--Advertisement--

जिंदा नहीं होता श्रीलंका का एक भी प्लेयर, अगर इस शख्स ने नहीं दिखाई होती हिम्मत

साल 2009 में श्रीलंकाई क्रिकेट टीम 3 टेस्ट और 3 वनडे मैचों की सीरीज खेलने के लिए पाकिस्तान गई थी।

Dainik Bhaskar

Mar 03, 2018, 12:51 PM IST
3 मार्च साल 2009 में पाकिस्तान टूर पर गई श्रीलंकाई प्लेयर्स की बस पर लाहौर में आतंकी हमला हुआ था। उस वक्त बस चला रहे मोहम्मद खलील (राइट फोटो) की सूझबूझ की वजह से प्लेयर्स की जान बच सकी थी। 3 मार्च साल 2009 में पाकिस्तान टूर पर गई श्रीलंकाई प्लेयर्स की बस पर लाहौर में आतंकी हमला हुआ था। उस वक्त बस चला रहे मोहम्मद खलील (राइट फोटो) की सूझबूझ की वजह से प्लेयर्स की जान बच सकी थी।

स्पोर्ट्स डेस्क. 3 मार्च का दिन क्रिकेट हिस्ट्री में एक काले दिन के तौर पर याद किया जाता है। साल 2009 में इसी दिन पाकिस्तान टूर पर गई श्रीलंकाई क्रिकेट टीम पर लाहौर में आतंकवादी हमला हुआ था। जिसमें प्लेयर्स की जान बाल-बाल बची थी। आतंकी, मेहमान टीम के सभी प्लेयर्स की जान लेने के मकसद से आए थे, लेकिन एक शख्स की हिम्मत की वजह से पूरी टीम की जान बच गई थी। गोलियों के बीच ड्राइवर ने दिखाई थी हिम्मत...

- साल 2009 में श्रीलंकाई क्रिकेट टीम 3 टेस्ट और 3 वनडे मैचों की सीरीज खेलने के लिए पाकिस्तान गई थी। 1 मार्च से सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच शुरू हुआ था।
- 3 मार्च को मैच के तीसरे दिन श्रीलंकाई क्रिकेटर्स बस में सवार होकर होटल से लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम जाने के लिए निकले। इसी दौरान रास्ते में करीब 12 आतंकवादियों ने टीम की बस पर हमला कर दिया।
- जिसके बाद टीम के साथ मौजूद सुरक्षा बलों से जवाबी कार्रवाई करते हुए उन्हें जवाब भी दिया। हमालावरों ने टीम की बस पर रॉकेट लॉन्चर भी दागा, लेकिन किस्मत से ये निशाना चूक गया।
- इस दौरान बस को मेहर मोहम्मद खलील नाम का ड्राइवर चला रहा था। खलील ने सूझ-बूझ दिखाते हुए बस को नहीं रोका और भारी गोलीबारी के बीच बस को लगातार चलाकर स्टेडियम तक पहुंच गया।

खतरे के बाद भी बचाई प्लेयर्स की जान

- 3 मार्च, 2009 को टीम बस पर हुए इस हमले की पूरी घटना के बारे में खलील ने बताया था। खलील के मुताबिक 'पहले मुझे लगा कि ये मेहमान टीम के स्वागत में फोड़े जा रहे पटाखों की आवाज है। लेकिन फिर एक आदमी हमारी बस के ठीक सामने आ गया और तड़ातड़ गोलियां बरसाने लगा। इसके बाद मुझे लगा कि ये पटाखे नहीं कुछ और है। हम पर हमला हुआ है।'
- 'उस वक्त मैं घबरा गया, लेकिन तभी पीछे से श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने चिल्लाते हुए बस भगाने को कहा। उन्होंने इतनी तेज चीखा कि मुझे 440 वोल्ट करंट जैसा महसूस हुआ। फिर पता नहीं क्या हुआ, मैं बिना कुछ सोचे समझे बस भगाने लगा।'
- खलील ने बताया, 'सेफ लोकेशन पर पहुंचने के बाद श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने मेरी काफी सराहना की। उनमें से एक खिलाड़ी ने मुझे साथ श्रीलंका चलने को कहा, लेकिन मैंने कहा कि मैं परिवार वाला हूं। उन्हें छोड़कर मैं कहीं नहीं जा सकता।'
- इस बहादुरी के लिए खलील को श्रीलंका के राष्ट्रपति ने सम्मानित भी किया था।

8 लोगों की हुई थी मौत

- इस हमले में श्रीलंकाई कप्तान माहेला जयवर्धने, उपकप्तान कुमार संगाकारा समेत 6 प्लेयर्स को चोट आई थी। वहीं टीम के असिस्टेंट कोच को भी चोट लगी थी।
- हमले में पाकिस्तान पुलिस के 6 जवान समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी। हमले के बाद श्रीलंकाई प्लेयर्स को स्टेडियम से एयरलिफ्ट कर एयरपोर्ट पहुंचाया गया था।

आगे की स्लाइड्स में देखें, किस तरह हुआ था श्रीलंका टीम पर हमला...

आतंकियों ने श्रीलंकाई प्लेयर्स की बस पर गोलियां चलाने के अलावा रॉकेट लॉन्चर भी छोड़ा था। हालांकि वो निशाना चूक गया था। आतंकियों ने श्रीलंकाई प्लेयर्स की बस पर गोलियां चलाने के अलावा रॉकेट लॉन्चर भी छोड़ा था। हालांकि वो निशाना चूक गया था।
इस आतंकी हमले में 7 श्रीलंकाई प्लेयर्स घायल हुए थे। फोटो में वाइफ और बच्चे के साथ थिलान समरवीरा। इस आतंकी हमले में 7 श्रीलंकाई प्लेयर्स घायल हुए थे। फोटो में वाइफ और बच्चे के साथ थिलान समरवीरा।
हमले के बाद कई प्लेयर्स को हॉस्पिटल ले जाना पड़ा था। हमले के बाद कई प्लेयर्स को हॉस्पिटल ले जाना पड़ा था।
ये आतंकी हमला श्रीलंकाई टीम के होटल से स्टेडियम जाने के दौरान रास्ते में हुआ था। हमले में श्रीलंकाई स्पिनर अजंता मेंडिस को भी चोट आई थी। ये आतंकी हमला श्रीलंकाई टीम के होटल से स्टेडियम जाने के दौरान रास्ते में हुआ था। हमले में श्रीलंकाई स्पिनर अजंता मेंडिस को भी चोट आई थी।
इस हमले में स्टार विकेटकीपर बैट्समैन कुमार संगकारा, स्पिनर अजंता मेंडिस, थिलान समरवीरा, थरंगा परनाविताना, सुरंगा लकमल, थिलाना थुसारा और असिस्टेंट कोच पॉल फारब्रेस आतंकी हमले में घायल हुए थे। इस हमले में स्टार विकेटकीपर बैट्समैन कुमार संगकारा, स्पिनर अजंता मेंडिस, थिलान समरवीरा, थरंगा परनाविताना, सुरंगा लकमल, थिलाना थुसारा और असिस्टेंट कोच पॉल फारब्रेस आतंकी हमले में घायल हुए थे।
हमले के बाद बस के बाहर खड़े पुलिसकर्मी। हमले के बाद बस के बाहर खड़े पुलिसकर्मी।
हमले में श्रीलंकाई प्लेयर्स को बचाने के दौरान कई पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। हमले में श्रीलंकाई प्लेयर्स को बचाने के दौरान कई पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे।
इसी बस पर हमला हुआ था। इसी बस पर हमला हुआ था।
श्रीलंकाई प्लेयर्स की जान बचाने वाला ड्राइवर मेहर मोहम्मद खलील। श्रीलंकाई प्लेयर्स की जान बचाने वाला ड्राइवर मेहर मोहम्मद खलील।
स्टेडियम पहुंचने के बाद प्लेयर्स को एयरलिफ्ट करते हुए वहां से निकाला गया था। स्टेडियम पहुंचने के बाद प्लेयर्स को एयरलिफ्ट करते हुए वहां से निकाला गया था।
हमले के बाद इसी हेलीकॉप्टर से प्लेयर्स को बाहर निकाला गया था। हमले के बाद इसी हेलीकॉप्टर से प्लेयर्स को बाहर निकाला गया था।
Driver Meher Mohammad Khalil became a hero when militants attacked the Sri Lankan cricket team in 2009
हमले के बाद स्वदेश लौटे महेला जयवर्द्धने के साथ उनकी वाइफ क्रिस्टीना। हमले के बाद स्वदेश लौटे महेला जयवर्द्धने के साथ उनकी वाइफ क्रिस्टीना।
Driver Meher Mohammad Khalil became a hero when militants attacked the Sri Lankan cricket team in 2009
X
3 मार्च साल 2009 में पाकिस्तान टूर पर गई श्रीलंकाई प्लेयर्स की बस पर लाहौर में आतंकी हमला हुआ था। उस वक्त बस चला रहे मोहम्मद खलील (राइट फोटो) की सूझबूझ की वजह से प्लेयर्स की जान बच सकी थी।3 मार्च साल 2009 में पाकिस्तान टूर पर गई श्रीलंकाई प्लेयर्स की बस पर लाहौर में आतंकी हमला हुआ था। उस वक्त बस चला रहे मोहम्मद खलील (राइट फोटो) की सूझबूझ की वजह से प्लेयर्स की जान बच सकी थी।
आतंकियों ने श्रीलंकाई प्लेयर्स की बस पर गोलियां चलाने के अलावा रॉकेट लॉन्चर भी छोड़ा था। हालांकि वो निशाना चूक गया था।आतंकियों ने श्रीलंकाई प्लेयर्स की बस पर गोलियां चलाने के अलावा रॉकेट लॉन्चर भी छोड़ा था। हालांकि वो निशाना चूक गया था।
इस आतंकी हमले में 7 श्रीलंकाई प्लेयर्स घायल हुए थे। फोटो में वाइफ और बच्चे के साथ थिलान समरवीरा।इस आतंकी हमले में 7 श्रीलंकाई प्लेयर्स घायल हुए थे। फोटो में वाइफ और बच्चे के साथ थिलान समरवीरा।
हमले के बाद कई प्लेयर्स को हॉस्पिटल ले जाना पड़ा था।हमले के बाद कई प्लेयर्स को हॉस्पिटल ले जाना पड़ा था।
ये आतंकी हमला श्रीलंकाई टीम के होटल से स्टेडियम जाने के दौरान रास्ते में हुआ था। हमले में श्रीलंकाई स्पिनर अजंता मेंडिस को भी चोट आई थी।ये आतंकी हमला श्रीलंकाई टीम के होटल से स्टेडियम जाने के दौरान रास्ते में हुआ था। हमले में श्रीलंकाई स्पिनर अजंता मेंडिस को भी चोट आई थी।
इस हमले में स्टार विकेटकीपर बैट्समैन कुमार संगकारा, स्पिनर अजंता मेंडिस, थिलान समरवीरा, थरंगा परनाविताना, सुरंगा लकमल, थिलाना थुसारा और असिस्टेंट कोच पॉल फारब्रेस आतंकी हमले में घायल हुए थे।इस हमले में स्टार विकेटकीपर बैट्समैन कुमार संगकारा, स्पिनर अजंता मेंडिस, थिलान समरवीरा, थरंगा परनाविताना, सुरंगा लकमल, थिलाना थुसारा और असिस्टेंट कोच पॉल फारब्रेस आतंकी हमले में घायल हुए थे।
हमले के बाद बस के बाहर खड़े पुलिसकर्मी।हमले के बाद बस के बाहर खड़े पुलिसकर्मी।
हमले में श्रीलंकाई प्लेयर्स को बचाने के दौरान कई पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे।हमले में श्रीलंकाई प्लेयर्स को बचाने के दौरान कई पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे।
इसी बस पर हमला हुआ था।इसी बस पर हमला हुआ था।
श्रीलंकाई प्लेयर्स की जान बचाने वाला ड्राइवर मेहर मोहम्मद खलील।श्रीलंकाई प्लेयर्स की जान बचाने वाला ड्राइवर मेहर मोहम्मद खलील।
स्टेडियम पहुंचने के बाद प्लेयर्स को एयरलिफ्ट करते हुए वहां से निकाला गया था।स्टेडियम पहुंचने के बाद प्लेयर्स को एयरलिफ्ट करते हुए वहां से निकाला गया था।
हमले के बाद इसी हेलीकॉप्टर से प्लेयर्स को बाहर निकाला गया था।हमले के बाद इसी हेलीकॉप्टर से प्लेयर्स को बाहर निकाला गया था।
Driver Meher Mohammad Khalil became a hero when militants attacked the Sri Lankan cricket team in 2009
हमले के बाद स्वदेश लौटे महेला जयवर्द्धने के साथ उनकी वाइफ क्रिस्टीना।हमले के बाद स्वदेश लौटे महेला जयवर्द्धने के साथ उनकी वाइफ क्रिस्टीना।
Driver Meher Mohammad Khalil became a hero when militants attacked the Sri Lankan cricket team in 2009
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..