--Advertisement--

कॉमनवेल्थ: फेल्प्स के फैन श्रीहरि और गीता फोगाट को हराने वाली पूजा जैसे 7 अनजान चेहरों से गोल्ड की उम्मीद

पूजा ढांढा ने स्टार रेसलर गीता फोगाट को हराकर कॉमनवेल्थ गेम्स का टिकट हासिल किया।

Dainik Bhaskar

Apr 03, 2018, 06:02 PM IST
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games

  • 24 साल की पूजा ढांढा ने स्टार रेसलर गीता फोगाट को हराकर कॉमनवेल्थ गेम्स का टिकट हासिल किया था।
  • 17 साल के श्रीहरि नटराज भारत के ऐसे तैराक हैं, जिन्होंने 100 मीटर बैकस्ट्रोक में ओलिंपिक चैंपियन से भी कम समय निकाला है।

गोल्ड कोस्ट. ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में बुधवार से 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स शुरू हो रहे हैं। भारत ने यहां 217 खिलाड़ियों का दल भेजा है। इनमें पीवी सिंधु, साइना नेहवाल, सुशील कुमार, गगन नारंग जैसे अनुभवी खिलाड़ी हैं। देश को इनसे पदक की उम्मीदें हैं। कुछ ऐसे अनजान चेहरे भी हैं, जिन्होंने अपने प्रदर्शन से मेडल लाने का भरोसा हासिल किया है। इनमें इसी साल शूटिंग वर्ल्ड कप में गोल्ड जीतने वाली मनु भाकर और फेल्प्स को अपना आदर्श मानने वाले तैराक श्रीहरि नटराज जैसे खिलाड़ी शामिल हैं। भास्कर आपको बता रहा है कि इन अनजान चेहरों में कितना दम है और पदक के लिए इनकी दावेदारी मजबूत क्यों है।


1. पूजा ढांढा, रेसलिंग
प्रदर्शन : रेसलिंग के गढ़ कहे जाने वाले हरियाणा की पूजा ढांढा (24 साल) ने 2010 में यूथ ओलिंपिक में सिल्वर जीतकर अपना नाम चमकाया था। उसके बाद 2014 एशियन चैंपियनशिप में ब्राॅन्ज मेडल जीता। पूजा ने स्टार रेसलर गीता फोगाट को क्वालिफायर टूर्नामेंट में हराकर कॉमनवेल्थ गेम्स का टिकट हासिल किया। वे इस बार 57 किलोग्राम वर्ग में खेलेंगी।

गोल्ड की उम्मीद क्यों?
-गोल्डकोस्ट में पूजा के साथ कनाडा की एमिली सेफर, मॉरिशस की नियोलेंसिया जेनावे, न्यूजीलैंड की एना मोसेयावा, आयरलैंड की सारा मैकडेड और नाइजीरिया की ओडुनायो भी चुनौती पेश करेंगी। इन सभी में पूजा और ओडुनायो ही सबसे अनुभवी खिलाड़ी हैं। पूजा ने 2017, पेरिस 55kg में 11वां स्थान तो ओडुनायो ने दूसरा स्थान हासिल किया था। दोनों के बीच इस बार फाइनल होने की संभावना है, जिसमें पूजा के गोल्ड जीतने की उम्मीद है।

2. श्रीहरि नटराज, तैराकी
प्रदर्शन : कर्नाटक के श्रीहरि ने 100 मीटर बैक स्ट्रोक में अपने नेशनल रिकॉर्ड में सुधार किया। पहले उनका नेशनल रिकॉर्ड 56.99 सेकंड का था, जबकि खेलो इंडिया में उन्होंने 56.90 सेकंड का समय निकाला।
- 17 साल के श्रीहरि ने 100 मीटर फ्री-स्टाइल, 50 मीटर बैक स्ट्रोक, 4*100 मेडले रिले, 200 मीटर बैक स्ट्रोक, 100 मीटर बैक स्ट्रोक और 4*100 फ्री-स्टाइल रिले में गोल्ड जीता। 50 मीटर फ्री-स्टाइल में सिल्वर जीता।
- स्वीमिंग के 'बादशाह' माइकल फेल्प्स के फैन श्रीहरि से गोल्ड कोस्ट में कई मेडल जीतने की उम्मीद की जा रही है।

गोल्ड की उम्मीद क्यों?
-2014 ग्लासगो कॉमनवेल्थ में इंग्लैंड क्रिस वॉल्कर ने 53.12 सेकंड का समय निकालकर 100 मीटर बैकस्ट्रोक गोल्ड जीता था। 2016 ओलिंपिक में ग्रेट ब्रिटेन एडम पैटी ने 57.13 सेकंड में गोल्ड जीता। वहीं, श्रीहरि ने खेलो इंडिया गेम्स में 56.90 सेकेंड का समय निकाला। उनका यह प्रदर्शन गोल्ड कोस्ट में उन्हें गोल्ड के मजबूत दावेदारों की श्रेणी में खड़ा करता है।

3. मनु भाकर, शूटिंग
प्रदर्शन : रेसलिंग, बॉक्सिंग के लिए फेमस हरियाणा की मनु भाकर (16 साल) शूटिंग की नई सनसनी हैं। 2017 में राष्ट्रीय खेलों में 9 मेडल जीते। वे कई प्रतियोगिताओं में हिना सिद्धू को भी पीछे छोड़ चुकी हैं। मनु ने 2018 में शूटिंग वर्ल्डकप में गोल्ड जीता।

गोल्ड की उम्मीद क्यों?
-2014 ग्लासगो कॉमनवेल्थ में गोल्ड जीतने वाली सिंगापुर की तियो सून 198.6 अंक लाईं थीं। 2018 रियो ओलिंपिक में झांग मेनझु 199.4 अंक लाईंं। वहीं, मनु भाकर ने 2018 विश्व चैंपियशिप में 237.5 अंक हासिल किए। उनके इस प्रदर्शन से लगता है कि मनु, ग्लासगो और रियो में बने रिकॉर्ड को तोड़कर गोल्ड जीत सकती हैं।

4. नीरज चोपड़ा, जेवलिन थ्रो
प्रदर्शन: 2017 में ओडिशा के भुवनेश्वर में एशियन चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने के बाद कॉमनवेल्थ गेम्स में उनकी दावेदारी मजबूत हुई। 2016 में जूनियर वर्ल्ड कप में गोल्ड जीतकर चमके हरियाणा के 20 साल के नीरज ने उसी साल साउथ एशियन गेम्स में भी सोना जीता।


गोल्ड की उम्मीद क्यों?
- कॉमनवेल्थ गेम्स में जेवलिन थ्रो का रिकॉर्ड साउथ अफ्रीका के मैरिस कॉर्बेट के नाम है। उन्होंने 1998, कुआलालंपुर गेम्स में 88.75 मीटर का रिकॉर्ड बनाया था। वहीं, नीरज चोपड़ा ने 2016 में हुए विश्व जूनियर चैंपियनशिप में 86.48 मीटर का भारतीय रिकॉर्ड बनाया था, जो कि कॉर्बेट से कम भले ही है, लेकिन कोच और खुद नीरज को भरोसा है कि वे अपने प्रदर्शन को हर हाल में बेहतर करेंगे। इससे गोल्ड कोस्ट में नीरज से गोल्ड जीतने की उम्मीद बढ़ गई है।

5. मेहुली घोष, शूटिंग
प्रदर्शन : पश्चिम बंगाल की 17 साल की मेहुली घोष पहली बार कॉमनवेल्थ गेम्स में पहली बार हिस्सा लेंगी। मेहुली ने 2017 में नेशनल लेवल के इवेंट में आठ मेडल जीते थे। पिछले साल मेक्सिको में हुई विश्व शूटिंग चैंपियनशिप में उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया। पिछले दो साल से मेहुली बेहतरीन फॉर्म में हैं। उम्मीद है कि वे गोल्ड कोस्ट में भी देश को सोना दिलाएंगी।

गोल्ड की उम्मीद क्यों?
-मेहुली ने नेशनल गेम्स में 228.7 अंक के साथ 10 मीटर एयर राइफल शूटिंग में भारतीय रिकॉर्ड बनाया था। वहीं, ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत की ही अपूर्वी चंडेला ने 206.7 अंक लाकर गोल्ड जीता था। मेहुली के हालिया प्रदर्शन को देखकर लग रहा है कि वे इस बार गोल्ड जीतेंगी।

6. एस. गणशेखरण, टेबल टेनिस
प्रदर्शन : गणशेखरण ने 2016 में बेल्जियम ओपन जीता। वे यह उपलब्धि हासिल करने वाले दूसरे भारतीय हैं। उनसे पहले 2002 में अंचत शरत कमल ने बेल्जियम ओपन जीता था। 25 साल के गणशेखरण ने बेल्जियम ओपन के बाद 2017 में स्पेनिश ओपन पर कब्जा किया। गोल्ड कोस्ट में उनसे मेडल जीतने की उम्मीदें बढ़ गई है। गणशेखरण दुनिया के 49वें नंबर के टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं।

इस बार गोल्ड की उम्मीद?
- कॉमनवेल्थ टेबल टेनिस फेडरेशन ने मार्च में पुरुष खिलाड़ियों की रैंकिंग जारी की, जिसमें गणशेखरण तीसरे नंबर पर हैं। उनसे आगे पहले नंबर पर कादरी अरूणा और दूसरे नंबर पर पॉल ड्रिंकल हैं। ड्रि्ंकल ने 2018 वर्ल्ड कप में ब्रॉन्ज जीता, वहीं कादरी ने 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स में ब्रॉन्ज जीता था। दोनों खिलाड़ियों ने पिछले छह महीने में किसी भी टूर्नामेंट का फाइनल नहीं जीता। वहीं, गणशेखरण ने 2017 में स्पेनिश ओपन में गोल्ड जीता। इसके बाद वे टॉप 5 खिलाड़ियों में शामिल हुए।

7. अरुणा रेड्‌डी, जिम्नास्टिक
प्रदर्शन : तेलंगाना की अरुणा रेड्‌डी ने कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले मेलबर्न में हुए जिम्नास्टिक वर्ल्डकप में ब्रॉन्ज जीतकर गोल्ड कोस्ट से मेडल लाने की उम्मीदें बढ़ा दी हैं। वर्ल्डकप में मेडल जीतने वाली वे देश की पहली जिम्नास्ट हैं। कराटे में ब्लैक बेल्ट पा चुकीं 22 साल की अरुणा जिम्नास्टिक में आने से पहले ट्रेनर थीं।

गोल्ड की उम्मीद क्यों?
- जिम्नास्टिक की वॉल्ट केटेगरी रैंकिंग में अरुणा 14वें नंबर पर हैं। कॉमनवेल्थ गेम्स में भाग ले रही खिलाड़ियों में अरुणा से ऊपर सिर्फ ऑस्ट्रेलिया की दो खिलाड़ी हैं। मेलबर्न में वर्ल्डकप में ऑस्ट्रेलिया की एमिली व्हाइट हेड ने 13.669 अंक हासिल किए थे, जबकि अरुणा 13.649 ही ला सकीं। यह अंतर बहुत मामूली है। उनके कोच को उम्मीद है कि इस बार वे गोल्ड जीतेंगी।

15 साल के अनीश से लेकर 44 साल के फरमान भारतीय दल में

- हरियाणा के अनीश बनवाला भारतीय एथलीटों में सबसे युवा हैं। 15 साल के अनीश ने इस साल जूनियर शूटिंग वर्ल्डकप गोल्ड जीता है। अब वे गोल्ड कोस्ट में देश को पदक मेडल दिलाएंगे।
- वहीं, कर्नाटक के पैरा वेटलिफ्टर फरमान बाशा सबसे उम्रदराज एथलीट हैं। 44 साल के फरमान ने एशियन पैरा-गेम्स,2010 में सिल्वर मेडल अपने नाम किया था। हालांकि नॉर्मल कैटेगरी में झारखंड के कृष्णा हैं। 42 साल के कृष्णा लॉन बॉल्स में भाग लेंगे।

मुख्य खेलों में ओलिंपक और एशियन गेम्स में भारत का पिछला प्रदर्शन


1. निशानेबाजी

टूर्नामेंट एथलीट मेडल
रियो ओलिंपिक 2016 12 0
एशियन गेम्स 2014 43 9


2. हॉकी

टूर्नामेंट एथलीट मेडल
रियो ओलिंपिक 2016 0 0
एशियन गेम्स 2014 32 2

3. बैडमिंटन

टूर्नामेंट एथलीट मेडल
रियो ओलिंपिक 2016 7 1
एशियन गेम्स 2014 15 1

4. रेसलिंग

टूर्नामेंट एथलीट मेडल
रियो ओलिंपिक 2016 7 1
एशियन गेम्स 2014 18 5


5. वेटलिफ्टिंग

टूर्नामेंट एथलीट मेडल
रियो ओलिंपिक 2016 2 0
एशियन गेम्स 2014 18 5

6. बॉक्सिंग

टूर्नामेंट एथलीट मेडल
रियो ओलिंपिक 2016 3 0
एशियन गेम्स 2014 13 5
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
X
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
some unknown player who will bring gold for India in Commonwealth Games
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..