--Advertisement--

धोनी ने साक्षी को यूं भर लिया था बाहों में, ऐसा था CHAMP का सेलिब्रेशन

दो साल बाद दोबारा एंट्री करने को तैयार है चेन्नई सुपरकिंग्स। 7 साल पहले ऐसे बने थे चैंपियन।

Dainik Bhaskar

Apr 03, 2018, 01:44 PM IST
Dhoni celebration after winning IPL trophy with wife sakshi

स्पोर्ट्स डेस्क. इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम दो साल बाद वापसी कर रही है। महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली यह टीम 2010 और 2011 में चैंपियन रही थी। टूर्नामेंट शुरू होने से पहले इस टीम के कप्तान को पद्मभूषण सम्मान से भी नवाजा गया। इस मौके पर DainikBhaskar.com अपने रीडर्स को इस टीम के चैंपियन परफॉर्मेंस के बारे में बता रहा है।

ट्रॉफी जीतते ही धोनी ने साक्षी को लगाया था गले

- साल 2011 धोनी के लिए काफी लकी था। उसी साल उन्होंने देश को वनडे वर्ल्ड कप का खिताब दिलाया था। वर्ल्ड कप खत्म होते ही धोनी IPL खेलने उतरे और उस टूर्नामेंट में भी जीत का परचम लहराया।
- 2011 का फाइनल मैच जीतने के बाद प्रेजेंटेशन के दौरान जैसे ही विनिंग कप्तान का अनाउंसमेंट हुआ, धोनी ने अपनी वाइफ साक्षी को गले लगाया लिया था। धोनी ऐसा करेंगे, यह साक्षी भी एक्सपेक्ट नहीं कर रही थीं। उनके चेहरे पर खुशी के साथ ही हैरानी के भाव भी नजर आ रहे थे।
- साक्षी हर सीजन अपने हसबैंड की टीम को सपोर्ट करती नजर आती हैं।

मुरली विजय बने थे फाइनल के हीरो

- 28 मई 2011 को हुए आईपीएल-4 के फाइनल में चेन्नई सुपरकिंग्स का सामना रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु से था। चेन्नई के चेपॉक मैदान पर हुए मुकाबले में पहले बैंटिंग करने उतरी धोनी की टीम ने 205 रन का स्कोर खड़ा किया था।
- ओपनर मुरली विजय ने 95 रन और उनके पार्टनर माइक हसी ने 63 रन का योगदान दिया था। मुरली ने अपनी पारी में 4 चौके और 6 छक्के लगाए थे। कप्तान धोनी ने भी 22 रन की उपयोगी पारी खेली थी।
- मुरली विजय को मैन ऑफ द मैच चुना गया था।

अश्विन की फिरकी में फंसे थे गेल

- डेनियल वेटोरी की कप्तानी में उतरी बेंगलुरु टीम की बल्लेबाजी बेहद खराब रही थी। 206 रन के टारगेट का पीछा करते हुए RCB कुल 147/8 ही बना सकी थी।
- विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल को रोकने के लिए धोनी ने पहले ही ओवर से स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को लगाया। उन्होंने कप्तान की रणनीति को अंजाम देते हुए महज चौथी गेंद पर गेल को शून्य पर आउट कर दिया था। यहीं से RCB बिखरने लगी थी।
- गेल के आउट होने के बाद विराट कोहली 35 और एबी डिविलियर्स 18 रन बनाकर आउट हुए थे। सौरभ तिवारी ने पुछल्ले बल्लेबाज जहीर खान के साथ मोर्चा संभालने की कोशिश की थी, लेकिन जहीर 19वें ओवर में अपना विकेट गंवा बैठे।
- सौरभ तिवारी 42 रन बनाकर नॉटआउट तो रहे, लेकिन टीम को हार से नहीं बचा सके। चेन्नई की टीम ने 58 रन से मैच जीता था।
- अश्विन ने 16 रन देकर 3 विकेट लिए थे, वहीं शादाब जकाती ने 21 रन देकर 2 विकेट झटके थे। डग बोलिंगर, सुरेश रैना और ड्वेन ब्रावो को 1-1 विकेट मिला था।

जीता था लगातार दूसरा खिताब

- यह चेन्नई सुपरकिंग्स का IPL में लगातार दूसरा खिताब था। इससे पहले 2010 का सीजन भी टीम येलो ने अपने नाम किया था।
- IPL खिताब 2 या उससे ज्यादा बार जीतने वाली चेन्नई पहली टीम थी। उसके बाद यह कारनामा केकेआर (दो बार) और मुंबई इंडियंस (तीन बार) ने किया।

आगे की स्लाइड्स में देखिए 2011 के चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स की यादगार तस्वीरें...

बैटिंग करते-करते हाथ से छूट गया था सौरभ तिवारी का बल्ला। बैटिंग करते-करते हाथ से छूट गया था सौरभ तिवारी का बल्ला।
जीत का जश्न मनाते चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाड़ी। 95 रन की पारी खेलने वाले मुरली विजय मैन ऑफ द मैच रहे थे। जीत का जश्न मनाते चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाड़ी। 95 रन की पारी खेलने वाले मुरली विजय मैन ऑफ द मैच रहे थे।
चेन्नई सुपरकिंग्स की आईपीएल में वह लगातार दूसरी जीत थी। 2010 में भी धोनी की कप्तानी में यह टीम चैंपियन बनी थी। चेन्नई सुपरकिंग्स की आईपीएल में वह लगातार दूसरी जीत थी। 2010 में भी धोनी की कप्तानी में यह टीम चैंपियन बनी थी।
कैच लपकने के प्रयास में ड्वेन ब्रावो जमीन से इतने ऊंचे उछल गए थे। हालांकि, उनकी कोशिश नाकाम रही थी। कैच लपकने के प्रयास में ड्वेन ब्रावो जमीन से इतने ऊंचे उछल गए थे। हालांकि, उनकी कोशिश नाकाम रही थी।
विकेट का जश्न मनाते आर अश्विन, एस बद्रीनाथ और सुरेश रैना। विकेट का जश्न मनाते आर अश्विन, एस बद्रीनाथ और सुरेश रैना।
क्रिस गेल के शून्य पर कॉट बिहाइंड आउट होने पर जश्न मनाते चेन्नई के कप्तान धोनी। क्रिस गेल के शून्य पर कॉट बिहाइंड आउट होने पर जश्न मनाते चेन्नई के कप्तान धोनी।
मैच में मुरली विजय और माइक हसी ने पहले विकेट के लिए 159 रन जोड़े थे। मैच में मुरली विजय और माइक हसी ने पहले विकेट के लिए 159 रन जोड़े थे।
मैच के दौरान कूल डाउन करते मुरली विजय। उन्होंने 52 बॉल्स में 95 रन की शानदार पारी खेली थी। मैच के दौरान कूल डाउन करते मुरली विजय। उन्होंने 52 बॉल्स में 95 रन की शानदार पारी खेली थी।
X
Dhoni celebration after winning IPL trophy with wife sakshi
बैटिंग करते-करते हाथ से छूट गया था सौरभ तिवारी का बल्ला।बैटिंग करते-करते हाथ से छूट गया था सौरभ तिवारी का बल्ला।
जीत का जश्न मनाते चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाड़ी। 95 रन की पारी खेलने वाले मुरली विजय मैन ऑफ द मैच रहे थे।जीत का जश्न मनाते चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाड़ी। 95 रन की पारी खेलने वाले मुरली विजय मैन ऑफ द मैच रहे थे।
चेन्नई सुपरकिंग्स की आईपीएल में वह लगातार दूसरी जीत थी। 2010 में भी धोनी की कप्तानी में यह टीम चैंपियन बनी थी।चेन्नई सुपरकिंग्स की आईपीएल में वह लगातार दूसरी जीत थी। 2010 में भी धोनी की कप्तानी में यह टीम चैंपियन बनी थी।
कैच लपकने के प्रयास में ड्वेन ब्रावो जमीन से इतने ऊंचे उछल गए थे। हालांकि, उनकी कोशिश नाकाम रही थी।कैच लपकने के प्रयास में ड्वेन ब्रावो जमीन से इतने ऊंचे उछल गए थे। हालांकि, उनकी कोशिश नाकाम रही थी।
विकेट का जश्न मनाते आर अश्विन, एस बद्रीनाथ और सुरेश रैना।विकेट का जश्न मनाते आर अश्विन, एस बद्रीनाथ और सुरेश रैना।
क्रिस गेल के शून्य पर कॉट बिहाइंड आउट होने पर जश्न मनाते चेन्नई के कप्तान धोनी।क्रिस गेल के शून्य पर कॉट बिहाइंड आउट होने पर जश्न मनाते चेन्नई के कप्तान धोनी।
मैच में मुरली विजय और माइक हसी ने पहले विकेट के लिए 159 रन जोड़े थे।मैच में मुरली विजय और माइक हसी ने पहले विकेट के लिए 159 रन जोड़े थे।
मैच के दौरान कूल डाउन करते मुरली विजय। उन्होंने 52 बॉल्स में 95 रन की शानदार पारी खेली थी।मैच के दौरान कूल डाउन करते मुरली विजय। उन्होंने 52 बॉल्स में 95 रन की शानदार पारी खेली थी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..