--Advertisement--

दक्षिण अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया को 492 रनों से हराया, रनों के हिसाब से 84 साल बाद सबसे बड़ी जीत

दक्षिण अफ्रीका ने 48 साल के बाद ऑस्ट्रेलिया को घरेलू मैदान पर सीरीज हराया।

Dainik Bhaskar

Apr 03, 2018, 09:09 PM IST
1997 से दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच कोई भी मैच ड्रॉ पर नहीं छूटा 1997 से दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच कोई भी मैच ड्रॉ पर नहीं छूटा

  • मोर्ने मोर्नल का ये आखिरी टेस्ट था। उन्होंने अपने 247 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 571 विकेट लिए।
  • दक्षिण अफ्रीका के फाफ डुप्लेसिस ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में और अपने घर में सीरीज हराने वाले पहले कप्तान बने।

स्पोर्ट्स डेस्क. जोहानेसबर्ग में खेले गए चौथे टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया को 492 रन से हरा दिया। 84 साल बाद यह किसी टीम की सबसे बड़ी जीत है। इस जीत के साथ ही अफ्रीकी टीम ने कंगारुओं को 1970 के बाद पहली बार अपने घर में हराया। सीरीज के चौथे टेस्ट में जीत के लिए ऑस्ट्रेलिया को 612 रन बनाने थे, लेकिन उसकी पूरी टीम 119 रनों पर ही सिमट गई। दक्षिण अफ्रीका के वर्नोन फिलेंडर ने सबसे ज्यादा 6 और अपना आखिरी टेस्ट खेल रहे मोर्ने मोर्कल ने 2 विकेट लिए।

1934 में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को 562 रनों हराया था

साल विजेता टीम पराजित टीम अंतर
1928 इंग्लैंड ऑस्ट्रेलिया 675
1934 ऑस्ट्रेलिया इंग्लैंड 562
1911 ऑस्ट्रेलिया दक्षिण अफ्रीका 530
2018 दक्षिण अफ्रीका ऑस्ट्रेलिया 492
2004 ऑस्ट्रेलिया पाकिस्तान 491

1997 से नहीं हुआ कोई टेस्ट ड्रॉ

-दक्षिण अफ्रीका के फाफ डुप्लेसिस ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में और अपने घर में सीरीज हराने वाले पहले कप्तान बन गए। उन्होंने अपनी कप्तानी में 2016-17 में ऑस्ट्रेलिया में 2-1 से सीरीज जीती थी। मंगलवार को दक्षिण अफ्रीका में 3-1 से सीरीज जीती।

- दक्षिण अफ्रीका ने 48 साल के बाद ऑस्ट्रेलिया को घरेलू मैदान पर सीरीज हराया। इससे पहले 1969-70 में 4-0 से क्लीनस्वीप किया था और 1966-67 में 5 मैचों की सीरीज में 3-1 से जीत हासिल की थी।

-1997 से दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच कोई भी मैच ड्रॉ पर नहीं छूटा। लगातार 21 मैचों में हार-जीत हुई।

रनों के हिसाब से दक्षिण की सबसे बड़ी जीत

साल मैदान पराजित टीम रनों का अंतर
2018 जोहानेसबर्ग ऑस्ट्रेलिया 492
2007 जोहानेसबर्ग न्यूजीलैंड 358
1994 लॉडर्स इंग्लैंड 356

दहाई के आंकड़े तक नहीं पहुंचे 9 खिलाड़ी

-612 रनों के टारगेट के सामने ऑस्ट्रेलिया 116 रनों पर ऑलआउट हो गई। इस पारी कंगारू टीम के 9 खिलाड़ी दहाई का आंकड़ा नहीं छू सके। केवल जो बर्न्स (42) और पीटर हैंड्सकॉम्ब (24) ही दो अंकों तक पहुंच पाए।

- अफ्रीका के फिलेंडर ने सात रन देकर छह विकेट लिए। मोर्कल ने 2 और केशव महाराज ने 1 विकेट लिए। ऑस्ट्रेलिया के नाथन लियोन रन आउट हुए।

- इससे पहले अफ्रीका ने पहली पारी में 488 और दूसरी पारी में 344 रन बनाए थे। ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 221 रन बनाए थे।

मोर्कल ने खेला आखिरी मैच

-2006 में पहली बार अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले मोर्कल ने 86 टेस्ट में 309, 117 वनडे में 188 और 44 टी-20 में 47 विकेट लिए।

मोर्ने मोर्कल ने 247 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 571 विकेट लिए। मोर्ने मोर्कल ने 247 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 571 विकेट लिए।
X
1997 से दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच कोई भी मैच ड्रॉ पर नहीं छूटा1997 से दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच कोई भी मैच ड्रॉ पर नहीं छूटा
मोर्ने मोर्कल ने 247 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 571 विकेट लिए।मोर्ने मोर्कल ने 247 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 571 विकेट लिए।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..