• Home
  • Sports
  • Cricket
  • Shakib and Nurul fined for breaching ICC Code of Conduct in separate incidents
--Advertisement--

बांग्लादेशी प्लेयर्स मैदान पर कर रहे थे नागिन डांस, अब लगा ICC का डंक

निदाहास ट्रॉफी के छठे मैच में शुक्रवार रात को आखिरी ओवर में जमकर हंगामा हुआ था। जिसके चलते कई मिनट तक मैच रुका रहा था।

Danik Bhaskar | Mar 17, 2018, 05:52 PM IST

स्पोर्ट्स डेस्क. श्रीलंका में चल रही निदाहास टी20 ट्राई सीरीज के छठे मैच में हुए हंगामे को लेकर ICC ने कार्रवाई कर दी है। ICC ने बांग्लादेश के दो प्लेयर्स को निशाने पर लेते हुए उन पर जुर्माना लगाया है और डिमेरिट प्वाइंट्स दिए हैं। बड़े हंगामे के बाद मिली बेहद कम सजा...

- ICC ने बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन पर मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना लगाया है। इसके साथ ही उनके खाते में एक डिमेरिट प्वाइंट भी जोड़ दिया गया है। उन पर ये कार्रवाई अंपायर के फैसले का विरोध करने पर की गई है।
- इस मैच से जुड़े एक अन्य मामले में ICC ने बांग्लादेशी प्लेयर नुरुल हसन पर भी कार्रवाई की है। उन पर भी मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है साथ ही उन्हें भी एक डिमेरिट प्वाइंट भी दिया है।
- शाकिब पर ये कार्रवाई ICC की आचार संहिता के अनुच्छेद 2.1.1 के उल्लंघन का दोषी पाए जाने पर की गई है। ये अनुच्छेद 'प्लेयर का आचरण खेल भावना के खिलाफ होने' से संबंधित है। जबकि नुरुल को अनुच्छेद 2.1.2 का उल्लंघन करने का दोषी पाया गया, जो 'अपने आचरण से खेल को बदनाम करने' से संबंधित है।

- इस घटना को लेकर आईसीसी की ओर से कहा गया, ‘शनिवार को शाकिब और नुरुल ने मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड के सामने अपनी गलती मानते हुए उनके फैसले को स्वीकार कर लिया।'


मैच रैफरी ने कही ये बात

- इस घटना को लेकर मैच रैफरी क्रिस ब्रॉड ने कहा, 'शुक्रवार की घटना काफी निराशाजनक थी, क्योंकि आप इस स्तर पर खिलाड़ियों से ऐसे आचरण की उम्मीद नहीं करते। मैं यह समझता हूं कि ये काफी तनावपूर्ण मैच था, लेकिन इसके बाद भी दोनों टीमों के प्लेयर्स के व्यवहार को बिल्कुल भी एक्सेप्ट नहीं किया जा सकता। वो माफी लायक नहीं था।'
- उन्होंने कहा, 'अगर चौथे अंपायर ने शाकिब और विरोध कर रहे खिलाड़ियों को नहीं रोका होता या मैदानी अंपायर ने नुरुल और तिसारा को नहीं रोका होता तो स्थिति और बिगड़ सकती थी।'

हरकत के बाद बदल गए शाकिब

- मैच के बाद शाकिब ने कहा था, 'मैं उन्हें वापस नहीं बुला रहा था। मैं उन्हें खेलते रहने के लिए कह रहा था। आप इसे दोनों तरह से ले सकते हैं। ये इस बात पर निर्भर करता है कि आप इसे किस तरह से देखते हो।'
- शाकिब के मुताबिक 'श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच हमेशा से हेल्दी कॉम्पीटिशन होता रहा है। हम मैदान के बाहर दोस्त हैं। आखिरी ओवर में जो विवाद हुआ, वो अति उत्साह का नतीजा था।'
- 'रोमांचक मुकाबले में कभी-कभी खिलाड़ी भावुक हो जाते हैं। हालांकि, जो हुआ, वह नहीं होना चाहिए था। उम्मीद है आगे ऐसी गलती नहीं होगी।'

आगे की स्लाइड्स में देखें, किस तरह बांग्लादेशी प्लेयर्स ने मैच में की थी बदतमीजी...