Hindi News »Sports »Cricket »Bhaskar Special» PM Modi Had Claimed That Someone Can Earn Money By Opening A Pakoda Shop

पकौड़े में भी पैसा है, पीएम मोदी ने गलत तो नहीं कहा

पीएम मोदी के पकौड़े वाले बयान के बाद देश में बवाल हो रहा है, लेकिन कई पढ़े-लिखे युवा अपनी खुशी से ये काम कर रहे हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Feb 06, 2018, 08:54 PM IST

  • पकौड़े में भी पैसा है, पीएम मोदी ने गलत तो नहीं कहा, sports news in hindi, sports news
    +1और स्लाइड देखें
    सिम्बोलिक इमेज

    हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था- 'पगार वाली नौकरी नहीं तो क्या पकौड़े तो बेच ही सकते हैं।' पीएम के ये कहते ही बवाल मच गया। गुस्सा जताने के लिए छात्रों ने जगह-जगह पकौड़े बेचने शुरू कर दिए। लेकिन कुछ छात्र वाकई में पकौड़े बेचकर लाखों कमा रहे हैं....और स्टूडेंट भी ऐसी वैसी जगहों के नहीं..IIM और IIT के....

    IIT के स्टूडेंट बेच रहे पकौड़े

    आईआईटी से पढ़ाई... अमेरिका में अच्छी नौकरी... लेकिन इन दोंनों तय किया कि अब पकौड़े बेचेंगे। ये बेचते हैं बारिश वाले पकौड़े। मेन्यू में चाय, कई तरह के बर्गर और चाट भी है। आज देश भर में इनके 40 से ज्यादा स्टोर है। नाम है चायोस। चेन में 600 से ज्यादा लोग काम करते हैं और ऑर्डर ऑनलाइन भी लिये जाते हैं। इस साल इनके स्टोर्स की संख्या बढ़कर 75 हो सकती है। इसे शुरू किया आईआईटी, मुंबई से पढ़ाई करने वाले सलूजा और आईआईटी, दिल्ली से पढ़ाई करने वाले राघव वर्मा ने। इनका दावा है कि चाय 12 हजार फ्लेवर में बनाई जा सकती है। चायोस आम पापड़ चाय से लेकर हरि मिर्च चाय तक मिलती है।

    IIM(A) के स्टूडेंट बेचते हैं इडली, समोसा

    आईआईएम अहमदाबाद से पढ़े ई शरथबाबू ने इडली की दुकान खोली। पूंजी थी महज 2 हजार रुपए। आज ये एक कामयाब चेन है, जिसे दुनिया फूडकिंग के नाम से जानती है। मेन्यू में अब इडली के साथ-साथ बाकी स्नैक्स भी आ गये हैं...ई शरथ बाबू की मां कभी चेन्नई में घूम-घूमकर इडली बेचती थीं. इसी कमाई से उन्होंने अपने बच्चों को पढ़ाया। बिट्स, पिलानी से पढ़ाई करने के बाद शरथ बाबू ने आईआईएम अहमदाबाद से मैनेंजमेंट पढ़ा। अच्छी नौकरियां मिल रही थीं लेकिन उन्होंने अपनी दुकान खोली। शरथबाबू ने 'हंगर फ्री इंडिया' नाम से एक मुहिम भी चलाई। शरथ तमिलनाडु से कई चुनाव भी लड़ चुके हैं..

    तो बात ये है दोस्तों कि पकौड़े तल के तीर मारा जा सकता है। बस अंदाज जुदा होना चाहिए। काम कोई छोटा या बड़ा नहीं होता, बस लेवल विजन बड़ा होना चाहिए।

  • पकौड़े में भी पैसा है, पीएम मोदी ने गलत तो नहीं कहा, sports news in hindi, sports news
    +1और स्लाइड देखें
    सिम्बोलिक इमेज
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhaskar Special

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×