--Advertisement--

IND vs SA पहला टी-20 आज: विराट के पास इस फॉर्मेंट 2 हजार रन पूरे करने का मौका

विराट कोहली इस मैच में 44 रन बना लेते हैं तो इस फॉर्मेट में वे 2000 रन पूरा कर लेंगे।

Danik Bhaskar | Feb 18, 2018, 11:14 AM IST

जोहानिसबर्ग. वनडे सीरीज में शानदार जीत दर्ज करने वाली टीम इंडिया अब तीन मैचों की ट्वेंटी 20 सीरीज में दक्षिण अफ्रीका से मुकाबला करेगी। पहला मैच रविवार को शाम 6 बजे से खेला जाएगा। विराट की अगुआई में टीम इंडिया अगर यह सीरीज 3-0 से जीत लेती है तो वह दक्षिण अफ्रीका को उसे घर में टी-20 में सबसे ज्यादा बार हराने वाली दूसरी टीम बन जाएगी। उधर, अगर विराट कोहली इस मैच में 44 रन और बना लेते हैं तो वह इस फॉर्मेट में 2000 रन पूरा करने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर बन जाएंगे।

भारत ने साउथ अफ्रीका में 4 टी-20 खेले
- भारत ने अब तक दक्षिण अफ्रीका में उसके खिलाफ चार टी-20 मैच खेले हैं। इसमें उसे तीन में जीत मिली है। एक में दक्षिण अफ्रीका को कामयाबी मिली।
- अभी तक दक्षिण अफ्रीका को उसके घर में सबसे ज्यादा बार हराने का कारनामा ऑस्ट्रेलिया ने किया है। ऑस्ट्रेलिया ने अब तक दक्षिण अफ्रीका में 10 टी 20 मैचों में उसे पांच बार हराया है।

विराट बना सकते हैं एक और रिकॉर्ड
- विराट कोहली इस मैच में 44 रन बना लेते हैं तो इस फॉर्मेट में वे 2000 रन पूरा कर लेंगे। भारत का अब तक कोई भी बल्लेबाज यह कारनामा नहीं कर सका है।
- विराट का इस फॉर्मेट में 52.86 का एवरेज है। 500 से ज्यादा रन बनाने वाले बैट्समैन में वे इकलौते हैं जिनका औसत 50 से ज्यादा है।

भारत पर भारी पड़ सकती है साउथ अफ्रीका
- टी-20 के फॉर्मेट में साउथ अफ्रीका भारत पर भारी पड़ सकती है। इसकी वजह है कि उसके पास एबी डि विलियर्स, डेविड मिलर और क्रिस मॉरिस जैसे टी-20 के बेहतरीन खिलाड़ी हैं।
- हालांकि, यह तीनों वनडे सीरीज में पूरी तरह से कामयाब नहीं रहे थे। मिलर ने चौथे वनडे में जरूर कमाल दिखाया था। इन सभी के अलावा क्लासेन भी इस फॉर्मेट में भारत के लिए मुश्किल पैदा कर सकते हैं।

दोनों के बीच अब तक 10 T-20 खेले गए
- दोनों देशों के बीच अब तक 10 टी-20 मैच खेले गए हैं जिसमें 6 में भारत को जीत मिली जबकि 4 मैच अफ्रीका के नाम रहे। यानी कि भारत का जीत प्रतिशत 50 से ज्‍यादा है।
- चिंता की बात यह है कि पिछले 4 सालों से भारत अफ्रीकी टीम के खिलाफ टी-20 नहीं जीत पाया है।

टीमें :
भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, लोकेश राहुल, सुरेश रैना, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक, हार्दिक पंड्या, मनीष पांडे, अक्षर पटेल, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, जयदेव उनादकट, शार्दुल ठाकुर.

साउथ अफ्रीका: जे पी ड्यूमिनी (कप्तान), फरहान बेहार्डियन, जूनियर डाला, एबी डिविलियर्स, रेजा हेंड्रिक्स, किस्टियन जोंकर, हेनरिक क्लासेन (विकेटकीपर), डेविड मिलर, क्रिस मॉरिस, डेन पेटरसन, एरॉन फंगिसो, अंदिले फेहुलकवायो, तबरेज शम्सी, जोन-जोन सम्ट्स.