे एशेज वापस लाएंगे। उस दौरे पर इंग्लैंड को पहले टेस्ट में हार मिली, लेकिन अगले दो टेस्ट में जीत दर्ज कर उसने सीरीज पर कब्जा कर लिया।
    - मेलबर्न टेस्ट के बाद कुछ महिलाओं ने लकड़ी की एक गेंद जलाकर उसकी राख एक ट्रॉफी में रखकर ब्लिघ को थमाया और कहा, ले जाओ एशेज वापस। यहीं से एशेज सीरीज का आगाज हो गया।
    - बाद में दावा किया गया कि ट्रॉफी में बॉल की नहीं बल्कि बेल्स (गिल्लियों) की राख थी। कुछ ने कहा कि ये नकाब (कपड़ा) की राख थी। ट्रॉफी के अंदर किस चीज की राख है इस पर विवाद आज भी जारी है। बहरहाल इस राख के लिए 135 साल से मुकाबला जारी है।
    है दुनिया की सबसे छोटी ट्रॉफी
    - एशेज ट्रॉफी आज भी लॉर्ड्स के एमसीसी म्यूजियम में रखी हुई है। सीरीज जीतने वाली टीमों को उस ट्रॉफी की रेप्लिका थमाई जाती है। ट्रॉफी की ऊंचाई महज 15 सेंटीमीटर है और यह दुनिया की सबसे छोटी ट्रॉफी मानी जाती है।
    2017 एशेज सीरीज का शेड्यूल
    23-27 नवंबर- पहला टेस्ट- ब्रिसबेन
    2-6 दिसंबर- दूसरा टेस्ट- एडिलेड
    14-18 दिसंबर- तीसरा टेस्ट- पर्थ
    26-30 दिसंबर- चौथा टेस्ट- मेलबर्न
    4-8 जनवरी- पांचवां टेस्ट- सिडनी
    आगे की स्लाइड्स में जानें, एशेज सीरीज से जुड़े खास फैक्ट्स...
  • इंग्लिश क्रिकेट को श्रद्धांजलि देने से शुरू हुई थी सीरीज, ऐसे मिला 'एशेज' नाम, sports news in hindi, sports news
    +3और स्लाइड देखें
    क्रिकेट की दुनिया की ये सबसे पुरानी सीरीज 135 साल पहले इंग्लिश क्रिकेट को दी गई श्रद्धांजलि के साथ शुरू हुई थी।
    एशेज में 32-32 जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड बराबरी पर
    - अबतक 69 एशेज टेस्ट सीरीज हो चुकी हैं। इनमें 32-32 जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड बराबरी पर हैं।
    - सीरीज के तहत कुल 325 टेस्ट मैच खेले जा चुके हैं। इनमें से 106 में इंग्लैंड जीता और 130 में ऑस्ट्रेलिया जीता।
    - 5 सीरीज ड्रॉ रही हैं, वहीं 89 टेस्ट मैच भी ड्रॉ रहे हैं।
    सिड ग्रेगरी ने खेले एशेज में सबसे ज्यादा मैच
    - ऑस्ट्रेलिया के सिड ग्रेगरी एशेज सीरीज में सबसे ज्यादा 52 मैच खेले हैं। वे इस सीरीज में सबसे ज्यादा बार जीरो (11) पर आउट भी हुए हैं।
  • इंग्लिश क्रिकेट को श्रद्धांजलि देने से शुरू हुई थी सीरीज, ऐसे मिला 'एशेज' नाम, sports news in hindi, sports news
    +3और स्लाइड देखें
    इस ट्रॉफी की ऊंचाई सिर्फ 15 सेंटीमीटर है, ये आज भी लॉर्ड्स के एमसीसी म्यूजियम में रखी हुई है।
    पिछली पांच एशेज सीरीज के नतीजे
    - 2009 में इंग्लैंड ने 2-1 से दर्ज की जीत
    - 2010-11 में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में 3-1 से हराया
    - 2013 में इंग्लैंड ने 3-0 से दर्ज की जीत
    - 2013-14 में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड का 5-0 से सफाया कर दिया
    - 2015 में इंग्लैंड अपनी मेजबानी में 3-2 से जीता
    सीरीज ड्रॉ करके भी एशेज जीतेगा इंग्लैंड
    - इंग्लैंड की टीम एशेज की डिफेंडिंग चैम्पियन है। लिहाजा सीरीज ड्रॉ रहने की स्थिति में भी एशेज ट्रॉफी उसी के पास रहेगी।
    - अब तक पांच बार एशेज सीरीज ड्रॉ हुई है। इसमें चार बार ऑस्ट्रेलिया डिफेंडिंग चैम्पियन था और एक बार इंग्लैंड।
  • इंग्लिश क्रिकेट को श्रद्धांजलि देने से शुरू हुई थी सीरीज, ऐसे मिला 'एशेज' नाम, sports news in hindi, sports news
    +3और स्लाइड देखें
    एशेज के टॉप-5 बैट्समैन
    बैट्समैनमैचरनसेन्चुरीएवरेज
    डॉन ब्रेडमैन (ऑस्ट्रेलिया)3750281989.78
    जैक हॉब्स (इंग्लैंड)4136361255.55
    एलन बॉर्डर (ऑस्ट्रेलिया)4232220858
    स्टीव वॉ (ऑस्ट्रेलिया)4531731058.75
    डेविड गाव (इंग्लैंड)3830370946.01
    एशेज के टॉप-5 बॉलर
    बॉलरमैचविकेट10 विकेटएवरेज
    शेन वार्न (ऑस्ट्रेलिया)363950423.25
    ग्लैन मैक्ग्रा (ऑस्ट्रेलिया)301570020.92
    हग ट्रंबल (ऑस्ट्रेलिया)311410355.9
    डेनिस लिली (ऑस्ट्रेलिया)241280254.6
    इयान बॉथम (इंग्लैंड)321280156.6
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Oldest Test Series Of Cricket History And Its Story
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Cricket Rochak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×