Hindi News »Sports »Cricket »Talking Pictures» Rajneesh Born In Nagpur But Spent His Formative Years In Mumbai.

रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा

रजनीश को पहला बार विदर्भ अंडर-19 टीम में जगह मिली। इसके बाद उन्होंने अंडर-23 क्रिकेट टूर्नामेंट में खेला।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Dec 31, 2017, 11:40 AM IST

  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
    रजनीश गुरबानी (राइट फोटो) ने रणजी ट्रॉफी के फाइनल में हैट्रिक लेकर कमाल कर दिया। वे फाइनल में हैट्रिक लेने वाले दूसरे बॉलर हैं।

    स्पोर्ट्स डेस्क.इंदौर में हो रहे रणजी ट्रॉफी के फाइनल मैच में विदर्भ के बॉलर रजनीश गुरबानी ने दिल्ली के खिलाफ हैट्रिक लेकर कमाल कर दिया। खास बात ये है कि तीनों बैट्समैन को उन्होंने बोल्ड किया। इसके साथ ही वे इस ट्रॉफी के फाइनल में हैट्रिक लेने वाले दूसरे बॉलर बन गए। उनसे पहले तमिलनाडु के बी कल्याणसुंदरम ने 1972-73 सत्र के फाइनल में मुंबई (तत्कालीन बंबई) के खिलाफ हैट्रिक ली थी। सलाइन लगाने के बाद ली हैट्रिक...

    - रजनीश शुक्रवार को मांसपेशियों में खिंचाव के कारण बॉलिंग नहीं कर पाए थे। फिर शनिवार को उन्हें डी-हाइड्रेशन हो गया।
    - तबीयत खराब होने के बाद स्टेडियम के मेडिकल सेंटर में ही उन्हें ग्लूकोज चढ़ाई गई। इसके बाद वे मैदान में उतरे और हैट्रिक लेने का कारनामा कर दिया।
    - हैट्रिक के तीनों विकेट उन्होंने बोल्ड करते हुए लिए। इस दौरान 101वें ओवर की पांचवीं बॉल पर विकास मिश्रा), छठी बॉल पर नितिन सैनी और 103वें ओवर की पहली बॉल पर ध्रुव शौरी को आउट किया।

    - इससे पहले 24 साल के रजनीश ने रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में कर्नाटक के खिलाफ 68 रन देकर 7 विकेट लिए थे और टीम को फाइनल तक पहुंचाने में अहम रोल निभाया था।

    पिता है इंजीनियर तो मां है प्रिंसिपल

    - रजनीश के पिता नरेश रेलवे में डिप्टी चीफ इंजीनियर हैं, वहीं उनकी मां दिव्या स्कूल प्रिंसिपल हैं। जिसकी वजह से उन्होंने दोनों बेटों की पढ़ाई में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी।
    - प्रोफेशनल क्रिकेटर बनने से पहले रजनीश ने सिविल इंजीनियर की पढ़ाई पूरी की। वहीं उनका छोटा भाई भी IIT खड़गपुर से इंजीनियरिंग कर रहा है।
    - रजनीश क्रिकेट के अलावा फुटबॉल और एथलेटिक्स भी खेलते हैं। उनके मुताबिक स्कूल टाइम में उन्होंने दूसरे गेम्स में कई ट्रॉफिज और मेडल्स भी जीते हैं।

    आगे की स्लाइड्स में देखें, रजनीश की पर्सनल लाइफ के फोटोज और जानें कुछ फैक्ट्स...

  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
    टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी के साथ रजनीश।

    कम उम्र में सीखना शुरू किया क्रिकेट

    - रजनीश का जन्म नागपुर में हुआ, लेकिन उनका बचपन मुंबई में गुजरा। यहां के बायकुला एरिया के सेंट मैरी स्कूल में पढ़ने के दौरान उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरू किया।
    - स्कूल की टीम से जाइल्स शील्ड क्रिकेट टूर्नामेंट में खेलते हुए रजनीश ने शानदार परफॉर्म किया। जिसके बाद स्कूल कोच ने उनके पैरेंट्स को प्रोफेशनल क्रिकेट ट्रेनिंग दिलाने की सलाह दी।
    - 10 साल की उम्र में रजनीश ने पूर्व भारतीय क्रिकेटर दिलीप वेंगसरकर की टोटल एकेडमी ज्वाइन की। हालांकि, कुछ महीनों बाद उनके पिता का ट्रांसफर नागपुर हो गया।
    - शहर बदलने के बाद भी क्रिकेट को लेकर उनका जुनून कम नहीं हुआ। नागपुर में रजनीश ने लोकल लेवल पर चलने वाले आंबेडकर क्रिकेट क्लब जाना शुरू किया। साथ ही इंजीनियरिंग के लिए पढ़ाई पर भी फोकस रखा।

  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
    ऑस्ट्रेलियाई महान बॉलर ग्लेन मैक्ग्राथ के साथ रजनीश।

    माता-पिता ने पढ़ाई में नहीं बरती कोई ढील


    - रजनीश का कहना है कि हम दोनों भाइयों को मिली सफलता को लेकर लोग आज भी हमारे पैरेंट्स की तारीफ करते हैं।
    - गुरबानी का कहना है कि क्रिकेट प्रैक्टिस की वजह से ना केवल मुझे कई बार क्लासेस मिस करना पड़ती थीं, वहीं कई बार ट्यूशन्स को भी छोड़ना पड़ा।
    - जब भी मेरी क्लास मिस होती थी तो मेरी मां ही मुझे पढ़ाती थी। वहीं पापा जो खुद भी सिविल इंजीनियर हैं, मुझे कॉलेज के बारे में बताते थे।

  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
    दोस्तों के साथ रिवर राफ्टिंग का मजा लेते हुए रजनीश (लाल घेरे में)।

    विदर्भ टीम से किया था डेब्यू

    - रजनीश ने अक्टूबर 2016 में विदर्भ की ओर से खेलते हुए झारखंड के खिलाफ अपना फर्स्ट क्लास डेब्यू किया था। इससे पहले दिसंबर 2015 में ओडिशा के खिलाफ लिस्ट ए डेब्यू किया था।

  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
    कॉलेज टाइम में रजनीश काफी अच्छे एथलीट भी रहे। उन्होंने 200, 400 और 4*400 गुना रेस में कई मेडल भी जीते।
  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
    गौतम गंभीर के साथ रजनीश।
  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
    अपने माता-पिता के साथ रजनीश।
  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
    मां और दोस्तों (राइट फोटो) के साथ रजनीश।
  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
    रजनीश गुरबानी।
  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
    रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल जीतने के बाद टीम में अपने साथियों के साथ रजनीश।
  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
    टीम इंडिया के क्रिकेटर मुरली विजय के साथ रजनीश।
  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में छा गया ये इंजीनियर, पर्सनल लाइफ में है कुछ ऐसा, sports news in hindi, sports news
    +12और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Rajneesh Born In Nagpur But Spent His Formative Years In Mumbai.
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Talking Pictures

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×