Hindi News »Sports »Cricket »Latest News» Commonwealth Games Goldcost: Marykom, Pv Sindhu And Saina Nehwal Hope For India

पहली बार कॉमनवेल्थ खेल रहीं मैरीकॉम और ध्वजवाहक सिंधु जैसी 10 स्टार एथलीट भारत को दिला सकती हैं सोना

पांच बार की वर्ल्ड चैंपियन मैरीकॉम ने 2012 ओलिंपिक में ब्रॉन्ज जीता था।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Apr 04, 2018, 01:40 PM IST

  • पहली बार कॉमनवेल्थ खेल रहीं मैरीकॉम और ध्वजवाहक सिंधु जैसी 10 स्टार एथलीट भारत को दिला सकती हैं सोना, sports news in hindi, sports news
    +9और स्लाइड देखें

    • वेटलिफ्टर सतीश शिवलिंगम के पिता ने भी नेशनल लेवल पर गोल्ड जीता है।
    • क्रिकेटर दिनेश कार्तिक की पत्नी दीपिका पल्लीकल स्क्वैश में गोल्ड जीतने की दावेदार हैं।

    गोल्ड कोस्ट. 21वेंं कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत मजबूत दावेदार है। पिछले कॉमनवेल्थ गेम्स (ग्लासगो) में भारत पदक तालिका में पांचवें स्थान पर रहा था। इस बार उसकी कोशिश टॉप-4 में वापसी करने और मेडल काउंट 500 तक पहुंचाने की होगी। भारत की इस कोशिश को उसके स्टार एथलीट पूरा करने का दम रखते हैं। पीवी सिंधु, साइना नेहवाल, मैरीकॉम और गगन नारंग जैसे 10 एथलीट भारत को गोल्ड दिला सकते हैं। भास्कर आपको बता रहा है कि इनकी गोल्ड के लिए दावेदारी मजबूत क्यों है?

    1) पीवी सिंधु, बैडमिंटन
    प्रदर्शन : विश्व की नंबर तीन बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु (22) पिछले एक साल से बेहतरीन फॉर्म में हैं। ग्लासगो वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर जीतने के बाद उन्होंने इंडिया ओपन, कोरिया ओपन भी अपने नाम किया। हालांकि ऑल इंग्लैंड ओपन के सेमीफाइनल में हार गईं।

    गोल्ड की उम्मीद क्यों?
    कॉमनवेल्थ में हिस्सा ले रही सभी महिला बैडमिंटन खिलाड़ियों में रैंकिंग के हिसाब से सिंधु नंबर एक पर है। उनके सामने सिंगल्स में सिर्फ साइना नेहवाल के रूप में सबसे मजबूत चुनौती होगी। सिंधु ने पिछले कॉमनवेल्थ गेम्स में ब्रॉन्ज जीता था, जिसे वो इस बार गोल्ड में बदलना चाहेंगी।

    2) एमसी मैरीकॉम, बॉक्सिंग
    - ओलिंपिक खेलों की मेडलिस्ट मणिपुर की एमसी मैरीकॉम (35) ने 2017 में हुए एशियन वुमन चैंपियनशिप में जीत हासिल की। उन्होंने 2012 ओलिंपिक खेलों में ब्रॉन्ज जीता था। मैरीकॉम 5 बार वर्ल्ड चैंपियनशिप और 5 बार एशियन वुमन बॉक्सिंग चैंपियनशिप जीत चुकी हैं।

    गोल्ड की उम्मीद क्यों?
    - 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स में नहीं खेलने वाली मैरीकॉम भारत के लिए गोल्ड लाने की सबसे बड़ी उम्मीद हैं। मैरीकॉम को पिछली बार पिंकी झांगरा से क्वालिफायर में हार का सामना करना पड़ा था और वे ग्लासगो नहीं जा सकी थीं। 48 kg कैटेगरी में उन्हें आसान ड्रॉ भी मिला है। सिर्फ एक जीत के साथ ही वो मेडल पक्का कर लेंगी। लेकिन, मैरीकॉम गोल्ड से कम नहीं चाहेंगी।

    3) साइना नेहवाल, बैडमिंटन
    प्रदर्शन : 28 साल की साइना नेहवाल तीसरी बार कॉमनवेल्थ गेम्स खेलेंगी। उन्होंने 2006 मेलबर्न में 1 मेडल (ब्रॉन्ज) और 2010 दिल्ली में दो मेडल (1 गोल्ड, 1 सिल्वर) जीता था। 2010 कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद साइना लगातार चोट से परेशान रही। इस वजह से उन्हें 2014 के ग्लास्गो गेम्स से बाहर भी होना पड़ा था।


    - ओलंपिक खेलों में एक ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली इस बैडमिंटन खिलाड़ी ने पिछले एक साल में मलेशिया मास्टर्स, वर्ल्ड चैंपियशिप में ब्रॉन्ज और सीनियर नेशनल बैंडमिंटन चैंपियनशिप खिताब अपने नाम किया है। इसी साल हुए इंडोनेशिया मास्टर्स में वो रनर-अप रहीं।

    गोल्ड जीतने की उम्मीद क्यों?
    - विश्व बैडमिंटन रैंकिंग में साइना 12वें नंबर पर हैं। उनसे आगे 11 खिलाड़ियों में से सिर्फ सिंधु ही गोल्ड कोस्ट में खेलेंगी। सिंधु की चुनौती तोड़ सकीं तो साइना के हिस्से में गोल्ड होगा।

    4)गगन नारंग, शूटिंग

    प्रदर्शन : तमिलनाडु के गगन नारंग (35) गोल्ड कोस्ट गए भारतीय दल में सबसे ज्यादा मेडल जीतने वाले खिलाड़ी हैं। उन्होंने 2006 मेलबर्न (4 गोल्ड), 2010, दिल्ली (4 गोल्ड) और ग्लासगो (1 सिल्वर, 1 ब्रॉन्ज) में कुल 10 मेडल जीतने हैं। 35 साल के नारंग इस बार 50 मीटर राइफल में हिस्सा ले रहे हैं।

    गोल्ड की उम्मीद क्यों?
    - नारंग ने तीन कॉमनवेल्थ गेम्स में मेडल हासिल किए हैं। वे भारत के सबसे अनुभवी निशानेबाजों में से एक हैं।

    5)दीपिका पल्लीकल, स्क्वैश

    प्रदर्शन : ग्लासगो में गोल्ड जीतने वाली स्क्वैश प्लेयर दीपिक पल्लीकल ने 2014 एशियन गेम्स भी 1 सिल्वर और 1 ब्रॉन्ज अपने नाम किया था। दीपिका ने 2011 से अब तक 11 टाइटल अपने नाम किए हैं। तमिलनाडु की 26 वर्षीय दीपिका भारतीय क्रिकेटर दिनेश कार्तिक की पत्नी हैं।

    गोल्ड की उम्मीद क्यों?
    2016 और 2017 में विश्व चैंपियनशिप में नंबर एक रहने वाली दीपिका को गोल्ड कोस्ट में आसान ड्रॉ मिला है। त्रिनिदाद की चार्लोट के खिलाफ उनकी जीत तय मानी जा रही है। जिसके बाद मेडल तय हो जाएगा, लेकिन दीपिक खुद मेडल से संतुष्ट नहीं होना चाहती। वो ग्लासगो के परफॉरमेंस को गोल्ड कोस्ट में दोहराना चाहती है।

    6) सतीश शिवलिंगम, वेटलिफ्टिंग
    प्रदर्शन : तमिलनाडु के 25 वर्षीय वेटलिफ्टर सतीश शिवलिंगम ने 2014, ग्लासगो में गोल्ड मेडल जीता था। उनके पिता ने भी नेशनल लेवल पर गोल्ड जीता था। 2017 में कॉमनवेल्थ सीनियर वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में शिवलिंगम ने गोल्ड जीता।

    गोल्ड की उम्मीद क्यों?
    - ओलिंपिक, 2016 में 11वें रैंक पर रहे शिवलिंगम ने उसके बाद दमदार वापसी की वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में गोल्ड जीता। उनके बेहतरीन फॉर्म को देखते हुए उनसे गोल्ड की उम्मीद की जा रही है।

    7) हिना सिद्धू, शूटिंग
    प्रदर्शन : 2010, दिल्ली कॉमनवेल्थ में दो मेडल (1 गोल्ड, 1 सिल्वर) लाने वाली सिद्धू 2014, ग्लासगो में कोई पदक नहीं जीत पाईं। उन्होंने पिछले साल दिल्ली में हुए वर्ल्ड कप और ऑस्ट्रेलिया में कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में भी गोल्ड जीता। पंजाब की 28 वर्षीय हिना 2016 में एशियन एयर गन चैंपियनशिप में भी भाग नहीं लिया क्योंकि ईरान में बिना हिजाब के लड़कियों को खेलने नहीं दिया जाता।

    गोल्ड की उम्मीद क्यों?
    - हिना ने अभी तक अलग-अलग टूर्नामेंट में कुल 12 गोल्ड, 7 सिल्वर और 3 ब्रॉन्ज जीते हैं। बड़े टूर्नामेंट में हिना का प्रदर्शन बेहतर हो जाता है। 10 मीटर एयर पिस्टल में उन्हें सबसे कठिन चुनौती अपने ही देश की मनु भाकर से मिलेगी। मनु ने उन्हें तीन टूर्नामेंट में हराया भी है। उनसे पार पाना हिना के लिए चुनौती होगी, लेकिन बड़े टूर्नामेंट के अनुभव को देखते हुए हिना से गोल्ड की उम्मीद की जा रही है।

    8) जीतू राय, शूटिंग
    प्रदर्शन : 2014, ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने वाले 30 साल के जीतू राय ने एक बार इस बार टूर्नामेंट में हिस्सा लिया है। उन्होंने अलग-अलग टूर्नामेंट में कुल 4 गोल्ड, 2 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज जीते हैं। पिछले साल दिल्ली में हुए वर्ल्डकप में उन्होंने गोल्ड जीता।

    गोल्ड की उम्मीद क्यों?
    - पिछले कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने के बाद जीतू ने अन्य टूर्नामेंट्स में 1 गोल्ड और 3 ब्रॉन्ज अपने नाम कर लिया। जीतू की बेहतरीन फॉर्म को देखते हुए शूटिंग के 50 मीटर फ्री पिस्टल इवेंट में उनसे गोल्ड की उम्मीद है। जीतू ने कहा, " रियो में हारने के बाद मुझे धक्का लगा लेकिन मैंने उसके बाद कड़ी मेहनत की है और यहां गोल्ड ही जितूंगा।'

    9)साक्षी मलिक, रेसलिंग

    प्रदर्शन : रेसलिंग के गढ़ हरियाणा से निकली 25 साल की साक्षी मलिक ने एक बार 2014, कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सेदारी ली है, जिसमें उन्होंने सिल्वर मेडल जीता था। उसके बाद उन्होंने 5 बार मेडल जीते। पिछले साल कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में गोल्ड और एशियन चैंपियनशिप में सिल्वर अपने नाम किया था।

    गोल्ड की उम्मीद क्यो?
    अब तक सभी टूर्नामेंट में 10 मेडल जीत चुकी साक्षी रेसलिंग में भारत को गोल्ड दिलाने की दावेदार हैं। उन्होंने 2016 रियो ओलंपिक में ब्रॉन्ज जीता। उसके बाद इसी साल एशियन चैंपियनशिप में भी गोल्ड जीता। गोल्ड कोस्ट में साक्षी 62kg इवेंट में उतरेंगी। लेकिन सबसे कड़ी चुनौती नाइजीरिया की एडिनई से मिलेगी। साक्षी के हालिया प्रदर्शन को देखते हुए ये लग रहा है कि वो एडिनई को हराकर गोल्ड जीत लेंगी।

    10) किदांबी श्रीकांत, बैडमिंटन

    - आंध्र प्रदेश के 25 वर्षीय एथलीट श्रीकांत ने पिछले एक साल में फ्रेंच ओपन, डेनमार्क ओपन, ऑस्ट्रेलिया ओपन और इंडोनेशिया ओपन को जीता। उन्होंने 2016 साउथ एशियन गेम्स में गोल्ड भी जीता था।

    गोल्ड की उम्मीद क्यों?
    -श्रीकांत बैडमिंटन रैंकिंग में दूसरे नंबर पर हैं। पहले नंबर पर काबिज डेनमार्क के विक्टर कॉमनवेल्थ में हिस्सा नहीं लेंगे। ग्लासगो कॉमनवेल्थ में उन्हें मेडल नहीं जीतने से नाखुश श्रीकांत अपनी बेहतरीन फॉर्म को जारी रख इस बार गोल्ड जीतना चाहेंगे।

  • पहली बार कॉमनवेल्थ खेल रहीं मैरीकॉम और ध्वजवाहक सिंधु जैसी 10 स्टार एथलीट भारत को दिला सकती हैं सोना, sports news in hindi, sports news
    +9और स्लाइड देखें
  • पहली बार कॉमनवेल्थ खेल रहीं मैरीकॉम और ध्वजवाहक सिंधु जैसी 10 स्टार एथलीट भारत को दिला सकती हैं सोना, sports news in hindi, sports news
    +9और स्लाइड देखें
  • पहली बार कॉमनवेल्थ खेल रहीं मैरीकॉम और ध्वजवाहक सिंधु जैसी 10 स्टार एथलीट भारत को दिला सकती हैं सोना, sports news in hindi, sports news
    +9और स्लाइड देखें
  • पहली बार कॉमनवेल्थ खेल रहीं मैरीकॉम और ध्वजवाहक सिंधु जैसी 10 स्टार एथलीट भारत को दिला सकती हैं सोना, sports news in hindi, sports news
    +9और स्लाइड देखें
  • पहली बार कॉमनवेल्थ खेल रहीं मैरीकॉम और ध्वजवाहक सिंधु जैसी 10 स्टार एथलीट भारत को दिला सकती हैं सोना, sports news in hindi, sports news
    +9और स्लाइड देखें
  • पहली बार कॉमनवेल्थ खेल रहीं मैरीकॉम और ध्वजवाहक सिंधु जैसी 10 स्टार एथलीट भारत को दिला सकती हैं सोना, sports news in hindi, sports news
    +9और स्लाइड देखें
  • पहली बार कॉमनवेल्थ खेल रहीं मैरीकॉम और ध्वजवाहक सिंधु जैसी 10 स्टार एथलीट भारत को दिला सकती हैं सोना, sports news in hindi, sports news
    +9और स्लाइड देखें
  • पहली बार कॉमनवेल्थ खेल रहीं मैरीकॉम और ध्वजवाहक सिंधु जैसी 10 स्टार एथलीट भारत को दिला सकती हैं सोना, sports news in hindi, sports news
    +9और स्लाइड देखें
  • पहली बार कॉमनवेल्थ खेल रहीं मैरीकॉम और ध्वजवाहक सिंधु जैसी 10 स्टार एथलीट भारत को दिला सकती हैं सोना, sports news in hindi, sports news
    +9और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Latest News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×