--Advertisement--

वर्ल्ड कप जिताने के 1 साल बाद ही टीम से निकाले गए थे कपिल, ये थी वजह

1984 में कपिल देव को निकाले जाने का फैसला फैन्स को भी रास नहीं आया था और उन्होंने 'नो कपिल नोट टेस्ट' के नारे लगाए थे।

Dainik Bhaskar

Jan 04, 2018, 06:19 PM IST
कपिल देव। कपिल देव।

स्पोर्ट्स डेस्क. भारत को पहली बार वर्ल्ड चैम्पियन बनाने वाले कप्तान कपिल देव को भी टीम से बाहर होना पड़ा था। जून, 1983 में टीम इंडिया चैम्पियन बनी थी। इसके एक साल बाद दिसंबर, 1984 में कपिल देव को टीम से बाहर होना पड़ा था। ऐसा इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान हुआ था। इसी इंसीडेंट के बाद भारत के दो दिग्गज क्रिकेटर्स सुनील गावसकर और कपिल देव के बीच विवाद सामने आया था। ये हुआ था 1984 में...

- टीम इंडिया इंग्लैंड के खिलाफ होम टेस्ट सीरीज खेल रही थी। इसमें उसे 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था।

- सीरीज का चौथा टेस्ट कोलकाता के ईडन गार्डन ग्राउंड पर होना था। इससे पहले ही कपिल देव को टीम से निकाल दिया गया। इसके पीछे सुनील गावसकर का हाथ होने की बात सामने आई। तब गावसकर टीम के कप्तान थे।

- दरअसल, इससे पहले दिल्ली में हुए तीसरे टेस्ट में कपिल देव ने कुछ ऐसा किया था, जिससे सिलेक्टर्स उनसे नाराज हो गए थे।

कपिल के बाहर होने की वजह का 32 साल बाद हुआ खुलासा

- कपिल देव और सुनील गावसकर के रिश्ते कभी अच्छे नहीं रहे। 1984 में हुए इसी इंसीडेंस को माना जाता है, जब कपिल देव टीम से बाहर कर दिए गए थे।

- 2016 में गावसकर ने एक इंटरव्यू में इस बारे में खुलासा करते हुए खुद को पूरे विवाद से दूर बताया था। उन्होंने कहा था हारती हुई सीरीज में कोई भी कप्तान अपने स्टार खिलाड़ी को बाहर करने जैसा काम नहीं करेगा।

- गावसकर के अनुसार, 'दिल्ली टेस्ट के आखिरी दिन कपिल बैटिंग करते हुए बेहद खराब शॉट खेलकर आउट हुए थे। वो भी तब जब टीम मैच बचाने की कोशिश कर रही थी। अच्छे बैट्समैन के इस तरह आउट होने से नाराज सिलेक्टर्स ने कपिल को कोलकाता टेस्ट से ड्रॉप करने का फैसला लिया था।'

- गावसकर ने ये कहा था कि वो भविष्य में उस सिलेक्टर के नाम का खुलासा कर सकते हैं, जिन्होंने कपिल को उस टीम से निकाला था। गावसकर के अनुसार, 'वो सिलेक्टर ना सिर्फ कपिल को टीम से निकालने चाहते थे, बल्कि उनकी मैच फीस भी कटवाना चाहते थे।'

- हालांकि, लंबे समय से माना जाता था कि गावसरकर और कपिल देव के बीच मनमुटाव का ये बड़ा कारण रहा है।

आगे की स्लाइड्स में जानें एक ही देश के ऐसे कुछ और क्रिकेटर्स के बारे में जिनके बीच रहा 36 का आंकड़ा.....

मोहम्मद अजहरुद्दीन और रवि शास्त्री। मोहम्मद अजहरुद्दीन और रवि शास्त्री।

अजहर की कप्तानी से चिढ़ते थे शास्त्री

 

- टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री और पूर्व क्रिकेटर अजहरुद्दीन के बीच 36 का आंकड़ा रहा है। अजहरुद्दीन पर बनी उनकी बायोपकि "अजहर" में भी दिखाया गया है कि कप्तान बनाए जाने के बाद से ही शास्त्री उनसे चिड़ते थे। दोनों के बीच ड्रेसिंग रूम में झगड़े भी हुए हैं। वहीं, शास्त्री ने इस फिल्म पर आपत्ति जताई थी और कहा था कि इसमें उनके कैरेक्टर को खराब करने की कोशिश की गई है।

श्रीसंत और हरभजन सिंह। श्रीसंत और हरभजन सिंह।

2008 में हुआ था थप्पड़ कांड

 

- IPL के पहले ही सीजन यानी 2008 में भारतीय क्रिकेटर्स हरभजन सिंह और श्रीसंत के बीच झगड़े के बाद दोनों बात नहीं करते हैं। मुंबई इंडियन्स से खेलते हुए भज्जी ने किंग्स इलेवन पंजाब के बॉलर रहे श्रीसंत को थप्पड़ जड़ दिया था।

सचिन तेंडुलकर और विनोद कांबली। सचिन तेंडुलकर और विनोद कांबली।

सचिन पर कांबली ने लगाए कई आरोप

 

- करियर के शुरुआती दिनों में जिगरी दोस्त रहे क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर और उनके दोस्त विनोद कांबली के बीच छत्तीस का आंकड़ा रहा है। दोनों के बीच मनमुटाव कांबली के खराब होते करियर के कारण आया। कांबली खेल के प्रति सीरियस नहीं थे और उन्होंने सचिन पर उन्हें सपोर्ट नहीं करने का आरोप लगाया था। 2013 में सचिन ने अपनी रिटायरमेंट पार्टी में भी कांबली को इन्वाइट नहीं किया था, जिससे वे भड़क गए थे। हालांकि, अब दोनों कभी-कभी किसी इवेंट में साथ नजर आते हैं।

अंबाति रायुडू और हरभजन सिंह। अंबाति रायुडू और हरभजन सिंह।

हरभजन की बात से भड़क गए थे रायुडू

 

- IPL 2016 के एक मैच में भारतीय प्लेयर्स अंबाति रायुडू और हरभजन सिंह मुंबई इंडियन्स से खेल रहे थे। हरभजन की एक बॉल पर रायुडू ने बाउंड्री पर मिस फील्ड कर दिया था, इस पर भज्जी ने उन्हें अपशब्द कहे थे।  इसके बाद भड़के हुए रायुडू हरभजन से लड़ने तक गए थे। लाइव मैच के दौरान हुई इस घटना के बाद दोनों एक दूसरे से दूरी बनाए रहते हैं।

शाहिद आफरीदी और जावेद मियांदाद। शाहिद आफरीदी और जावेद मियांदाद।

आफरीदी को देते थे गाली

 

- पाकिस्तान के विवादित क्रिकेटर रहे जावेद मियांदाद और शाहिद आफरीदी के बीच कई झगड़े हुए हैं जिस वजह से दोनों एक दूसरे से बात नहीं करते हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक सीनियर क्रिकेटर रहे जावेद मियांदाद आफरीदी को गंदी गाली देकर बुलाते थे।

X
कपिल देव।कपिल देव।
मोहम्मद अजहरुद्दीन और रवि शास्त्री।मोहम्मद अजहरुद्दीन और रवि शास्त्री।
श्रीसंत और हरभजन सिंह।श्रीसंत और हरभजन सिंह।
सचिन तेंडुलकर और विनोद कांबली।सचिन तेंडुलकर और विनोद कांबली।
अंबाति रायुडू और हरभजन सिंह।अंबाति रायुडू और हरभजन सिंह।
शाहिद आफरीदी और जावेद मियांदाद।शाहिद आफरीदी और जावेद मियांदाद।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..