Hindi News »Sports »Cricket »Latest News» U 19 Cricket World Cup India Australia Final News And Updates

U-19 वर्ल्ड कप फाइनल: ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 53/2, ईशान पोरेन ने लिए 2 विकेट

भारतीय टीम लीग में एक भी मैच नहीं हारी है। पृथ्वी शॉ कैप्टन हैं और राहुल द्रविड़ कोच हैं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Feb 03, 2018, 07:22 AM IST

  • U-19 वर्ल्ड कप फाइनल: ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 53/2, ईशान पोरेन ने लिए 2 विकेट, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें

    माउंट माउंगानुई (न्यूजीलैंड).अंडर-19 वर्ल्ड कप 2018 के फाइनल में शनिवार को टीम इंडिया ने इतिहास रच दिया। भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराकर रिकॉर्ड चौथी बार टूर्नामेंट जीत लिया। इससे पहले भारत ने 2000, 2008 और 2012 में U-19 वर्ल्ड कप जीता था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए भारत को 217 रन का टारगेट दिया था। ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम 47.2 ओवर में 216 रन पर आउट हो गई। भारत ने 11 ओवर बाकी रहते मैच जीत लिया। मनजोत कालरा ने नॉटआउट 101 रन बनाए। बीसीसीआई ने कोच राहुल द्रविड़ को 50 लाख रुपए, टीम के सभी मेंबर को 30-30 लाख और सपोर्ट स्टाफ को 20-20 लाख रुपए देने का एलान किया है। जीत के बाद द्रविड़ ने कहा कि पिछले 14 महीने की मेहनत रंग लाई।

    भारत ने 67 बॉल बाकी रहते जीता मैच

    - 217 रन के टारगेट का पीछा करने उतरी इंडिया को कैप्टन पृथ्वी शॉ और मनजोत कालरा ने तेज शुरुआत दिलाई। दोनों के बीच 71 रन की पार्टनरशिप हुई।

    - सुंडरलैंड ने शॉ को बोल्ड कर ऑस्ट्रेलिया को पहली सफलता दिलाई। शॉ ने 41 बॉल पर 29 पर बनाए।

    - शॉ के आउट होने के बाद बैटिंग करने आए पिछले मैच में शतक लगाने वाले शुभमन गिल। गिल को भारतीय मूल के उप्पल आउट किया। शुभमन ने 31 की पारी खेली।

    - कालरा (101) और हार्विक देसाई (47) नॉटआउट रहे। कालरा ने 102 बॉल में सेंचुरी मारी। 67 बॉल और 8 विकेट बाकी रहते टीम ने फाइनल जीत लिया।

    ऐसी रही ऑस्ट्रेलिया की बैटिंग

    - भारतीय बॉलरों ने कमाल की बॉलिंग की और ऑस्ट्रेलिया को बड़ा स्कोर नहीं बनाने दिया।

    - ईशान पोरेल, अनुकूल रॉय, कमलेश नागरकोटी और शिवा सिंह ने 2-2 विकेट अपने नाम किए। शिवम मावी को एक विकेट मिला।

    - भारत ने अभी तक हुए मैचों में हर टीम को ऑलआउट ही किया है।

    टूर्नामेंट में टीम इंडिया का परफॉर्मेंस कैसे खास रहा?

    - टीम ने पूरे टूर्नामेंट के किसी भी मैच में अपोजिशन टीम को 228 रन का स्कोर नहीं करने दिया। भारतीय गेंदबाजों ने सभी छह मैचों में विरोधी टीम को ऑलआउट किया।

    - सबसे बेहतरीन फास्ट बॉलिंग अटैक टीम इंडिया का रहा। कमलेश नागरकोटी और शिवम मावी ने लगातार 140 kmph से ज्यादा स्पीड से बॉलिंग की।

    - ईशान पोरेल पूरे टूर्नामेंट में बेहद सटीक रहे। तेज गेंदबाजों के साथ स्पिनर्स ने भी कमाल दिखाया। अनुकूल रॉय 14 विकेट लेकर टॉप परफॉर्मर रहे।

    - बैटिंग में शुभमन गिल ने अपनी 5 में से 4 इनिंग में 50+ स्कोर किया। इसमें 3 फिफ्टी और एक सेंचुरी शामिल है।

    - कप्तान शॉ ने भी लगातार टीम को शानदार शुरुआत दिलाई। टूर्नामेंट के पहले मैच में हाफ सेंचुरी लगाकर टीम का पेस सेट किया।

    जीत के बाद किसने क्या कहा?

    - मैन ऑफ द मैच मनजोत कालरा ने कहा कि कंडीशन काफी अच्छी थी। विकेट फ्लैट था, इसलिए खेलने में कोई परेशानी नहीं हुई।

    - मैन ऑफ द टूर्नामेंट शुभमन गिल ने कहा कि मुझे अपनी टीम पर गर्व है। हमारे कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि अपना नेचुरल गेम खेलो। न्यूजीलैंड का एक्सपीरियंस हमारे लिए काफी अच्छा रहा।

    द्रविड़ बोले- बहुत कुछ सीखा जा सकता है इन लड़कों से
    - जीत के बाद राहुल द्रविड़ ने कहा- "टीम का पूरे टूर्नामेंट में बेहद शानदार परफॉर्मेंस रहा। मेरे लिए इस लेवल पर रिजल्ट महत्व नहीं रखते। हार-जीत एक्साइटिंग हो सकती है। हमने फैसले लिए और यंग खिलाड़ियों को मौके दिए।''

    - ''पिछली बार वर्ल्ड कप खेलने वाले कई खिलाड़ियों को इसका एक्सपीरियंस था और हम चाहते थे तो तब के 3-4 खिलाड़ियों को खिला सकते थे। लेकिन अगर इस टीम में सुंदर होता तो पृथ्वी शॉ कभी कप्तान नहीं बन पाता। इन खिलाड़ियों से काफी कुछ सीखा जा सकता है। वो हमेशा कुछ नया सीखने और करने का सोचते हैं।'' (पूरी खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें...)

    यह टीम अंडर-19 ही नहीं अंडर द्रविड़ भी है

    - अंडर-19 टीम के कोच राहुल द्रविड़ ने टैलेंट की पहचान दो-तीन साल पहले की। उस पर मेहनत की और बड़े स्टेज के लिए तैयार किया।
    - टीम को पर्याप्त एक्सपोजर दिया। ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड के दौरे हुए।
    - खिलाड़ियों को फर्स्ट क्लास क्रिकेट में एंट्री लेने में मदद की, ताकि वे मुश्किल मुकाबले के लिए तैयार हों।
    - टीम के छह खिलाड़ी फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेल चुके हैं।

    द्रविड़ ने खेल ही नहीं बर्ताव से भी हीरो बनाया

    - सेमीफाइनल जैसे अहम मुकाबले में अनुकूल राॅय के बल्ले से एज लेकर गेंद विकेटकीपर के पास गई। अंपायर ने आउट नहीं दिया, लेकिन अनुकूल पवेलियन लौट गए।
    - अब तक किसी भी मैच में भारतीय खिलाड़ियों ने जरूरत से ज्यादा एग्रेशन नहीं दिखाया।
    - आईपीएल ऑक्शन में टीम के कई खिलाड़ी करोड़पति बने। द्रविड़ ने समझाया, आईपीएल हर साल है, यह वर्ल्ड कप सिर्फ एक बार होगा।

    ऑस्ट्रेलिया और इंडिया ने कब-कब जीता वर्ल्डकप?

    इंडियाऑस्ट्रेलिया
    2000 (मो. कैफ)1988 (जेफ पार्कर)
    2008 (विराट कोहली)2001-02 (कैमरून व्हाइट)
    2012 (उन्मुक्त चंद)2009-10 (मिशेल मार्श)
    2018 (पृथ्वी शॉ)

    कौन हैं टीम इंडिया के मैच विनर्स?


    1) शुभमन गिल

    - टॉप ऑर्डर बैट्समैन हैं। क्रिकेट एनालिस्ट शुभमन में कोहली जैसा स्ट्रोक प्लेयर देख रहे हैं। कंसिस्टेंस परफॉर्मेंस रही है। सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ शतक लगाया।

    मैचरनहाइएस्ट100/50
    63721021/3

    2) पृथ्वी शॉ

    - कैप्टन के रोल में टीम को अब तक अच्छी तरह लीड किया है। विस्फोटक ओपनर हैं और अब तक टीम को अच्छी शुरुआत दिलाने में सफल रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में 94 रनों की इनिंग खेली।

    मैचरनहाइएस्ट100/50
    6261940/2

    3) मनजोत कालरा

    - ओपनर के तौर पर बड़े मैचों में टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई। पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल में भी 40 प्लस का स्कोर किया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में 86 रन बनाए थे।

    मैचरनहाइएस्ट100/50
    62521011/1

    4) अनुकूल रॉय

    - लेफ्ट आर्म स्पिनर अनुकूल टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले इंडियन बॉलर रहे।

    मैचविकेटबेस्टइकोनॉमी
    6145/143.84

    5) शिवम मावी

    - फास्ट बॉलर हैं। 145 प्लस की रफ्तार से गेंद फेंकते हैं और टीम को ब्रेकथ्रू दिलाने में अब तक कामयाब रहे हैं।

    मैचविकेटबेस्टइकोनॉमी
    693/453.77

    6) कमलेश नागरकोटी

    - 150 तक की रफ्तार से गेंद फेंक सकते हैं। रफ्तार की वजह से नागरकोटी को बाड़मेर एक्सप्रेस कहा जाता है। मैच के किसी भी दौर में विकेट लेने की काबिलीयत रखते हैं।

    मैचविकेटबेस्टइकोनॉमी
    593/183.19

    भारत का फाइनल तक का सफर

    - पहला मैच 100 रन से ऑस्ट्रेलिया को हराया।
    - 10 विकेट से पापुआ न्यूगिनी को हराया।
    - 10 विकेट से न्यूजीलैंड पर जीत दर्ज की।
    - क्वार्टर फाइनल में 131 रन से बांग्लादेश को हराया।
    - सेमीफाइनल में भारत 203 रन से पाकिस्तान से जीता।

    - फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराया।

  • U-19 वर्ल्ड कप फाइनल: ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 53/2, ईशान पोरेन ने लिए 2 विकेट, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    भारत ने शनिवार को चौथी बार U-19 वर्ल्ड कप जीता। इससे पहले 2000, 2008 और 2012 में कप पर कब्जा किया था।
  • U-19 वर्ल्ड कप फाइनल: ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 53/2, ईशान पोरेन ने लिए 2 विकेट, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    जीत के बाद सेल्फी लेते टीम इंडिया के मेंबर्स।
  • U-19 वर्ल्ड कप फाइनल: ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 53/2, ईशान पोरेन ने लिए 2 विकेट, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    मैच के दौरान स्टेडियम में भारतीय सपोर्टर्स ने टीम इंडिया की खूब हौसलाअफजाई की।
  • U-19 वर्ल्ड कप फाइनल: ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 53/2, ईशान पोरेन ने लिए 2 विकेट, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    जीत के बाद टीम ने जश्न मनाया।
  • U-19 वर्ल्ड कप फाइनल: ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 53/2, ईशान पोरेन ने लिए 2 विकेट, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
  • U-19 वर्ल्ड कप फाइनल: ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 53/2, ईशान पोरेन ने लिए 2 विकेट, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    मनजोत कालरा ने नाबाद 101 रन बनाए।
  • U-19 वर्ल्ड कप फाइनल: ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 53/2, ईशान पोरेन ने लिए 2 विकेट, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    हार्विक देसाई ने विनिंग चौका लगाकर मैच खत्म किया। वे 47 रन बनाकर नाबाद रहे।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Latest News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×