Hindi News »Sports »IPL 2018 »Latest News» Kidambi Srikanth Ready For Truth Glasgow Dream At Gold Coast Commonwealth Games

ग्लासगो का सपना गोल्ड कोस्ट में सच करने को तैयार किदांबी श्रीकांत

ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स से दिमागी बुखार के कारण पहले आईसीयू में थे

DainikBhaskar.com | Last Modified - Mar 23, 2018, 04:59 PM IST

स्पोर्ट्स डेस्क. किदांबी श्रीकांत ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप में भले ही प्री-क्वार्टर फाइनल तक का ही सफर तय कर पाएं हों, लेकिन अगले महीने होने वाले गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने का सपना सच करने को तैयार हैं। श्रीकांत ने तो 2014 ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में ही देश को गोल्ड दिलाने का सपना देखा था, लेकिन तब दिमागी बुखार ने उनकी यह ख्वाहिश को पूरा नहीं होने दी।


2014 ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले आईसीयू में थे
ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स शुरू होने के कुछ हफ्ते पहले की बात है। श्रीकांत गोपीचंद एकेडमी में अपनी तैयारी में व्यस्त थे। अचानक एक दिन वह एकेडमी के बाथरूम में बेहोश हो गए। डॉक्टर के पास ले जाने पर पता चला कि उन्हें दिमागी बुखार है। एक हफ्ते तक वह इंटेंसिव केयर यूनिट (आईसीयू) में रहे। बाद में कोर्ट पर वापसी की, लेकिन तुरंत पुरानी लय में नहीं लौट सके। यही वजह रही है कि ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में वह क्वार्टर फाइनल तक का ही सफर तय कर सके।

फॉर्मवापसी में लगे दो साल

दिमागी बुखार से ठीक होने के बाद श्रीकांत को फॉर्म वापसी के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। उन्हें करीब दो साल लग गए। 2016 में उन्होंने अपने प्रदर्शन से दिखाया कि वह दुनिया के किसी भी शटलर को हरा सकते हैं। श्रीकांत की इस समय वर्ल्ड में तीन रैंकिंग है।

2017 में जीतीं चारों सुपरसीरीज
श्रीकांत ने 2017 में चारों सुपरसीरीज जीतीं। ऐसा करने वाले वह पहले भारतीय बने। 2017 में उन्होंने इंडोनेशिया ओपन, ऑस्ट्रेलिया ओपन, डेनमार्क ओपन और फ्रेंच ओपन के खिताब जीते। सिंगापुर ओपन में रनर रहे। 2016 में सैयद मोदी इंटरनेशनल टूर्नामेंट के चैंपयिन बने।

पिछले साल के प्रदर्शन से आत्मविश्वास बढ़ा : श्रीकांत
श्रीकांत को लगता है कि पिछले एक साल में उन्होंने जो अनुभव मिला है, उससे उनका आत्मविश्वास काफी बढ़ा है। कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतना मेरा सपना है। आने वाले दिनों में मैं निश्चित रूप से इसे सच साबित करना चाहूंगा।

कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड (सिंगल्स) जीतने वाले शटलर

खिलाड़ीसालजगह
प्रकाश पादुकोण1978एडमोंटन
सैयद मोदी1982ब्रिसबेन
पारुपल्ली कश्यप2014ग्लासगो
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Latest News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×