• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • I dont think we played our number one game in the final, but playing such a high pressure final in such a big tournament is another experience: Rahul Dravid
--Advertisement--

फाइनल में हमने बेस्ट गेम नहीं खेला, U-19 प्लेयर्स को तैयार करने में सबसे ज्यादा सुकून मिला: राहुल द्रविड़

द्रविड़ ने वर्ल्ड कप जीत से जुड़ी कुछ बातों को मीडिया से शेयर किया। इस दौरान कप्तान पृथ्वी शॉ भी उनके साथ थे।

Dainik Bhaskar

Feb 05, 2018, 07:08 PM IST
अंडर 19 वर्ल्ड कप जीत के बाद देश लौटी टीम इंडिया। मुंबई एयरपोर्ट से टीम बस से होटल पहुंची। इसी दौरान कप्तान पृथ्वी शॉ मुस्कराते नजर आए। अंडर 19 वर्ल्ड कप जीत के बाद देश लौटी टीम इंडिया। मुंबई एयरपोर्ट से टीम बस से होटल पहुंची। इसी दौरान कप्तान पृथ्वी शॉ मुस्कराते नजर आए।

मुंबई. ICC U-19 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम इंडिया सोमवार शाम मुंबई पहुंची। न्यूजीलैंड में इस टीम ने शनिवार को फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराकर चौथी बार खिताब पर कब्जा किया था। देश लौटने पर कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान पृथ्वी शॉ ने मीडिया से बातचीत की। राहुल ने कहा- दबाव वाले मैचों में प्लेयर्स डटे रहे। ये प्लेयर्स ही थे जिन्होंने मैच्योरिटी दिखाई। जीत का श्रेय पूरी तरह खिलाड़ियों का है। ये वो लोग हैं, जिन्होंने कुर्बानियां दीं। IPL ऑक्शन के दौरान जरूर तीन दिन तक मुझे फिक्र थी। बता दें कि बीसीसीआई ने राहुल को 50 लाख जबकि टीम के प्लेयर्स को 30-30 लाख रुपए का ईनाम देने का एलान किया है।

कई तरह के अनुभव मिलते हैं

- राहुल द्रविड़ ने वर्ल्ड कप में मिली जीत से जुड़ी कुछ बातों को मीडिया से शेयर किया। इस दौरान कप्तान पृथ्वी शॉ भी उनके साथ थे।

- राहुल ने कहा- मुझे नहीं लगता कि हमने फाइनल में अपना नंबर वन गेम खेला। लेकिन, किसी वर्ल्ड कप के फाइनल जैसे हाई प्रेशर गेम से जो अनुभव मिला वो बहुत जरूरी था। इसके बाद मुंबई लौटना। यहां लोगों का जोश और आवाजें भी अलग तरह का एक्सपीरिएंस है।

सबसे ज्यादा सुकून किस बात में?

- एक सवाल के जवाब में ‘द वॉल’ के नाम से मशहूर से राहुल ने कहा- सबसे ज्यादा सुकून तो अंडर 19 के इन लड़कों को तैयार करने की प्रॉसेस में मिला। इनके लिए प्लानिंग की और फिर इन्हें डेवलप किया।
- द्रविड़ ने आगे कहा- मुझे बहुत खुशी है कि इन 15 लड़कों ने हमारे लिए वर्ल्ड कप जीता। जिस तरह उन्होंने प्लानिंग के मुताबिक खेला और प्रेशर झेला, वो बहुत खुशी देती हैं।
- राहुल ने कहा- मैं जानता हूं कि एक कोच की क्या रोल या अहमियत होती है। लेकिन, क्रेडिट तो प्लेयर्स को ही जाता है। वो ही हैं जो प्रेशर का सही मायनों में सामना करते हैं। वही, इन हालात में मैच्योरिटी दिखाते हैं और त्याग करते हैं। इसलिए, सही मायनों में तो क्रेडिट उनको ही जाता है।

IPL ऑक्शन वाला हफ्ता तनाव देने वाला

राहुल ने कहा- IPL ऑक्शन वाला हफ्ता तनाव देने वाला था और सच कहूं तो मैं फिक्रमंद था। लेकिन, क्रेडिट प्लेयर्स को जाता है। जब ऑक्शन खत्म हो गया तो वो वापस प्रैक्टिस के लिए लौटे और फिर चार्ज हो गए। सिर्फ, ऑक्शन के उन तीन दिनों में मुझे थोड़ी फिक्र हो रही थी।

- दरअसल, राहुल को ये डर था कि कहीं प्लेयर्स का ध्यान IPL ऑक्शन के लुभावने ऑफर्स की वजह से अपने काम से ना हट जाए। राहुल ने टीम की तारीफ की। कहा- सोशल मीडिया के इस दौर में भी मेरे प्लेयर्स ने गजब की मैच्योरिटी दिखाई।

कप्तान ने क्या कहा?

- कप्तान पृथ्वी शॉ ने कहा- ये सब अनुभव हासिल करने के बारे में है। जब आप इतने ऊंचे लेवल पर खेलते हैं तो सीनियर्स से एक्सपीरिएंस और सलाह मिलती है। इनसे हमारा गेम बेहतर होता है। रणजी ट्रॉफी और अंडर 19 में स्कोर करने से मुझे बहुत फायदा हुआ।

ऑस्ट्रेलिया को आराम से हराया था
- हमारी अंडर 19 टीम ने शनिवार को फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को आसानी से 8 विकेट से हराया था। ओपनर मनजोत कालरा ने सेंचुरी बनाई थी।
- इसके पहले सेमीफाइनल में टीम इंडिया ने पाकिस्तान को 203 रन से हराया था।

मेरे लिए लिए अब तक सफर मुश्किल रहा

- पृथ्वी ने अब तक के अपने सफर को मुश्किल बताया। कहा- चैंपियन बनने की खुशी को मैं बयान नहीं कर सकता। सभी का शुक्रिया।
- उन्होंने आगे कहा- मैं विरार में रहता था। वहां से प्रैक्टिस या मैचों के लिए जहां भी जाना होता था, पापा ले जाते थे। मैं घर से ग्राउंड बहुत दूर था। दो से तीन घंटे सफर करना होता था। वो बहुत मुश्किल दिन थे। स्कूल लेवल से राहुल द्रविड़ सर तक, जो भी सीखा वो बहुत काम आया।

पाक टीम के ड्रेसिंग रूम में गए थे द्रविड़

- पाकिस्तान अंडर 19 टीम के मैनेजर नदीम खान ने रविवार को कहा था कि उनकी टीम भारत से इसलिए हारी क्योंकि किसी ने प्लेयर्स पर जादू कर दिया था।
- देश लौटने के बाद मीडिया से बातचीत में नदीम ने ये भी कहा था कि सेमीफाइनल में भारत से हारने के बाद भी उनके लड़कों ने काफी कुछ सीखा। नदीम ने बताया कि मैच के बाद राहुल द्रविड़ पाकिस्तान टीम के ड्रेसिंग रूम में आए और प्लेयर्स से काफी बातचीत की। इस दौरान प्लेयर्स इसलिए भी बहुत खुश थे क्योंकि राहुल ने उनसे बातचीत में कई टिप्स तो दिए ही, प्लेयर्स के सभी सवालों के जवाब भी दिए।

अंडर 19 वर्ल्ड कप जीतने के बाद टीम इंडिया सोमवार को देश लौटी। मुंबई में मीडिया से बातचीत करते कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान पृथ्वी शॉ। अंडर 19 वर्ल्ड कप जीतने के बाद टीम इंडिया सोमवार को देश लौटी। मुंबई में मीडिया से बातचीत करते कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान पृथ्वी शॉ।
मुंबई में ग्रुप फोटो के दौरान टीम इंडिया। मुंबई में ग्रुप फोटो के दौरान टीम इंडिया।
मीडिया से बातचीत करते राहुल द‌्रविड़। मीडिया से बातचीत करते राहुल द‌्रविड़।
एयरपोर्ट पर शॉ का वेलकम करते मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अफसर। एयरपोर्ट पर शॉ का वेलकम करते मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अफसर।
पृथ्वी शॉ। पृथ्वी शॉ।
X
अंडर 19 वर्ल्ड कप जीत के बाद देश लौटी टीम इंडिया। मुंबई एयरपोर्ट से टीम बस से होटल पहुंची। इसी दौरान कप्तान पृथ्वी शॉ मुस्कराते नजर आए।अंडर 19 वर्ल्ड कप जीत के बाद देश लौटी टीम इंडिया। मुंबई एयरपोर्ट से टीम बस से होटल पहुंची। इसी दौरान कप्तान पृथ्वी शॉ मुस्कराते नजर आए।
अंडर 19 वर्ल्ड कप जीतने के बाद टीम इंडिया सोमवार को देश लौटी। मुंबई में मीडिया से बातचीत करते कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान पृथ्वी शॉ।अंडर 19 वर्ल्ड कप जीतने के बाद टीम इंडिया सोमवार को देश लौटी। मुंबई में मीडिया से बातचीत करते कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान पृथ्वी शॉ।
मुंबई में ग्रुप फोटो के दौरान टीम इंडिया।मुंबई में ग्रुप फोटो के दौरान टीम इंडिया।
मीडिया से बातचीत करते राहुल द‌्रविड़।मीडिया से बातचीत करते राहुल द‌्रविड़।
एयरपोर्ट पर शॉ का वेलकम करते मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अफसर।एयरपोर्ट पर शॉ का वेलकम करते मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अफसर।
पृथ्वी शॉ।पृथ्वी शॉ।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..