पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तो ये है चेन्‍नई में टीम इंडिया के जीत का राज!

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

खेल डेस्‍क. भारत ने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की टेस्‍ट सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। इस जीत में धोनी के दोहरे शतक और विराट कोहली के शतक का योगदान तो था ही, कुछ अन्‍य वजहें भी रहीं जिनके चलते टीम इंडिया कोपहले मैच में जीत का स्‍वाद मिला। अमूमन स्पिनरों की मददगार पिच पर टेस्ट मैच तीसरे या चौथे दिन समाप्त हो जाता है। लेकिन भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए पहले टेस्ट में ऐसा नहीं हुआ। पिच से स्पिनरों को खूब मदद मिली। इस पर भारतीय बल्लेबाजों ने जमकर रन भी बटोरे। मैच पांचवें दिन तक खिंचा और टीम इंडिया ने शानदार जीत दर्ज की। आखिर क्या था इस पिच का राज? जिसने इसे टीम इंडिया के मनमाफिक भी बनवाया। साथ ही विदेशी क्रिकेट पंडित इसकी आलोचना भी नहीं कर पाए? इस सवाल का जवाब छुपा है पानी में।

सलेक्टिव वाटरिंग ने किया काम

एम. चिदंबरम स्टेडियम के पिच क्यूरेटर के. पार्थसारथी ने बताया कि सलेक्टिव वाटरिंग यानी पिच के चुनिंदा इलाकों में पानी डालने और शेष क्षेत्र को सूखा रखने से बात बन गई। पार्थसारथी ने कहा कि उन्होंने पिच के दोनों छोर बाहरी इलाकों को ड्राय रखा। स्पिनर अक्सर इसी क्षेत्र में गेंद डालकर टर्न कराते हैं। सूखी होने से पिच के ये हिस्से जल्दी टूट गए और स्पिनरों ने कहर बरपा दिया। वहीं, पिच के बीच के इलाके (स्टंप लाइन) पर मैच से पहले लगातार वाटरिंग की गई। तेज गेंदबाज आम तौर पर स्टंप लाइन में ही गेंद को टप्पा खिलाते हैं। नियमित पानी डालने से स्टंप लाइन का हिस्सा नहीं टूटा और तेज गेंदबाजों को मदद नहीं मिली।

1998 में भी अपनाई थी यह तकनीक : 1998 में जब ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत दौरे पर आई, तब भी पार्थसारथी ने चिदंबरम स्टेडियम में इसी तकनीक से पिच तैयार की थी। तब ऑस्ट्रेलियाई टीम में दिग्गज लेग स्पिनर शेन वार्न भी थे। इसको ध्यान में रखते हुए पिच के दोनों छोर पर लेग साइड के इलाके में नियमित वाटरिंग की गई। इस वजह से वार्न को पिच से मदद नहीं मिली और भारतीय टीम ने 179 रन से जीत दर्ज की।

पार्थसारथी ने बताया कि उस मैच के बाद शेन वार्न उनके पास आए। वार्न ने पूछा कि उनकी गेंदों को टर्न क्यों नहीं मिल रहा था। तब पार्थसारथी ने कहा था कि आपका कंधा चोटिल है शायद इसलिए आप टर्न नहीं करा पा रहे थे।

Ind vs Aus: दूसरे टेस्ट में धोनी के सामने होंगे ये 4 खतरे

सचिन का पहला वर्ल्ड रिकॉर्ड हुआ 'खाक'!

टीमइंडियामेंसस्‍पेंस: टेंशनमेंहरभजन, कंगारूअलर्ट!

सचिनवापसीकरविदाईमैचखेलें: ब्लाइंडबैंड

सौवेंटेस्‍टसेपहलेभज्जीनेखेला'माइंडगेम', कंगारूनेभीदियाकराराजवाब

'पागल' प्रवीणकुमारसस्‍पेंड

कलमाड़ीनेशिल्पाशेट्टीकोदिलवाए 72 लाखरुपये!

नीतानेलगाई5.30 करोड़कीबोली, जीरोपरआउटहुएमैक्‍सवेल

सचिनकाबेटाहोनाअर्जुनतेंडुलकरकोपड़ेगाभारी?

बीसीसीआई प्रेसिडेंट की कंपनी में वाइसप्रेसिडेंटबने धोनी

RECORD: कप्तानीकाशतकलगाएंगेस्मिथ, गांगुलीकोपीछेछोड़ेंगेधोनी

28 फरवरी की अन्य महत्वपूर्ण खबरें-