--Advertisement--

कुंबले का खुलासा, सिलेक्टर्स ने गलती से बनाया था उन्हें कप्तान

द्रविड़ के इस्तीफे के बाद सचिन नहीं लेना चाहते थे जिम्मेदारी, कुंबले ने संभाली कमान।

Dainik Bhaskar

Oct 16, 2014, 10:12 AM IST
anil kumble says he was made test team captain by mistake
पणजी. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज स्पिनर अनिल कुंबले ने अपनी कप्तानी को लेकर खुलासा किया है। कुंबले ने कहा कि वे गलती से टेस्ट कैप्टन बने थे। उस समय कोई टेस्ट कैप्टन नहीं बनना चाहता था, इसलिए मुझे बना दिया गया।

फिरकी गेंदबाज अनिल कुंबले को नवंबर 2007 में कैप्टन बनाया गया था और इसके बाद उन्होंने एक साल के लिए भारतीय टेस्ट टीम की अगुवाई की।
'कोई नहीं लेना चाहता था जिम्मेदारी'
गोवा की राजधानी पणजी में एक समारोह में शामिल होने आए कुंबले ने कहा, "मैं भारत के लिए 17 साल खेलने के बाद कैप्टन बना। मैं शायद कप्तान गलती से बना क्योंकि कोई और यह जिम्मेदारी नहीं लेना चाहता था। राहुल द्रविड़ ने कप्तानी छोड़ी ही थी और उस समय पर शायद धोनी को टेस्ट कप्तान बनाना थोड़ी जल्दबाजी कहलाता, सचिन तेंडुलकर भी टेस्ट कैप्टन नहीं बनना चाहते थे। शायद इसीलिए उन्हें लगा कि चलो अनिल ही एक खिलाड़ी है और उसे कैप्टन बना देते हैं।"
बदलाव के दौर में संभाली कुंबले ने कप्तानी
कुंबले ने अपने 18 साल के शानदार करियर में 132 टेस्ट में 619 विकेट और 271 वनडे में 337 विकेट चटकाए। जब कुंबले ने कप्तानी संभाली थी, तब भारतीय क्रिकेट बदलाव के दौर से गुजर रहा था। जंबो ने कहा, "मैं यह भी जानता था कि मैं अपने करियर के 17वें साल में था और मैं लंबे समय तक नहीं खेल पाऊंगा इसलिए वह बदलाव का दौर था। मुझे एक ऐसी टीम को संभालना पड़ा जिसमें कई पूर्व कप्तान और एक वनडे कप्तान शामिल था।"
आगे क्लिक कर पढ़िए, गलती से कप्तान बने कुंबले की सफलता के आंकड़े
anil kumble says he was made test team captain by mistake
कप्तानी में स्टार रहे अनिल कुंबले

अनिल कुंबले ने 2007 से 2008 के बीच 14 मैचों में टीम इंडिया की कमान संभाली, जिसमें से तीन में टीम को जीत मिली और 5 में हार। 6 मैच ड्रा रहे।

पाकिस्तान पर सीरीज जीत

कुंबले ने बतौर कप्तान पहली सीरीज पाकिस्तान के खिलाफ खेली। पाकिस्तानी टीम इंडिया टूर पर थी। दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में हुए पहले टेस्ट मुकाबले में मेजबान ने पाकिस्तान को 6 विकेट से पराजित किया। 

कप्तान कुंबले ने उस टेस्ट मुकाबले में 7 विकेट चटकाए थे। इस परफॉर्मेंस के लिए उन्हें 'प्लेयर ऑफ द मैच' अवार्ड भी मिला।

सीरीज के अगले दोनों मैच ड्रॉ पर खत्म हुए थे। 

ऑस्ट्रेलिया में दिलाई जीत

2008 के ऑस्ट्रेलिया टूर पर टीम इंडिया टेस्ट सीरीज 1-2 से हारी थी। टीम ने सीरीज जरूर गंवाई थी, लेकिन उसका प्रदर्शन काबिल-ए-तारीफ रहा। 

पहले दो मैचों में पराजय मिलने के बाद पर्थ से कहानी चेंज हुई। राहुल द्रविड़ और सचिन तेंडुलकर ने बेहतरीन बल्लेबाजी कर अपने दोस्त को मैच जीतने में मदद की। गेंदबाजी में इरफान पठान चमके और 'मैन ऑफ द मैच' रहे।

श्रीलंका में मिली तीसरी व अंतिम जीत

कुंबले की कप्तानी में टीम को तीसरी जीत श्रीलंका में मिली। 31 जुलाई 2008 को हुए गाले टेस्ट में इंडिया ने मेजबान को 170 रनों से रौंदा। हालांकि, ओवरऑल इंडिया का प्रदर्शन खराब रहा और सीरीज 1-2 से गंवानी पड़ी।
anil kumble says he was made test team captain by mistake
दिल्ली में मिली कुंबले को विदाई

कप्तानी संभालते हुए ही कुंबले क्रिकेट से संन्यास का मन बना चुके थे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज को अपना अंतिम मुकाबला घोषित कर दिया। सीरीज ड्रॉ रही। 

29 अक्टूबर 2008 को दिल्ली में कुंबले ने करियर का आखिरी मैच खेला। उस मैच के कुछ खास आंकड़े इस प्रकार से रहे -

* गौतम गंभीर ने खेली 206 रन की पारी।

* वीवीएस लक्ष्मण ने भी लगाई डबल सेंचुरी। वे 200 रन बनाकर नाबाद रहे। दूसरी पारी में भी उन्होंने नाबाद 59 रन बनाए। वे मैन ऑफ द मैच रहे।

* वीरेंद्र सहवाग ने गेंद से कमाल दिखाते हुए पहली पारी में 5 विकेट चटकाए।

* करियर के अंतिम मैच में अनिल कुंबले ने 126 रन के खर्च पर तीन विकेट झटके, जिसमें कोई टॉप ऑर्डर बल्लेबाज शामिल नहीं था।
X
anil kumble says he was made test team captain by mistake
anil kumble says he was made test team captain by mistake
anil kumble says he was made test team captain by mistake
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..