--Advertisement--

धोनी नहीं इस क्रिकेटर को लेना चाहते थे CSK ओनर, पूर्व सिलेक्टर का खुलासा

IPL टीम चेन्नई सुपरकिंग्स साल 2008 में धोनी को 1.5 मिलियन डॉलर में खरीदने में सफल रही।

Dainik Bhaskar

Jan 31, 2018, 05:55 PM IST
चेन्नई सुपरकिंग्स टीम के ओनर श्रीनिवासन के लिए एमएस धोनी पहली पसंद नहीं थे। चेन्नई सुपरकिंग्स टीम के ओनर श्रीनिवासन के लिए एमएस धोनी पहली पसंद नहीं थे।

स्पोर्ट्स डेस्क. दो साल का बैन झेलने के बाद IPL (इंडियन प्रीमियर लीग) के नए सीजन से चेन्नई सुपर किंग्स टीम की वापसी हो रही है। IPL शुरू होने के बाद से ही इस टीम की कप्तानी एमएस धोनी संभाल रहे हैं। वे टूर्नामेंट के सबसे सक्सेसफुल कप्तानों में से एक हैं। टीम के पूर्व सिलेक्टर रहे वीबी चंद्रशेखर ने हाल ही में उन्हें लेकर एक बड़ा खुलासा किया है। चंद्रशेखर के मुताबिक CSK के ओनर एन. श्रीनिवासन धोनी को टीम में नहीं लेना चाहते थे, बल्कि वे तो किसी और दिग्गज क्रिकेटर को टीम में लेने के मूड में थे। इस क्रिकेटर को लेना चाहते थे श्रीनिवासन...

- पूर्व इंडियन क्रिकेटर और पहले सीजन में चेन्नई सुपरकिंग्स टीम के चीफ सिलेक्टर के साथ क्रिकेट ऑपरेशन्स के डायरेक्टर रहे वीबी चंद्रशेखर का कहना है कि उन्होंने ही एमएस धोनी को टीम में लेने के लिए एन. श्रीनिवासन को मनाया था।
- श्रीनिवासन तो धोनी की जगह नजफगढ़ के नवाब यानी वीरेंद्र सहवाग को टीम में लेना चाहते थे। साल 2008 में हुई ऑक्शन से पहले श्रीनिवासन ने मुझसे पूछा था, 'आप किसे लेने जा रहे हैं'। तो जवाब में मैंने धोनी का नाम लिया था। इसके बाद उन्होंने पूछा, 'वीरेंद्र सहवाग क्यों नहीं?'
- इसका जवाब देते हुए मैंने कहा, 'क्राउड वहां जो खेल देखने आएगा उसे सहवाग नहीं दे पाएंगे, साथ ही धोनी कप्तान, विकेटकीपर और बैट्समैन भी हैं। जो अपने बूते मैच बदल सकते हैं। अगले दिन श्रीनि मेरे पास आए और उन्होंने मुझसे कहा, जाओ धोनी को खरीद लो।'

आसान नहीं था धोनी को खरीदना

- चंद्रशेखर के मुताबिक टीम के पास मौजूद छोटे से पर्स के साथ धोनी को खरीदना आसान नहीं था, उनके मुताबिक 'टीम ने धोनी को खरीदने के लिए 1.1 मिलियन रकम के साथ पूरी टीम खरीदने के लिए कुल 5 मिलियन का बजट दिया था।'
- चंद्रशेखर के सोर्सेस के मुताबिक धोनी को खरीदने के लिए कई और टीमें भी इंट्रेस्टेड थीं और उन्होंने इसके लिए 1.3 मिलियन का बजट रखा था। जिसके बाद CSK ने भी धोनी के लिए बजट को बढ़ाकर 1.4 मिलियन कर दिया। लेकिन 5 मिलियन में मुझे पूरी टीम खरीदनी थी।'
- 'जब ऑक्शन चल रही थी। उसी वक्त किसी ने कहा धोनी तो 1.8 मिलियन तक में जाएंगे। तब मैंने कहा था मैं धोनी के लिए 1.5 मिलियन दे सकता हूं। अगर वे इससे ज्यादा पर गए तो मैं उन्हें जाने दूंगा।'
- इसके बाद चेन्नई की टीम साल 2008 में धोनी को 1.5 मिलियन में खरीदने में सफल रही। तब से ही वे इसी टीम के साथ जुड़े हैं और इस टूर्नामेंट के सबसे सफल कप्तानों में से एक हैं।
- धोनी की कप्तानी में चेन्नई सुपरकिंग्स दो बार IPL चैम्पियन बन चुकी है। इसके अलावा इस टीम ने दो बार चैम्पियंस लीग भी जीती।

आगे की स्लाइड्स में देखें, इस खबर से जुड़े फोटोज...

श्रीनिवासन धोनी की बजाए वीरेंद्र सहवाग को टीम में लेना चाहते थे। श्रीनिवासन धोनी की बजाए वीरेंद्र सहवाग को टीम में लेना चाहते थे।
उस वक्त चेन्नई की टीम के चीफ सिलेक्टर रहे वीबी चंद्रशेखर ने ही वीरेंद्र सहवाग की जगह धोनी को टीम में लेने की सलाह दी थी। उस वक्त चेन्नई की टीम के चीफ सिलेक्टर रहे वीबी चंद्रशेखर ने ही वीरेंद्र सहवाग की जगह धोनी को टीम में लेने की सलाह दी थी।
X
चेन्नई सुपरकिंग्स टीम के ओनर श्रीनिवासन के लिए एमएस धोनी पहली पसंद नहीं थे।चेन्नई सुपरकिंग्स टीम के ओनर श्रीनिवासन के लिए एमएस धोनी पहली पसंद नहीं थे।
श्रीनिवासन धोनी की बजाए वीरेंद्र सहवाग को टीम में लेना चाहते थे।श्रीनिवासन धोनी की बजाए वीरेंद्र सहवाग को टीम में लेना चाहते थे।
उस वक्त चेन्नई की टीम के चीफ सिलेक्टर रहे वीबी चंद्रशेखर ने ही वीरेंद्र सहवाग की जगह धोनी को टीम में लेने की सलाह दी थी।उस वक्त चेन्नई की टीम के चीफ सिलेक्टर रहे वीबी चंद्रशेखर ने ही वीरेंद्र सहवाग की जगह धोनी को टीम में लेने की सलाह दी थी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..