--Advertisement--

जब बुरी तरह घायल होने पर भी खेले ये 5 क्रिकेटर्स, टीम को जीत दिलाकर ही माने

Dainik Bhaskar

Feb 06, 2018, 03:49 PM IST

उनमुक्त चंद नेट प्रैक्टिस के दौरान चोटिल हो गए थे। उनके साथ ये हादसा मैच शुरू होने के ठीक पहले हुआ।

उन्मुक्त चंद। उन्मुक्त चंद।

स्पोर्ट्स डेस्क. दिल्ली के बैट्समैन उन्मुक्त चंद ने विजय हजारे ट्रॉफी के मैच में टूटे जबड़े के साथ बैटिंग की। उन्हें मैच में सेन्चुरी लगाकर अपनी टीम को 55 रन से जीत भी दिलाई। उन्मुक्त को देखकर सभी को पूर्व क्रिकेटर अनिल कुंबले की याद आ गई। दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बीच हुए इस मैच में उन्मुक्त ने 116 रन की इनिंग खेली। इससे पहले खराब फॉर्म के कारण उन्हें रणजी ट्रॉफी के फाइनल और सेमीफाइनल मुकाबले से हटा दिया गया था। ऐसे टूटा जबड़ा....

- उनमुक्त चंद नेट प्रैक्टिस के दौरान चोटिल हो गए थे। उनके साथ ये हादसा मैच शुरू होने के ठीक पहले हुआ। बावजूद इसके वो खेलने के लिए तैयार थे। ओपनिंग करने आए उन्मुक्त ने 125 का सामना करते हुए 12 चौके और तीन सिक्स लगाए और 116 रन की इनिंग खेली।

ऐसा रहा मैच
- पहले बैटिंग करते हुए दिल्ली की टीम ने 50 ओवर में 6 विकेट खोकर 307 रन बनाए। चंद के अलावा हितेन दलाल ने 57 रन की इनिंग खेली।

- 308 रन के टारगेट का पीछा करते उत्तर प्रदेश की टीम 45.3 ओवर में 252 रन पर ही ऑलआउट हो गई। उनके लिए उमंग शर्मा ने 102 रन की इनिंग खेली।

आगे की स्लाइड्स में जानें ऐसे ही कुछ और क्रिकेटर्स के बारे में जो चोटिल होने के बावजूद फील्ड पर उतरे और अपनी टीम को जीत दिला दी....

विराट कोहलीः 2016 के आईपीएल के दौरान विराट के सीधे हाथ में 8 स्टिच आई थीं। बावजूद इसके उन्होंने न सिर्फ अगला मैच खेला, बल्कि 113 रन बनाकर अपनी टीम को जीत भी दिलाई थी। विराट कोहलीः 2016 के आईपीएल के दौरान विराट के सीधे हाथ में 8 स्टिच आई थीं। बावजूद इसके उन्होंने न सिर्फ अगला मैच खेला, बल्कि 113 रन बनाकर अपनी टीम को जीत भी दिलाई थी।
अनिल कुंबलेः 2002 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच में कुंबले का टूटे जबड़े के साथ बॉलिंग करना शायद ही कोई क्रिकेट फैन भूला हो। बैटिंग करते वक्त वेस्ट इंडीज बॉलर मार्वन ढिल्लन की बॉल कुंबले को लगी। बावजूद इसके वो इनिंग खत्म होने के बाद बॉलिंग करने आए और ब्रायन लारा की विकेट भी लिया। अनिल कुंबलेः 2002 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच में कुंबले का टूटे जबड़े के साथ बॉलिंग करना शायद ही कोई क्रिकेट फैन भूला हो। बैटिंग करते वक्त वेस्ट इंडीज बॉलर मार्वन ढिल्लन की बॉल कुंबले को लगी। बावजूद इसके वो इनिंग खत्म होने के बाद बॉलिंग करने आए और ब्रायन लारा की विकेट भी लिया।
सचिन तेंडुलकरः 1999 में चेन्नई में भारत-पाकिस्तान के बीच टेस्ट मैच था। इसमें सचिन तेंडुलकर ने बैक इंजरी होने के बाद भी खेला था और 136 रन स्कोर किए थे। सचिन तेंडुलकरः 1999 में चेन्नई में भारत-पाकिस्तान के बीच टेस्ट मैच था। इसमें सचिन तेंडुलकर ने बैक इंजरी होने के बाद भी खेला था और 136 रन स्कोर किए थे।
X
उन्मुक्त चंद।उन्मुक्त चंद।
विराट कोहलीः 2016 के आईपीएल के दौरान विराट के सीधे हाथ में 8 स्टिच आई थीं। बावजूद इसके उन्होंने न सिर्फ अगला मैच खेला, बल्कि 113 रन बनाकर अपनी टीम को जीत भी दिलाई थी।विराट कोहलीः 2016 के आईपीएल के दौरान विराट के सीधे हाथ में 8 स्टिच आई थीं। बावजूद इसके उन्होंने न सिर्फ अगला मैच खेला, बल्कि 113 रन बनाकर अपनी टीम को जीत भी दिलाई थी।
अनिल कुंबलेः 2002 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच में कुंबले का टूटे जबड़े के साथ बॉलिंग करना शायद ही कोई क्रिकेट फैन भूला हो। बैटिंग करते वक्त वेस्ट इंडीज बॉलर मार्वन ढिल्लन की बॉल कुंबले को लगी। बावजूद इसके वो इनिंग खत्म होने के बाद बॉलिंग करने आए और ब्रायन लारा की विकेट भी लिया।अनिल कुंबलेः 2002 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच में कुंबले का टूटे जबड़े के साथ बॉलिंग करना शायद ही कोई क्रिकेट फैन भूला हो। बैटिंग करते वक्त वेस्ट इंडीज बॉलर मार्वन ढिल्लन की बॉल कुंबले को लगी। बावजूद इसके वो इनिंग खत्म होने के बाद बॉलिंग करने आए और ब्रायन लारा की विकेट भी लिया।
सचिन तेंडुलकरः 1999 में चेन्नई में भारत-पाकिस्तान के बीच टेस्ट मैच था। इसमें सचिन तेंडुलकर ने बैक इंजरी होने के बाद भी खेला था और 136 रन स्कोर किए थे।सचिन तेंडुलकरः 1999 में चेन्नई में भारत-पाकिस्तान के बीच टेस्ट मैच था। इसमें सचिन तेंडुलकर ने बैक इंजरी होने के बाद भी खेला था और 136 रन स्कोर किए थे।
Astrology

Recommended

Click to listen..